अच्छी नींद के लिए इन टिप्स को करे फॉलो, आइए जानिए

 अच्छी नींद के लिए इन टिप्स को करे फॉलो, आइए जानिए

सेहतमंद(Healthy) रहने के लिए जितना महत्वपूर्ण अच्छा भोजन(Food) है उतना ही महत्वपूर्ण है अच्छी नींद (Sleeping) लेना। नींद पूरी नहीं होने के कारण कई बार शरीर के अंग अच्छा से कार्य नहीं करते हैं,

जिसकी वजह से लोग बीमार पड़ जाते हैं। नींद की कमी के कारण आपकी मानसिक स्वास्थ्य पर भी बुरा प्रभाव पड़ता है। स्वस्थ( Healthy) रहने के लिए पर्याप्त नींद लेना चाहिए ये बात बहुत से लोग जानते हैं, लेकिन नींद के कई चरण होते हैं व इस दौरान मस्तिष्क कई जरूरी कार्य करता है। इसके बारे में बहुत ही कम लोग जानते हैं। आइए आज हम आपको बताते हैं कि नींद के दौरान आपके मस्तिष्क में क्या गतिविधियों होती हैं।

अच्छी नींद मतलब गहरी नींद में सोना
एबीपी न्यूज की समाचार के अनुसार इंसान जब गहरी नींद में सोता है तो शरीर मांसपेशियों की मरम्मत करता है। इससे हड्डियों को भी आराम मिलता व उनका हेल्दी विकास होता है। इसके साथ ही जब आप एक बेहतर नींद में सोते हैं तो आपके हार्मोन का प्रबंधन अच्छा रहता है। जो लोग अच्छी नींद लेते हैं उनकी याददाश्त बहुत अच्छी हो जाती है। ऐसे लोग अपनी यादों को क्रमबद्ध कर पाते हैं व प्रातः काल एक्टिव नजर आते हैं। इसलिए गहरी नींद में सोना लाभकारी माना जाता है।

नींद के पांच चरण



डॉक्टरों के अनुसार नींद के 5 चरण होते हैं, जिसमें REM व गैर-REM नींद दोनों शामिल हैं, जिसे हम हर रात में चक्रित करते हैं। ये सारी गतिविधियां आपके दिमाग में होती हैं पर आप नींद में होते हैं इसलिए आपको कुछ पता नहीं चल पाता है।


पहला चरण: नींद का शुरुआती चरण
नींद का यह चरण होता है गैर-आरईएम। यह चरण तब होता है जब आप सोना प्रारम्भ करते हैं व आम तौर पर यह सिर्फ कुछ ही मिनटों तक रहता है। ये एक शुरुआती प्रोसेस होता है। इस चरण के दौरान

- सांस व दिल की धड़कन धीमी हो जाती है।
-मांसपेशियां शिथिल होने लगती हैं।
-आप अल्फा व थीटा दिमागी तरंगों का उत्पादन करते हैं।

दूसरा चरण: यह शरुआत के बाद 25 मिनट का चरण गैर-आरईएम नींद का यह अगला चरण होता है। यह एक हल्की नींद की अवधि होती है। गहरी नींद में प्रवेश करने से पहले ये लगभग 25 मिनट तक रहता है। इसमें
-दिल की धड़कन व कम हो जाती है।
-कोई आई मूवमेंट नहीं होता है।
-शरीर का तापमान कम हो जाता है।
-दिमाग की तरंगें ऊपर व नीचे फैलती हैं, जिससे "स्लीप स्पिंडल" का निर्माण होता है।

तीसरा व चौथा चरण: गहरी नींद की आरंभ गैर-आरईएम नींद के ये दोनों चरण सबसे गहरी नींद के चरण हैं। इन चरणों को धीमी गति, या डेल्टा नींद के रूप में भी जाना जाता है। आपका शरीर इन अंतिम नॉन-आरईएम चरणों में कई जरूरी हेल्थ को बढ़ावा देने का काम करता है। इन चरणों के दौरान-
-नींद से उत्तेजना होती है।
-दिल की धड़कन व श्वास सबसे कम गति से चलती है।
-आई मूवमेंट शांत हो जाता है।
-शरीर पूरी तरह से आराम करता है।
-डेल्टा दिमागी तरंगें उपस्थित हो जाती हैं।
- मांसपेशियों की मरम्मत, विकास व सेल पुनर्जनन होता है।
-प्रतिरक्षा प्रणाली मजबूत होती है।

पांचवां चरण: REM नींद मतलब सपने देखने वाला चरण। इस चरण में जब आप सो जाते हैं तो तेजी से आंखों की गति का चरण लगभग 90 मिनट तक चलता है, व नींद का प्राथमिक सपना देखने का चरण प्रारम्भ होता है। आरईएम नींद पहली बार लगभग 10 मिनट तक रहती है, हर एक आरईएम चक्र के साथ बढ़ती है। आरईएम नींद का अंतिम चक्र लगभग 60 मिनट तक रहता है। इस चरण के दौरान-

-आंखों की गति तेज हो जाती है।
-श्वास व दिल की दर बढ़ जाती है।
-अंग की मांसपेशियां अस्थायी रूप से शिथिल हो जाती हैं।
-दिमाग की गतिविधि साफ तौर पर बढ़ जाती है।
-सपने देखते हैं व अपनी यादों को बटोरने लगते हैं।