माता के जागरण में नरेंद्र चंचल की आवाज सुनकर ही भक्तों की भीड़ लग जाती थी

माता के जागरण में नरेंद्र चंचल की आवाज सुनकर ही भक्तों की भीड़ लग जाती थी

चलो बुलावा आया है, माता ने बुलाया है... इस देवी भजन में एक ऐसी आवाज जिसे देशवासी वर्षों तक नहीं भूलेंगे, आज वह आवाज खामोश हो गई । माता ने अपना सबसे प्यारा भक्त को अपने पास बुला लिया ।‌ अब देवी जागरण में वह गायकी कभी नहीं सुनाई देगी जिसे पूरा देश 50 वर्षों से सुनता आ रहा है । शुक्रवार दोपहर को जब यह खबर आई कि भजन सम्राट और माता जागरण को देश के कोने-कोने में पहुंचाने वाले नरेंद्र चंचल नहीं रहे, तब लाखों-करोड़ों संगीत प्रेमियों और माता के भजन सुनने वालों की आंखें नम हो गईं ।‌ बता दें कि शुक्रवार दोपहर नरेंद्र चंचल का दिल्ली के अपोलो अस्पताल में  लंबी बीमारी के बाद निधन हो गया, वे 80 वर्ष के थे और पिछले दो महीने से अपोलो अस्पताल‌ में भर्ती थे। नरेंद्र चंचल अपने पीछे दो बेटे और एक बेटी छोड़ गए हैं। उनका जन्म 1940 में पंजाब के अमृतसर शहर के नानक मंडी‌ में हुआ था और उनका पालन-पोषण धार्मिक माहौल में हुआ । उसके बाद वे दिल्ली में आकर बसे और यहीं के होकर रह गए। बता दें कि नरेंद्र चंचल में माता के भजनों को लेकर रुचि इसलिए बढ़ी क्योंकि उन्होंने बचपन से ही अपनी मां को मातारानी के भजन गाते सुना था। यही वजह थी कि नरेंद्र अपनी पहली गुरु अपनी मां को माना करते थे। इसके बाद चंचल ने प्रेम त्रिखा से संगीत सीखा, फिर वह भजन गाने लगे थे ।

माता के भजनों से ही चंचल ने देश और विदेशों में नाम कमाया

बता दें कि नरेंद्र चंचल ने माता के भजन गाकर ही देश-विदेशों में खूब प्रसिद्धि पाई, उन्हें लोग बहुत ही आदर और सम्मान दिया करते थे ।‌ नरेंद्र चंचल को माता के भजनों के लिए ही जाना जाता है। बचपन से ही नरेंद्र चंचल भजन गाने लगे । चंचल जागरण में माता की भेंटें गाते । 1970 और 80  के दशक में वह माता के जागरण की शान हुआ करते थे, और उनकी आवाज और गायकी भक्तों और लोगों को अपने में आत्मसात कर लेती थी । नरेंद्र चंचल जिस जागरण में जाते थे, वहां लोगों का हुजूम उमड़ पड़ता था। उनके माता के भजन सुनने के लिए हजारों लोग पूरी रात जागा करते थे। नरेंद्र चंचल के निधन पर उनके फैन्स और शुभचिंतकों में शोक का माहौल है। सोशल मीडिया पर पोस्ट करके तमाम फिल्म इंडस्ट्री और गायकी से जुड़े दिग्गजों ने नरेंद्र की आत्मा की शांति के लिए प्रार्थना की है। उन्हें अमेरिकी राज्य जॉर्जिया की मानद नागरिकता भी प्राप्त थी।

