पौष पूर्णिमा 2021: इस दिन शुरू होगा कल्पवास, करें ये उपाय

पौष पूर्णिमा 2021: इस दिन शुरू होगा कल्पवास, करें ये उपाय

पौष माह  हिंदुओं के लिए पवित्र माह है। इस माह हर तिथि खास है। लेकिन में शुक्ल पक्ष की पूर्णिमा का अलग महत्व है। इसको पौष पूर्णिमा कहते हैं। पौष पूर्णिमा को ही भगवती दुर्गा के शाकम्भरी स्वरूप को जन्म हुआ था। इसलिए इसे शाकम्भरी पूर्णिमा भी कहते हैं। इस साल यह पूर्णिमा 28 जनवरी 2021 को है। पूर्णिमा 28 जनवरी गुरुवार को 1.18 मिनट पर रात को लगेगी।

जीवन-मृत्यु के बंधनों से मुक्ति
पूर्णिमा तिथि 29 जनवरी को शुक्रवार की रात 12 बजकर 47 मिनट तक रहेगी। इस प्रकार पूर्णिमा के दिन स्नान-दान और सूर्य देव को जल देने से बहुत अधिक लाभ होता है। कहते हैं पौष पूर्णिमा पर स्नान-दान से व्यक्ति को मोक्ष की प्राप्ति होती है। इस दिन से कल्पवास भी शुरू हो जाता है। कल्पवासी पौष पूर्णिमा से एक-दो दिन पहले आ जाते हैं और संगम किनारे की तपस्या शुरू करते हैं। माघ मेले का दूसरा स्नान पौष पूर्णिमा पर होगा। कल्पवासी माघ मेले के सभी प्रमुख स्नानों पर स्नान-दान करते हैं। माघी पूर्णिमा के दिन कल्पवास का समापन होता है। ऐसा कहा जाता है कि कल्पवासी यहां जीवन-मृत्यु के बंधनों से मुक्ति की कामना लेकर यहां आते हैं।

तिथि व मुहूर्त-
पूर्णिमा तिथि आरंभ- 28 जनवरी 2021 गुरुवार को 01 बजकर 18 मिनट से पूर्णिमा तिथि समाप्त- 29 जनवरी 2021 शुक्रवार की रात 12 बजकर 47 मिनट तक।

मंत्र जाप

पौष पूर्णिमा पर स्नान के बाद कुछ विशेष मंत्रों के जाप से कष्टों से मुक्ति पाई जा सकती है। इसके लिए निम्न मंत्रों का जाप किया जा सकता है ओउम आदित्याय नमः, ओउम सोम सोमाय नमः, ओउम नमो नीलकंठाय, ओउम नमो नारायणाय

इस तरह का उपाय,चमकेगा भाग्य
पूर्णिमा के दिन चन्द्रमा अपने पूर्ण आकार में होता है। यह दिन माँ लक्ष्मी को भी अत्यंत प्रिय है। पूर्णिमा के दिन ये खास उपाय करने से भाग्य चमकेगा।

चन्द्रमा मां का सूचक है और मन का कारक है। चंद्रमा कर्क राशि का स्वामी है। स्मरण शक्ति कमजोर हो जाती है। घर में पानी की कमी आ जाती है। मानसिक तनाव, मन में घबराहट, मन में तरह-तरह की शंका और सर्दी बनी रहती है। व्यक्ति के मन में आत्महत्या करने के विचार भी बार-बार आते रहते हैं। चन्द्रमा जैसे-जैसे कृष्ण पक्ष में छोटा व शुक्ल पक्ष में पूर्ण होता है वैसे-वैसे मनुष्य के मन पर भी चन्द्र का प्रभाव पड़ता है।

शास्त्रों में कहा गया है कि हर पूर्णिमा के दिन पीपल के वृक्ष पर मां लक्ष्मी का आगमन होता है।आप सुबह उठकर पीपल के पेड़ के सामने कुछ मीठा चढ़ाकर जल अर्पित करें।

