मिथुन राशि : मिथुन राशि के जातकों के लिए नववर्ष 2020 में आकस्मित धन फायदा को बन रहा है योग

मिथुन राशि : मिथुन राशि के जातकों के लिए नववर्ष 2020 में आकस्मित धन फायदा को  बन रहा है योग

 नववर्ष का आगमन अब कुछ दिनों के बाद ही होने वाला है. हर किसी को नववर्ष का इंतजार बेसब्री से है. यह साल कैसा बीता उसे याद करते हुए नए साल को एक नयी उम्मीद से देखते हैं. हर कोई जानना चाहता है कि नव साल में उसकी भाग्य के तारे क्या कहते हैं? पिछले वर्ष की तरह ही ज़िंदगी चुनौतियों से भरा होगा या जो सफलताएं व खुशियां मिली हैं, वह सिलसिला नए वर्ष में भी चलेगा? नए वर्ष में काम योजनाएं पास होंगी? संबंध बेहतर रहेंगे? जॉब या बिजनेस अच्छा चलेगा? ऐसे कई सवाल मन में आने लगते हैं. ऐसे में हम आपको बताने जा रहे हैं कि नववर्ष 2020 का वार्षिक राशिफल, जिसमें आपके सवालों के जवाब मिल सकेंगे.

वार्षिक राशिफल 2020

वर्ष 2020 का यह राशिफल पूर्णतः गोचर-ग्रहों पर आधारित है. शास्त्रों में ग्रहों के विभिन्न राशिगत एवं भावगत गोचर के आधार पर जो फल कहे गए हैं, उनका इस राशिफल को तैयार करने में अनुसरण किया गया है. आदमी विशेष के लिए घटित घटनाएं गोचरगत ग्रहों के फलों के अतिरिक्त अन्य तथ्यों से भी प्रभावित होते हैं.

 

इन तथ्यों में प्रमुख है:- उनकी विद्यमान हालात अंतरदशा, प्रत्यन्तर दशा, साल कुंडली एवं जन्म कुंडली में ग्रहों की स्थिति आदि. अतः प्रस्तुत राशिफल इन सीमाओं को ध्यान में रखते हुए देखा जाना चाहिए. राशिफल ग्रहों की स्थितियों के आधार पर मात्र पूर्वाकलन व मार्गदर्शन है, भविष्यवाणी नहीं है, इसे उसी दृष्टि से देखना चाहिए.

मिथुन राशि:-(क, की,कु,घ, ड,छ, के,को,ह)

 

मिथुन राशि के जातकों के लिए नववर्ष 2020 में आकस्मित धन फायदा को योग बन रहा है. इस साल आपके मान-सम्मान तथा वर्चस्व में वृद्धि के भी इशारा मिल रहे हैं. हालांकि आप सारे साल भर शनि देव के असर में रहेंगे.

नववर्ष के शुरुआत से लेकर 22 सितंबर तक मिथुन राशि पर राहु का संचार हो रहा है. इसके अलावा 24 जनवरी से साल 2020 के अंत तक शनि की ढैया का अशुभ असर भी आप पर रहेगा. राहु व शनि के असर के कारण आपके प्रत्येक काम में विघ्न-बाधाएं आएंगी. जिन कार्यों को आप समय पर पूरा करना चाहेंगे, उनमें देरी होगी.

 

मई के अंत से अगस्त के प्रारंभ के बीच का समय आपके लिए सुखद रहने वाला है. 24 मई से 1 अगस्त के मध्य बुध स्वराशिस्थ हो रहा है, ऐसे में आपको आकस्मित धन फायदा होने कि सम्भावना है. मान-सम्मान बढ़ेगी, जिससे आपके वर्चस्व में भी वृद्धि होगी. इस समय में आपके बिगड़े कार्य बनेंगे. आप अपने जरूरी कार्यों को इस समयकाल में कर सकते हैं, जिनके पास होने की आसार अधिक होगी.

आपको साल भर धैर्य के साथ आगे बढ़ना होगा. शनि के असर से बचने के लिए आपको कुछ तरीका करने होंगे.

 

उपाय: शनि देव को प्रसन्न करने के लिए शनि मंत्र का जाप करें. प्रत्येक शनिवार को छाया दान करें एवं शनिवार को हनुमानजी को ऑयल का चोला चढ़ाएं, इससे फायदा होगा.

शुभ रंग: हरा, सफेद, नीला व हल्का पीला.

शुभ अंक: 1, 5 व 6 .

शुभ देवता: विघ्नहर्ता गणेश, मां दुर्गा, श्री भैरव जी.

शुभ व्रत: बुधवार व चतुर्थी तिथि.