भजन के साथ हिंदी सिनेमा में भी नरेंद्र चंचल ने अपनी अलग छाप छोड़ी

नरेंद्र चंचल की लोकप्रियता का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि उन्होंने अमिताभ बच्चन से लेकर शोमैन राजकूपर की फिल्मों के लिए भी गाने गाए। अमिताभ बच्चन अभिनीत 'बेनाम' फिल्म में गाया गाना आज भी लोग खूब पसंद करते हैं। इस फिल्म के गाने में चंचल भी नजर आए थे। चंचल ने राज कपूर निर्देशित फिल्म 'बॉबी' में 'बेशक मंदिर मस्जिद तोड़ो...' गाने के लिए भी उन्हें जाना जाता है। इस गाने के लिए उन्हें श्रेष्ठ गायक का फिल्मफेयर पुरस्कार भी मिला था ।‌ 1973 में रिलीज हुई 'बॉबी' के अलावा नरेंद्र चंचल ने 'रोटी कपड़ा और मकान', 'आशा', 'बदनाम', 'अवतार', 'काला सूरज', 'अपने' जैसी फिल्मों के लिए भी अपनी गायकी का जलवा दिखाया । लता मंगेशकर के साथ नरेंद्र चंचल 'बाकी कुछ बचा तो महंगाई मार गई' गाना गया। इसके अलावा उन्होंने मोहम्मद रफी के साथ 1980 में 'तूने मुझे बुलाया शेरा वालिए', 1983 में आशा भोसले के साथ चलो बुलावा आया है माता ने बुलाया है और 'दो घूंट पिला के साकिया, हुए हैं कुछ ऐसे वो हमसे पराए' जैसे गीत नरेंद्र चंचल ने गाए। फिल्म अवतार में देवी माता का भजन, चलो बुलावा आया है माता ने बुलाया है, और तूनेेे मुझे बुलाया शेरा वालिए आज भी जागरण समेत हर नवरात्रि पर जरूर सुनाई देता है ।

(शंभू नाथ गौतम, वरिष्ठ पत्रकार)


रवि योग में मंदार षष्ठी आज, जानें मुहूर्त, दिशाशूल एवं राहुकाल

रवि योग में मंदार षष्ठी आज, जानें मुहूर्त, दिशाशूल एवं राहुकाल

हिन्दू कैलेंडर के अनुसार, आज माघ मास के शुक्ल पक्ष की षष्ठी तिथि है। आज 17 फरवरी 2021 और दिन बुधवार है। आज मंदार षष्ठी है। आज के दिन सूर्य देव की पूजा की जाती है। वे हमारे सभी पापों को नष्ट करते हैं और मनोकामनाओं की पूर्ति करते हैं। आज प्रात:काल से ही रवि योग लग गया है, जो पूरे दिन रहेगा। आज बुधवार के दिन विघ्नहर्ता श्री गणेश जी की विधि विधान से पूजा की जाती है। उनको दूर्वा अर्पित करते हैं और मोदक का भोग लगाते हैं। वे संकटों का नाश करते हैं और भक्तों को सफलता का आशीष देते हैं। आज के पंचांग में राहुकाल, शुभ मुहूर्त, दिशाशूल के अलावा सूर्योदय, चंद्रोदय, सूर्यास्त, चंद्रास्त आदि के बारे में भी जानकारी दी जा रही है।

आज का पंचांग

दिन: बुधवार, माघ मास, शुक्ल पक्ष, षष्ठी तिथि।

आज का दिशाशूल: उत्तर।

आज का राहुकाल: दोपहर 12:00 बजे से 01:30 बजे तक।


आज का पर्व एवं त्योहार: मंदार षष्ठी।

विक्रम संवत 2077 शके 1942 उत्तरायन, दक्षिणगोल, शिशिर ऋतु माघ मास शुक्ल पक्ष की षष्ठी 30 घंटे 34 मिनट तक, अश्वनी नक्षत्र 23 घंटे 49 मनट तक, तत्पश्चात् भरणी नक्षत्र शुक्ल योग 26 घंटे 37 मिनट तक, तत्पश्चात् ब्रह्म योग मेष में चंद्रमा।