मधुरता बनेगी
सफल दाम्पत्य जीवन के लिए प्रत्येक पूर्णिमा को पति-पत्नी में कोई भी चन्द्रमा को दूध का अर्ध्य अवश्य ही दें, इससे दाम्पत्य जीवन में मधुरता बनी रहती है।

जब चन्द्र से कोई भी शुभ ग्रह जैसे शुक्र, बृहस्पति और बुध दसवें भाव में हो तो व्यक्ति दीर्घायु, धनवान और परिवार सहित हर प्रकार से सुखी होता है। चन्द्र  से कोई भी ग्रह जब दूसरे या बारहवें भाव में न हो तो वह अशुभ होता है। 

जिस भी व्यक्ति को जीवन में धन सम्बन्धी समस्याओं का सामना करना पड़ता है उन्हें पूर्णिमा के दिन चंद्रोदय के समय चन्द्रमा को कच्चे दूध में चीनी और चावल मिलाकर “ॐ स्रां स्रीं स्रौं स: चन्द्रमासे नम:” अथवा ” ॐ ऐं क्लीं सोमाय नम:. ” मन्त्र का जप करते हुए अर्ध्य देना चाहिए। इससे धीरे धीरे उसकी आर्थिक समस्या खत्म होती है।

इत्र और सुगन्धित अगरबत्ती चढ़ाएं
हर पूर्णिमा के दिन मंदिर में जाकर लक्ष्मी को इत्र और सुगन्धित अगरबत्ती अर्पण करनी चाहिए। धन, सुख समृद्धि और ऐश्वर्य की देवी मां लक्ष्मी से अपने घर में स्थाई रूप से निवास करने की प्रार्थना करें।

अपने घर के मंदिर में धन लाभ के लिए श्री यंत्र, व्यापार वृद्धि यंत्र, कुबेर यंत्र, एकाक्षी नारियल, दक्षिणवर्ती शंख रखें। इनको साबुत अक्षत के ऊपर स्थापित करना चाहिए। पूर्णिमा की रात में 15 से 20 मिनट तक चन्द्रमा को लगातार देखें इससे नेत्रों की ज्योति तेज होती है।


रवि योग में मंदार षष्ठी आज, जानें मुहूर्त, दिशाशूल एवं राहुकाल

रवि योग में मंदार षष्ठी आज, जानें मुहूर्त, दिशाशूल एवं राहुकाल

हिन्दू कैलेंडर के अनुसार, आज माघ मास के शुक्ल पक्ष की षष्ठी तिथि है। आज 17 फरवरी 2021 और दिन बुधवार है। आज मंदार षष्ठी है। आज के दिन सूर्य देव की पूजा की जाती है। वे हमारे सभी पापों को नष्ट करते हैं और मनोकामनाओं की पूर्ति करते हैं। आज प्रात:काल से ही रवि योग लग गया है, जो पूरे दिन रहेगा। आज बुधवार के दिन विघ्नहर्ता श्री गणेश जी की विधि विधान से पूजा की जाती है। उनको दूर्वा अर्पित करते हैं और मोदक का भोग लगाते हैं। वे संकटों का नाश करते हैं और भक्तों को सफलता का आशीष देते हैं। आज के पंचांग में राहुकाल, शुभ मुहूर्त, दिशाशूल के अलावा सूर्योदय, चंद्रोदय, सूर्यास्त, चंद्रास्त आदि के बारे में भी जानकारी दी जा रही है।

