तुलसी के पत्तों से ऐसे खुल सकते हैं आपकी किस्मत के बंद दरवाज़े

तुलसी के पत्तों से ऐसे खुल सकते हैं आपकी किस्मत के बंद दरवाज़े

लगभग हर हिंदू घर में तुलसी का पौधा पाया जाता है। तुलसी के पत्ते का इस्तेमाल न सिर्फ पूजा-पाठ के लिए किया जाता है बल्कि यह कई प्रकार की बीमारियों को भी दूर भगाने में समर्थ होता है। शुभ कार्य के दौरान लोग तुलसी के पत्तों का इस्तेमाल करते हैं। पूजा-पाठ और स्वास्थ्य के अलावा भी तुलसी के पत्तों का बहुत महत्व होता है। घर में चल रही परेशानियों से तुलसी के कुछ पत्ते आपको छुटकारा दिला सकते हैं।

इन परेशानियों से छुटकारा दिला सकते हैं तुलसी के 5 पत्ते:

घर में कलेश :

घर में कलेश होने पर भी तुलसी का पत्ता बेहद काम आता है। जिन पति-पत्नी या कपल्स की आपस में नहीं बनती और छोटी-छोटी बात पर लड़ाई होती रहती है। उन्हें तुलसी के केवल 5 पत्ते हमेशा अपने पास रखने चाहिए। 

मन की मुराद पूरी :

यदि आप अपने मन की कोई मुराद पूरी करना चाहते हैं तो तुलसी के 5 पत्ते को एक लाल कागज़ में लपेटकर अपने पूजा घर में रख दें और डेली इसकी पूजा करें। कुछ ही दिनों में आपको फर्क दिखेगा। पैसों से जुड़ी दिक्कतें भी दूर होने लगेंगी।

नकरात्मक शक्ति का प्रभाव :

यदि आपको लग रहा है कि आपके घर में किसी नकरात्मक शक्ति का प्रभाव है तो आपको सिर्फ सोते वक़्त अपने तकिये के नीचे तुलसी के 5 पत्ते रखने हैं। ऐसा करने पर मौजूद नकरात्मक शक्तियां वहां से चली जाती हैं।


आप सोच भी नहीं सकते यह है दुनिया का सबसे महंगा शहर, जानिए भारत कौन से लिस्ट में शामिल

आप सोच भी नहीं सकते यह है दुनिया का सबसे महंगा शहर, जानिए भारत कौन से लिस्ट में शामिल

इजराइल का तेल अवीव शहर दुनिया का सबसे महंगा शहर हो गया है।इकोनॉमिस्ट इंटेलिजेंस यूनिट (EIU) की रैंकिंग के हिसाब से तेल अवीव का बाकी की दुनिया के तुलना में रहने वाले की लागत बहुत अधिक है। बता दें कि तेल अवीव पांच पायदान ऊपर पहुंच कर टॉप पर रैंक कर रहा है। 173 शहरों के कॉस्ट ऑफ लिविंग इंडेक्स के आधार पर इसकी रैंकिंग की गई है।

यह है सबसे सस्ते शहर 

इस रैंकिंग में सीरीया की राजधानी  दमिश्क दुनिया का सबसे सस्ता शहर बताया गया है वहीं सीरीया के बाद लीबिया का ट्राइपोलि, उज्बेकिस्तान का ताशकंद, ट्यूनीशिया का टुनिस, कजाकिस्तान का अल्माटी, पाकिस्तान का कराची, भारत का अहमदाबाद, अल्जीरिया का अल्जीयर्स, अर्जेंटीना का ब्यूनस आयर्स, और जाम्बिया का लुसाका शहर सबसे सस्ते शहरों की लिस्ट में शामिल किए गए है। 

यहां जानिए महंगे शहर के लिस्ट 

आपको बता दें कि इजराइल का शहर तेल अवीव को यह उपाधि उसके डॉलर के मुकाबले राष्ट्रीय मुद्रा, शेकेल जोकि यहूदियों का एक प्राचीन सिक्का है , परिवहन और घरेलू सामान की कीमतों में वृद्धि को देखते हुए दिया गया है। तेल अवीव के बाद पेरिस और सिंगापुर दूसरे और तीसरे स्थान पर हैं। इसके बाद महंगे शहरों में ज्यूरिख, हांगकांग, न्यूयॉर्क और जिनेवा शामिल है। बात करें 1 से 10 तक की रैंकिंग में आठवें स्थान पर सबसे महंगे शहरों में कोपेनहेगन, नौवें पर लॉस एंजिल्स और 10वें स्थान पर जापान का ओसाका शहर शमिल है। पिछले साल पेरिस, ज्यूरिख और हांगकांग पहले नंबर में रैंक कर रहा था। जानकारी के लिए बता दें कि, रैकिंग का यह डेटा अगस्त और सितंबर से लिया गया है। इन महीनों में दैनिक वस्तुओं की कीमतों ममें सबसे ज्यादा बढ़ोतरी देखी गई थी।