अगर सपने में दिख जाए नोट तो समझ लें खुल गए किस्मत के ताले

अगर सपने में दिख जाए नोट तो समझ लें खुल गए किस्मत के ताले

सपने देखने से हमें ऊंचाइयों की पहचान होती है। हर संपना इंसान से किसी न किसी तरह से जु़ड़ा होता है जो भी सपना हम देखते हैं वह इंसान के जीवन को किसी न किसी तरह से प्रभावित करने वाला होता है ऐसे ही आज हम आपको सपने में धन देखने सम्बिधत जानकारी बताने जा रहे हैं। अगर आप अपने सपने में धन देखते हैं तो यह भविष्य में होने वाली किसी अच्छी घटना का संकेत होता है। 

क्या होते है संकेत:

# सपने में पैसा देखना व्यक्ति को किसी बड़े धन लाभ का संकेतक होता है। इसलिए सपने में यदि आप ऐसा देखते हैं तो इसका अर्थ है कि कहीं से भी आपको बहुत सारा पैसा मिलने वाला है।

# सपना इस बात का पूर्व संकेत देता है कि आपको बिना मेहनत बहुत सारे पैसे मिलने वाले हैं। लेकिन अगर आप सपने में सिक्का देखते हैं तो यह दरिद्रता का सूचक है।

#  इसके अलावे सपने में कागज का नोट देखना साक्षात् लक्ष्मी के आने की सूचना देता है।

# सपने में नोट देखना एक बहुत ही शुभ संकेत माना जाता है। ज्योतिषों के अनुसार ऐसा सपना धन लाभ की ओर संकेत करता है। 

# सपने में कागज के नोट देखना आने वाले समय में बिना मेहनत किए कहीं से धन प्राप्ति की तरफ संकेत देता है।


आप सोच भी नहीं सकते यह है दुनिया का सबसे महंगा शहर, जानिए भारत कौन से लिस्ट में शामिल

आप सोच भी नहीं सकते यह है दुनिया का सबसे महंगा शहर, जानिए भारत कौन से लिस्ट में शामिल

इजराइल का तेल अवीव शहर दुनिया का सबसे महंगा शहर हो गया है।इकोनॉमिस्ट इंटेलिजेंस यूनिट (EIU) की रैंकिंग के हिसाब से तेल अवीव का बाकी की दुनिया के तुलना में रहने वाले की लागत बहुत अधिक है। बता दें कि तेल अवीव पांच पायदान ऊपर पहुंच कर टॉप पर रैंक कर रहा है। 173 शहरों के कॉस्ट ऑफ लिविंग इंडेक्स के आधार पर इसकी रैंकिंग की गई है।

यह है सबसे सस्ते शहर 

इस रैंकिंग में सीरीया की राजधानी  दमिश्क दुनिया का सबसे सस्ता शहर बताया गया है वहीं सीरीया के बाद लीबिया का ट्राइपोलि, उज्बेकिस्तान का ताशकंद, ट्यूनीशिया का टुनिस, कजाकिस्तान का अल्माटी, पाकिस्तान का कराची, भारत का अहमदाबाद, अल्जीरिया का अल्जीयर्स, अर्जेंटीना का ब्यूनस आयर्स, और जाम्बिया का लुसाका शहर सबसे सस्ते शहरों की लिस्ट में शामिल किए गए है। 

यहां जानिए महंगे शहर के लिस्ट 

आपको बता दें कि इजराइल का शहर तेल अवीव को यह उपाधि उसके डॉलर के मुकाबले राष्ट्रीय मुद्रा, शेकेल जोकि यहूदियों का एक प्राचीन सिक्का है , परिवहन और घरेलू सामान की कीमतों में वृद्धि को देखते हुए दिया गया है। तेल अवीव के बाद पेरिस और सिंगापुर दूसरे और तीसरे स्थान पर हैं। इसके बाद महंगे शहरों में ज्यूरिख, हांगकांग, न्यूयॉर्क और जिनेवा शामिल है। बात करें 1 से 10 तक की रैंकिंग में आठवें स्थान पर सबसे महंगे शहरों में कोपेनहेगन, नौवें पर लॉस एंजिल्स और 10वें स्थान पर जापान का ओसाका शहर शमिल है। पिछले साल पेरिस, ज्यूरिख और हांगकांग पहले नंबर में रैंक कर रहा था। जानकारी के लिए बता दें कि, रैकिंग का यह डेटा अगस्त और सितंबर से लिया गया है। इन महीनों में दैनिक वस्तुओं की कीमतों ममें सबसे ज्यादा बढ़ोतरी देखी गई थी।