विश्व कप में अपनी पहली जीत दर्ज करने पर टिकी रहेंगी दक्षिण अफ्रीका और अफगानिस्तान की टीमें निगाहें

विश्व कप में अपनी पहली जीत दर्ज करने पर टिकी रहेंगी दक्षिण अफ्रीका और अफगानिस्तान की टीमें निगाहें

दक्षिण अफ्रीका और अफगानिस्तान की टीमें शनिवार को जब यहां आमने-सामने होंगी तो उनकी निगाह विश्व कप में अपनी पहली जीत दर्ज करने पर टिकी रहेंगी। अंकतालिका में सबसे निचले स्थान पर काबिज ये दोनों टीमें जानती हैं कि इस विश्व कप में पहली जीत हासिल करने का यह उनकेपास सर्वश्रेष्ठ मौका है।यह संभवत: पहला अवसर होगा जबकि दक्षिण अफ्रीका शुरू से ही सेमीफाइनल में पहुंचने के दावेदारों में शामिल नहीं है लेकिन उसकी टीम चार मैचों में जीत दर्ज नहीं कर पाएगी ऐसी किसी को उम्मीद नहीं रही होगी।

Image result for अफगानिस्तान बनाम दक्षिण अफ्रीका

इंग्लैंड, बांग्लादेश और भारत के हाथों लगातार तीन हार के बाद वेस्ट इंडीज के खिलाफ उसका चौथा मैच बारिश के कारण रद्द कर दिया गया था। अफगानिस्तान की स्थिति भी कमोवेश ऐसी ही है। उसे मौजूदा चैंपियन ऑस्ट्रेलिया, श्रीलंका और न्यूजीलैंड से हार का सामना करना पड़ा। उसके खिलाड़ी इससे प्रेरणा ले सकते हैं कि उन्होंने श्रीलंका को कड़ी चुनौती दी थी।

अफगानिस्तान इस मैच में अपने लिए मौके तलाशेगा तो दक्षिण अफ्रीका अपनी ख्याति के अनुरूप प्रदर्शन करने के लिए अधिक बेताब होगा। दक्षिण अफ्रीका की बल्लेबाजी उसका कमजोर पक्ष है। इसके अलावा कुछ खिलाड़ियों के चोटिल होने से उसकी परेशानी बढ़ी है। उसके बल्लेबाज रन बनाने के लिए जूझ रहे हैं। यहां तक कि वेस्ट इंडीज के खिलाफ बारिश के कारण रद्द कर दिए गए मैच में 7.3 ओवर के खेल में उसने 29 रन के अंदर दो विकेट गंवा दिए थे।

अनुभवी हाशिम अमला खराब फॉर्म में चल रहे हैं। ऐसे में कप्तान फाफ डु प्लेसिस और क्विंटन डि कॉक की जिम्मेदारी बढ़ जाती है। इन दोनों को अफगानिस्तान के खिलाफ अपना सर्वश्रेष्ठ खेल खेलना होगा। अफगानिस्तान के लिए भी बल्लेबाजी चिंता का विषय है।

मोहम्मद शहजाद चोटिल होने के कारण स्वदेश लौट गए हैं। उसके बल्लेबाजों के लिए कैगिसो रबादा और इमरान ताहिर जैसे गेंदबाजों का सामना करना मुश्किल होगा। अपने प्रतिद्वंद्वी की तरह अफगानिस्तान भी अपनी गेंदबाजी पर निर्भर है जिसकी अगुआई लेग स्पिनर राशिद खान करेंगे।