एग और चिकेन से कहीं ज्यादा दमदार है 'फिश बिरयानी'

एग और चिकेन से कहीं ज्यादा दमदार है 'फिश बिरयानी'

सामग्री :

500 ग्राम फिश, 1 किलो बासमती चावल, 150 ग्राम ब्राउन प्याज, 300 ग्राम देसी घी, 5 ग्राम दालचीनी पाउडर, 5 ग्राम इलायची पाउडर, 5 ग्राम शाही जीरा, 5 ग्राम लाल मिर्च पाउडर, 10 ग्राम मिंट, 10 ग्राम बारीक कटा हरा धनिया, 25 मिली नींबू का रस, 25 ग्राम अदरक-लहसुन का पेस्ट, 20 ग्राम कटी हरी मिर्च, 1 ग्राम केसर

विधि :

मछली को एक इंच के टुकड़ों में काटें। हांडी में तेल गर्म कर शाही जीरा, दालचीनी पाउडर और इलायची पाउडर डालें। जब वह चटकने लगे तब अदरक-लहसुन का पेस्ट, लाल मिर्च पाउडर, धनिया, मिंट की पत्तियां, स्वादानुसार नमक, कटी हुई हरी मिर्च और जरा सा पानी डालें।
चावल से 4 गुना ज्यादा पानी गर्म करें। उसके उबलने पर उसमें दालचीनी पाउडर,इलायची पाउडर और हल्का सा नमक डालें। अब उसमें चावल डालकर पकने दें। फिर पानी निकालकर चावल प्लेट पर रखें।
पैन की तली पर मछली का झोल बिछाएं। उस पर चावल की लेयर रखकर कटी हुई हरी मिर्च, बारीक कटा हुआ धनिया और मिंट की पत्तियां डालें। उसके बाद केसर, नींबू का रस और ब्राउन प्याज डालें।
हांडी को सिल्वर फॉइल से अच्छी तरह ढक दें। 15 मिनट तक पकने दें।
फिश बिरयानी को रायते और मिर्च के सालन के साथ सर्व करें।


दूल्हा-दुल्हन को शादी के पहले क्यों लगाया जाता है हल्दी का उबटन

दूल्हा-दुल्हन को शादी के पहले क्यों लगाया जाता है हल्दी का उबटन

दूल्हा-दुल्हन को शादी के समय कई तरह की रस्में निभानी पड़ती है। जिनके बिना शादी अधूरी मानी जाती है। इन्ही रस्मों से एक है हल्दी की रस्म जो सबसे पहले की जाती है। हल्दी का लेप लगाने से कई तरह के फायदे होते है। इस रस्म को पूरा करने के लिए हल्दी के उबटन में चंदन, बेसन और कई सुगंधि‍त तेल मिलाए जाते है। जो त्वचा में चमक लाने का काम करते है। 

क्यों लगाया जाता है हल्दी का उबटन

हल्दी का उपयोग काफी लंबे समय से त्वचा के निखार के लिए होता आ रहा है। यह एक औषधिय जड़ी बूटी है इसका इस्तेमाल करने से त्वचा संबंधी रोगो को दूर करने के लिए किया जाता है।

हल्दी से चेहरे के दाग धब्बे दूर रहते है। ताकि चेहरे के सारे दाग-धब्बे दूर हो जाएं। इसे शादी से पहले इसलिए लगाया जाता है ताकि इसका उपयोग करने से चहरे में प्राकृतिक चमक आ जाए।

सर्दी और गर्मी हर मौसम में त्वचा सनटैन हो जाती है। यह सभी समस्याए सूरज की हानिकारक यूवी किरणों की वजह से होती है। और इसे हल्दी की मदद से दूर किया जा सकता है।

शादी के दौरान काफी काम आ जाने से तनाव, नींद का पूरा ना होना, और पानी की कमी से चेहरे पर डार्क सर्कल्स हो जाते हैं। इस समस्या को दूर करने के लिए हल्दी का लेप काफी अच्छा उपचार माना गया है।