सूर्योदय और सूर्यास्त

आज के दिन सूर्योदय प्रात:काल 07 बजकर 02 मिनट पर हुआ है, वहीं सूर्यास्त शाम को ठीक 06 बजकर 13 मिनट पर होगा।


चंद्रोदय और चंद्रास्त

आज का चंद्रोदय सुबह में 10 बजकर 13 मिनट पर होगा। चंद्र का अस्त रात 11 बजकर 17 मिनट पर होगा।

आज का शुभ समय

अभिजित मुहूर्त: आज ऐसा कोई मुहूर्त प्राप्त नहीं हो रहा है।

अमृत काल: आज दोपहर 03 बजकर 45 मिनट से शाम 05 बजकर 33 मिनट तक।

रवि योग: सुबह 06 बजकर 58 मिनट से रात 11 बजकर 49 मिनट तक।

विजय मुहूर्त: दोपहर 02 बजकर 28 मिनट से दोपहर 03 बजकर 13 मिनट तक।


आज माघ शुक्ल षष्ठी है। आज बुधवार के दिन गणेश चालीसा, गणपति के 108 नाम और उनके प्रभावशाली मन्त्रों का जाप करना अत्यंत कल्याणकारी माना जाता है। आज सूर्य देव के मंत्रों का जाप भी आपके लिए शुभ होगा। आज आप कोई नया कार्य करना चाहते हैं तो शुभ मुहूर्त का ध्यान रखें।


Kareena Kapoor हॉस्पिटल से डिस्चार्ज होकर बेबी बॉय के साथ पहुंची घर       ‘ये रिश्ता क्या कहलाता है’ फेम रोहन मेहरा और कांची सिंह का हुआ ब्रेकअप       गाजर का हलवा लेकर रणवीर सिंह से मिलने पहुंची फैन, अभिनेता बोले...       रणबीर कपूर की मां नीतू और बहन रिद्धिमा ने प्रारम्भ कर दी विवाह की तैयारी?       जैकलीन फर्नांडिस ने दिखाई 'भूत पुलिस' के पोस्टर की झलक       Ind vs Eng: टूट सकता है Dhoni का ये बड़ा रिकॉर्ड, Virat Kohli डे-नाइट टेस्ट में रच सकते हैं इतिहास       Suryakumar Yadav को इस साउथ भारतीय लड़की से हुआ था प्यार       ट्रोल हुई Virat Kohli की RCB, 14.25 करोड़ में बिकने वाले Glenn Maxwell बुरी तरह फ्लॉप       IPL नीलामी में Unsold रहने के बाद मैदान पर निकला इस खिलाड़ी का गुस्सा       Covid-19 से संक्रमित हुआ Sri Lanka का ये टॉप गेंदबाज       यात्रियों के पर्स और मोबाइल उड़ाये, कोटा-हिसार ट्रेन में चोरों का धावा       दहेज के लिए विवाहिता को जहर देकर मार डाला       आज से इन राज्‍यों में होगी बारिश, दिल्‍ली में छाएगा कोहरा       राजस्थानी भाषा की मान्यता के लिये तेज हुआ संघर्ष, लिया ये संकल्प       कोलकाता पुलिस को कैसे लगी पामेला के ड्रग्स एडिक्शन की खबर       नाश्ता न्यूट्रिशन से होगा भरपूर तो इम्यूनिटी रहेगी स्ट्रॉन्ग, हर उम्र वर्ग की जरूरत के मुताबिक होनी चाहिए डाइट       जॉगिंग के लिए घर से बाहर निकलते वक्त इन 5 बातों का रखें ख़्याल       लंबे लॉकडाउन में महिलाएं अधिक हुई हैं डिप्रेशन की शिकार       बिना जिम जाए घर में ही बना सकते हैं सिक्स-पैक एब्स इन योगासनों की मदद से       कहीं आपको सर्वाइकल तो नहीं हो गया है? जानिए लक्षण और उपचार