अब्दुल्ला ने कहा, मेरे दरवाजे पर एक बड़ा ताला लगा हुआ है

अब्दुल्ला ने कहा, मेरे दरवाजे पर एक बड़ा ताला लगा हुआ है

नेशनल कॉन्फ्रेंस के नेता फारूक अब्दुल्ला ने मंगलवार को बोला कि मुझे मेरे घर में नजरबंद करके रखा गया था. मुझे यह देखकर दुख हुआ कि गृह मंत्री इस तरह से झूठ भी बोल सकते हैं. दरअसल, गृह मंत्री अमित शाह ने संसद में बोला था कि अब्दुल्ला को ननजरबंद किया गया व न ही गिरफ्तार.

Image result for अब्दुल्ला

अब्दुल्ला ने कहा- मेरे दरवाजे पर एक बड़ा ताला लगा हुआ है. गृह मंत्री ने मुझे बताया कि मुझे नजरबंद नहीं किया गया है. फिर आप कौन हैं, जो मुझे बंदी बना रहे हैं?जब मेरा प्रदेश जल रहा हो व मेरे लोगों को कारागार में डाला जा रहा हो, ऐसे समय में मैं क्यों भला अपनी मर्जी से घर में रहना चाहूंगा. यह वह हिंदुस्तान नहीं है, जिस पर हम विश्वास करते हैं.

शाह ने कहा- फारूकमौज-मस्ती में हैं

जम्मू-कश्मीर बिल पर चर्चा प्रारम्भ होने के कुछ समय पहले ही राष्ट्रवादी कांग्रेस (राकांपा) की नेता सुप्रिया सुले ने फारूक की गैर-मौजूदगी को लेकर सवाल उठाया था. इस परशाह ने कहा, ‘‘मैं यह साफ कर देना चाहता हूं कि फारूक अब्दुल्ला जी अपने घर पर हैं. उन्हें नजरबंद नहीं किया गया व न ही हिरासत में लिया गया. उनका स्वास्थ्य भी अच्छा है. वे मौजमस्ती में हैं. उनको नहीं आना है, तो हम कनपटी पर बंदूक रखकर बाहर नहीं ला सकते.’’

नजरबंद नेता कब रिहा होंगे, कोई सूचना नहीं

संसद में चर्चा के दौरान विपक्ष ने सरकार के सामने सवाल उठाया था कि क्या जम्मू और कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाने से पहले लोकल नेताओं को विश्वास में लिया गया था? पूर्व सीएममहबूबा मुफ्ती व उमर अब्दुल्ला को उनके घर में नजरबंद कर दिया गया था. सोमवार को उन्हें हिरासत में लिए जाने को लेकर सूचना दी गई थी. सरकार की ओर से कोई बयान नहीं दिया गया है कि उन्हें कब रिहा किया जाएगा.