शेयर ट्रेडिंग को अकसर ब्रोकरेज हाउसेज की विशेषज्ञता के तौर पर देखा जाता, पढ़े

शेयर ट्रेडिंग को अकसर ब्रोकरेज हाउसेज की विशेषज्ञता के तौर पर देखा जाता, पढ़े

पैसा कमाना ऐसा मुद्दा है जिसको लेकर किसी के बारे में यह नहीं बोला जा सकता है कि अब बहुत देर हो चुकी है. जहां तक गृहिणियों की बात है तो उनके पास एडवांटेज है.

गृहिणियों के पास फुल टाइम नौकरी करने वालों की तुलना में सीखने के लिए ज्यादा समय होता है. अगर इस फ्री-टाइम में महिलाएं शेयर ट्रेडिंग सीखें तो अपने लिए पैसे कमाने का मौका पैदा कर सकती हैं. एडिटर इंडिया , फोर्ब्स एडवाइजर आशिका जैन बता रही हैं हाउस वाइफ को इस कार्य में कैसे मिल सकती है सफलता :


1. शेयर ट्रेडिंग को अकसर ब्रोकरेज हाउसेज की विशेषज्ञता के तौर पर देखा जाता है. व्यक्तिगत स्तर पर शेयर मार्केट में ट्रेडिंग को बहुत ज्यादा मुश्किल माना जाता है. लेकिन, जिनकी गणित में रुचि है व जिन्हें नंबर के साथ इस्तेमाल करना पसंद है, उनके लिए शेयर ट्रेडिंग गेम चेंजर साबित हो सकती है.

2. माना जाता है कि स्त्रियों का भावनात्मक पक्ष पुरुषों से बेहतर होता है. अगर इस मजबूत पक्ष को बुद्धिमता से जोड़ा जाए तो स्टॉक ट्रेडिंग में अच्छी सफलता हासिल की जा सकती है. कई ऐसे एप उपस्थित हैं जिनकी मदद से महिलाएं ट्रेडिंग की आरंभ कर सकती हैं.

3. किसी भी ब्रोकरेज हाउस के एप के जरिए मोबाइल फोन का प्रयोग करते हुए ट्रेडिंग का कार्य किया जा सकता है. हालांकि, यह समझना जरूरी होगा कि स्टॉक बाजार ट्रेडिंग का मतलब सिर्फ लाभ नहीं होता है. अगर आपका दांव उम्मीद के मुताबिक नहीं रहा तो पूरी आसार है कि नुकसान हो जाए.

4. ट्रेडिंग प्रारम्भ करने से पहले शेयर बाजार से जुड़े जोखिम को समझना होगा. तब क्या इस पर समय व ऊर्जा खर्च करना लाभकारी है? इसका उत्तर है हां. अगर आपके पास विश्लेषण करने लायक दिमाग है व आप यह समझ सकती हैं कि कोई खबर दुनियाभर के राष्ट्रों व अर्थव्यवस्थाओं पर कैसे प्रभाव डालतl है तो स्टॉक ट्रेडिंग के जरिए निश्चित रूप से पैसे कमाए जा सकते हैं.

5. इस कार्य की सबसे रोचक बात यह है कि आप सिर्फ कंपनियों के स्टॉक में ट्रेड करने तक सीमित नहीं रहेंगी. आप तेल, गोल्ड जैसी कमोडिटी में भी ट्रेडिंग कर सकती हैं. इसके अतिरिक्त फ्यूचर ट्रेडिंग का विकल्प भी खुला है.

6. अगर आप ट्रेडिंग करना चाहती हैं तो ट्रेनिंग लेना बेहतर हाेगा. कई एकेडमी इसका फॉर्मल कोर्स ऑफर करती हैं. वहीं, कई संस्थान औनलाइन लर्निंग की सुविधा देते हैं. बीएसई-एनएसई के कोर्स भी किए जा सकते हैं. अगर आपपैसे खर्च नहीं करना चाहती हैं तो यूट्यूब पर भी इससे जुड़ी जानकारी जुटा सकती हैं.