घर में फैला वास्तुदोष भी देता क़र्ज़ को बढ़ावा, कैसे दूर करें

घर में फैला वास्तुदोष भी देता क़र्ज़ को बढ़ावा, कैसे दूर करें

कुछ लोग मेहनत तो खूब करते हैं लेकिन पैसा उस मेहनत के अनुसार कमा नहीं पाते जिंदगी में ऐसे कई उत्तर चढ़ाव आते है जिसमे उलझकर व्यक्ति अपने घुटने टेक देता है। उन परिस्थितियों से निकलने के लिए वह कर्ज का सहारा लेता है और उस कर्ज में इतना डूब जाता है की उसमे से निकल पाना मुश्किल हो जाता है।

ये वास्तुदोष हो सकते है कर्जे के कारण:

# सीधी दीवार : घर बनवाते समय इस बात का खास ध्यान रखे की उत्तर व दक्षिण की दीवार बिलकुल सीधी हो किसी भी प्रकार से वह दीवार टेडी मेडी न बने। घर के सभी कोने एक सामान होना चाहिए। 

# दर्पण का होना : वास्तु दोष से बचने के लिए घर के दक्षिण और पश्चिम की और कभी भी दर्पण नहीं लगाना चाहिए। यह वास्तु दोष का कारण बन सकता है।

# ढलान : घर का उत्तर-पूर्व भाग का ताल ज्यादा ढलान में होना चाहिए। उत्तर-पूर्व भाग जितना गहरा और जितना ढलान में रहेगा घर में उतनी अधिक सम्पति आएगी।

# टैंक, कुआं या नल : घर के दक्षिण दिशा में कभी भी नल, कुआ, हेण्डपम्प, या अन्य कोई जल स्तोत नहीं होना चाहिए। जिस घर्म में ऐसा होता है उस घर में दरिद्रता का वास होता है।

# भारी वस्तु : घर की उत्तर दिशा एवं पूर्व दिशा में कभी भी भारी वस्तुए को न रखे।ऐसा करने से व्यक्ति कर्ज में और भी डूबता जाता है।

# टॉयलेट न होना : घर के दक्षिण व पश्चिम भाग में कभी भी टॉयलेट नहीं बनवाना चाहिए। ऐसा करने से व्यक्ति और भी कर्जा लेना पड़ता है।

# पहली किश्त : किसी भी तरह से लिया गया कर्ज की पहली किश्त आप मंगलवार को जमा करे ऐसा माना जाता है की मंगलवार को पहली किश्त जमा करने से कर्ज जल्द से जल्द ख़त्म हो जाता है।


आप सोच भी नहीं सकते यह है दुनिया का सबसे महंगा शहर, जानिए भारत कौन से लिस्ट में शामिल

आप सोच भी नहीं सकते यह है दुनिया का सबसे महंगा शहर, जानिए भारत कौन से लिस्ट में शामिल

इजराइल का तेल अवीव शहर दुनिया का सबसे महंगा शहर हो गया है।इकोनॉमिस्ट इंटेलिजेंस यूनिट (EIU) की रैंकिंग के हिसाब से तेल अवीव का बाकी की दुनिया के तुलना में रहने वाले की लागत बहुत अधिक है। बता दें कि तेल अवीव पांच पायदान ऊपर पहुंच कर टॉप पर रैंक कर रहा है। 173 शहरों के कॉस्ट ऑफ लिविंग इंडेक्स के आधार पर इसकी रैंकिंग की गई है।

यह है सबसे सस्ते शहर 

इस रैंकिंग में सीरीया की राजधानी  दमिश्क दुनिया का सबसे सस्ता शहर बताया गया है वहीं सीरीया के बाद लीबिया का ट्राइपोलि, उज्बेकिस्तान का ताशकंद, ट्यूनीशिया का टुनिस, कजाकिस्तान का अल्माटी, पाकिस्तान का कराची, भारत का अहमदाबाद, अल्जीरिया का अल्जीयर्स, अर्जेंटीना का ब्यूनस आयर्स, और जाम्बिया का लुसाका शहर सबसे सस्ते शहरों की लिस्ट में शामिल किए गए है। 

यहां जानिए महंगे शहर के लिस्ट 

आपको बता दें कि इजराइल का शहर तेल अवीव को यह उपाधि उसके डॉलर के मुकाबले राष्ट्रीय मुद्रा, शेकेल जोकि यहूदियों का एक प्राचीन सिक्का है , परिवहन और घरेलू सामान की कीमतों में वृद्धि को देखते हुए दिया गया है। तेल अवीव के बाद पेरिस और सिंगापुर दूसरे और तीसरे स्थान पर हैं। इसके बाद महंगे शहरों में ज्यूरिख, हांगकांग, न्यूयॉर्क और जिनेवा शामिल है। बात करें 1 से 10 तक की रैंकिंग में आठवें स्थान पर सबसे महंगे शहरों में कोपेनहेगन, नौवें पर लॉस एंजिल्स और 10वें स्थान पर जापान का ओसाका शहर शमिल है। पिछले साल पेरिस, ज्यूरिख और हांगकांग पहले नंबर में रैंक कर रहा था। जानकारी के लिए बता दें कि, रैकिंग का यह डेटा अगस्त और सितंबर से लिया गया है। इन महीनों में दैनिक वस्तुओं की कीमतों ममें सबसे ज्यादा बढ़ोतरी देखी गई थी।