सेक्स लाइफ को बेहतर बनाने के लिए करे यह टिप्स को फॉलो

सेक्स लाइफ को बेहतर बनाने के लिए करे यह टिप्स को फॉलो

सेक्स लाइफ का एक ऐसा पार्ट है जिसको आज के समय में हर कोई खुलकर जीना चाहता है. यहीं नहीं आज के समय में इस जीवन का मज़ा न केवल बड़े  बल्कि बच्चे भी खुलकर लेना चाहते है. वहीं यह बात सायद कोई नहीं जानता है

की सेक्स के लिए सबसे ज्यादा उत्तेजित हो जाती है. और अपने पार्टनर से कई चीजों की डिमांड भी करती है. तो चलिए जानते है इसके बारें में... 

सेक्स न करें, अगर: आपको लग रहा हो कोरोना इन्फ़ेक्शन का डर: वैसे तो सेक्स करना इंसान की सबसे स्वाभाविक प्रवृत्ति है और कोरोना फैलने के डर से ज़्यादार ऑफ़िसेज़ ने वर्क फ्रॉम होम का विकल्प दे रखा है. ऐसे में ज़ाहिर है, पैनिक सिचुएशन के बावजूद सेक्स करने का मन करे. पर यदि आपको ऐसा लग रहा हो कि आप इस वायरस से इन्फ़ेक्टेड किसी व्यक्ति के संपर्क में आए हों तो बेहतर होगा कि सेक्स करने से परहेज़ ही करें. इसका कारण यह है कि कोविड १९ के लक्षणों को स्पष्ट रूप से दिखाई देने में 2 से 14 दिन लग सकते हैं. सेक्स नहीं करने का दूसरा कारण यह है कि यह इन्फ़ेक्शन बॉडी फ़्लूइड से फैलता है. ऐसे में पुरुषों के सीमेन या महिलाओं के वजाइनल फ़्लूइड से यह फैल सकता है. ऐसे में पार्टनर को भी इन्फ़ेक्शन होने का ख़तरा हो सकता है. वहीं यदि आपको बुख़ार, खांसी, सांस लेने में तक़लीफ़ या नाक बहना जैसे लक्षण दिखें तो बेहतर यही होगा कि ख़ुद को बाक़ी लोगों से दूर कर लें. ट्रीटमेंट के बाद भी आपको अगले दो हफ़्ते तक सेक्स करने से दूरी बनाए रखनी चाहिए.

कोरोना के दौरान सेक्स आपकी हाल ही में डिलिवरी हुई हो: नॉर्मल डिलिवरी हो या सिजेरियन, बच्चे को जन्म देना आसान नहीं होता. शरीर पर काफ़ी प्रभाव पड़ता है. शरीर को हील होने में समय लगता है. आमतौर पर डिलिवरी के बाद कम से कम छह हफ़्ते तक सेक्स से दूर रहने की सलाह दी जाती है. तो अगर आपका कितना भी मन क्यों न हो, अपने शरीर के बारे में सोचें. शरीर को ठीक होने के लिए आवश्यक समय दें. यदि कोई डाउट हो तो इस बारे में अपने डॉक्टर से संपर्क करें. गायनाकोलॉजिस्ट की सलाह पर ही संबंध बनाना शुरू करें.