मां बनने के बाद स्तन में दूध की कमी को कैसे करे दूर, पढ़े

मां बनने के बाद स्तन में दूध की कमी को कैसे करे दूर, पढ़े

बच्चे के जन्म के बाद उसके शारीरिक विकास के लिए मां का दूध अमृत के समान होता है। मां के दूध में वो सभी पोषक तत्व होते हैं, जो एक नवजात के लिए शारीरिक विकास के लिए महत्वपूर्ण होते हैं।

 कई बार कुछ बच्चों को मां का दूध उपलब्ध नहीं हो पाता है। जब मां का ही शरीर निर्बल हो व वह दुर्बलता महसूस करती हो तो ऐसे में नवजात बच्चे के लिए पोषक तत्व उपलब्ध हो पाना कठिन होने कि सम्भावना है। ऐसे में मां का दूध बढ़ाने के लिए कुछ ऐसे आहार हैं, जो बच्चे और खुद मां की स्वास्थ्य के लिए हितकारी हो सकते हैं। आइए इस खास खान-पान के बारे में जानते हैं

शतावरी है बड़े कार्य की औषधि

मां बनने के बाद स्तन में दूध की कमी की शिकायत कई स्त्रियों में होती है। ऐसी स्थिति में महिलाएं 10 ग्राम शतावरी के जड़ का चूर्ण दूध के साथ सेवन करें तो इससे बहुत ज्यादा लाभ होता है। इसके अतिरिक्त गर्भवती स्त्रियों के लिए भी शतावरी फायदेमंद सिद्ध होती है। गर्भवती महिलाएं शतावरी, सोंठ, मुलैठी तथा भृंगराज को समान मात्रा में लें व इनका चूर्ण बना लें। इसे 1-2 ग्राम की मात्रा में लेकर बकरी के दूध के साथ पीएं। इससे गर्भस्थ शिशु स्वस्थ रहता है। ब्राउन राइस से मिलते हैं पोषक तत्व



myUpchar से जुड़े डाक्टर विशाल मकवाना बताते हैं कि ब्राउन राइस का सेवन करने से स्त्रियों में दूध की कमी पूरी हीती है। इससे नवजात बच्चों को लाभ मिलता है। एक शोध के मुताबिक, स्तनपान कराने वाली स्त्रियों के लिए ब्राउन शुगर बहुत ज्यादा स्वास्थ्य वर्धक होता है। ब्रेस्ट मिल्क बढ़ने के साथ-साथ इससे पोषक तत्वों की भी पूर्ति होती है।

ये घरेलू आहार भी स्तनपान के लिए जरूर खाएं


  • ओटमील से भरपूर ऊर्जा मिलती है। इसमें फाइबर भरपूर मात्रा में होता। साथ ही यह पाचन अच्छा रखने में मदद करता है। प्रतिदिन प्रातः काल नाश्ते में एक बाउल ओटमील खाने से दूध में बढ़ोतरी होती है।

  • स्तनपान कराने वाली स्त्रियों को रोज सौंफ का भी सेवन करना चाहिए। दूध के कम होने पर सौंफ का सेवन करना लाभकारी होने कि सम्भावना है। आप चाहें तो सौंफ वाली चाय भी पी सकती हैं।

  • मेथी दाने का सेवन करने से भी ब्रेस्ट मिल्क में बढ़ोतरी होती है। अंकुरित किए हुए मेथी दाने से ज्यादा लाभ होता है। स्वाद में ये थोड़ी कड़वी लग सकती है, लेकिन इससे ब्रेस्ट मिल्क बढ़ाने में मदद मिलती है।

  • कच्चा पपीता खाने से ब्रेस्ट मिल्क में बढ़ोतरी होती है। इसके सेवन से शरीर में ऑक्सिटॉसिन का उत्पादन बढ़ता है, जो ब्रेस्ट मिल्क बढ़ाने में मदद करता है।

  • लहसुन भी ब्रेस्ट मिल्क के उत्सर्जन में प्रेरक का कार्य करता है। एक रिसर्च के मुताबिक जिन स्त्रियों ने ज्यादा लहसुन खाया है, उनके शिशुओं ने ज्यादा देर तक स्तनपान किया है।

  • myUpchar से जुड़े डाक्टर विशाल मकवाना के अनुसार, काले तिल के बीज और गाजर खाना भी लाभकारी होता है। काले तिल में प्रचुर मात्रा में कैल्शियम पाया जाता है, जो ब्रेस्ट मिल्क बढ़ाने में मदद कर सकता है। वहीं एक गिलास गाजर का जूस पीने से भी बहुत ज्यादा लाभ होता है। गाजर में विटामिन-ए, एल्फा व बीटा-कैरोटीन होता है।