आज का पंचांग

दिन: बुधवार, माघ मास, शुक्ल पक्ष, षष्ठी तिथि।

आज का दिशाशूल: उत्तर।

आज का राहुकाल: दोपहर 12:00 बजे से 01:30 बजे तक।


आज का पर्व एवं त्योहार: मंदार षष्ठी।

विक्रम संवत 2077 शके 1942 उत्तरायन, दक्षिणगोल, शिशिर ऋतु माघ मास शुक्ल पक्ष की षष्ठी 30 घंटे 34 मिनट तक, अश्वनी नक्षत्र 23 घंटे 49 मनट तक, तत्पश्चात् भरणी नक्षत्र शुक्ल योग 26 घंटे 37 मिनट तक, तत्पश्चात् ब्रह्म योग मेष में चंद्रमा।

सूर्योदय और सूर्यास्त

आज के दिन सूर्योदय प्रात:काल 07 बजकर 02 मिनट पर हुआ है, वहीं सूर्यास्त शाम को ठीक 06 बजकर 13 मिनट पर होगा।


चंद्रोदय और चंद्रास्त

आज का चंद्रोदय सुबह में 10 बजकर 13 मिनट पर होगा। चंद्र का अस्त रात 11 बजकर 17 मिनट पर होगा।

आज का शुभ समय

अभिजित मुहूर्त: आज ऐसा कोई मुहूर्त प्राप्त नहीं हो रहा है।

अमृत काल: आज दोपहर 03 बजकर 45 मिनट से शाम 05 बजकर 33 मिनट तक।

रवि योग: सुबह 06 बजकर 58 मिनट से रात 11 बजकर 49 मिनट तक।

विजय मुहूर्त: दोपहर 02 बजकर 28 मिनट से दोपहर 03 बजकर 13 मिनट तक।


आज माघ शुक्ल षष्ठी है। आज बुधवार के दिन गणेश चालीसा, गणपति के 108 नाम और उनके प्रभावशाली मन्त्रों का जाप करना अत्यंत कल्याणकारी माना जाता है। आज सूर्य देव के मंत्रों का जाप भी आपके लिए शुभ होगा। आज आप कोई नया कार्य करना चाहते हैं तो शुभ मुहूर्त का ध्यान रखें।


Tiger Shroff के शानदार डांस पर दिशा पाटनी ने किया दिलचस्प कमेंट       इस एक्ट्रेस ने कराया ग्लैमरस फोटोशूट, देखकर हो जाएंगे दीवाने       एक्ट्रेस जमीला जमील को प्रियंका चोपड़ा समझ बैठा फैन       बयान दर्ज कराने क्राइम ब्रांच के पहुंचे ऋतिक रोशन       Ranveer Singh ने रोहित शेट्टी के एक्शन सीन को लेकर कही ये बात       इंस्टेंट बल्ड शुगर कंट्रोल करने के लिए रोजाना पिएं इसका पानी       लहसुन खाएंगे तो कम होगा ऐसी गंभीर बीमारियों का जोखिम       शरीर में ये बदलाव डायबिटीज के हैं लक्षण       कोरोना वायरस से मिली हैं ये 6 सीख       इन चीजों से करें परहेज और पीलिया में खाएं ये चीजें       पाचन तंत्र को दुरुस्त बनाने के साथ सेहत के लिए बहुत होता है फायदेमंद दलिया       सेहत के लिए बहुत लाभकारी होता है अश्वगंधा       उल्टी की समस्या से छुटकारा पाने के लिए करें ये उपाय       हड्डियों को मजबूत बनाने के साथ सेहत के लिए भी बहुत होती है लाभकारी ये दाल       सिरदर्द से हो गए परेशान, तो अपनाएं ये उपचार       अब इन दो टीमों के पास है मौका, World Test Championship से बाहर हुई इंग्लैंड की टीम       भारत में ही पांच-छह शहरों में होगा IPL 2021 का आयोजन       OMG! इस एक्ट्रेस ने इंस्टाग्राम पर शेयर की ग्लैमरस तस्वीर       OTT Platform Guidelines पर क्या है लोगों की राय? किसी ने बताया महत्वपूर्ण कदम तो कोई बोला...       Sita- The Incarnation: अब बड़े पर्दे पर आएगी 'सीता' की अनकही कहानी, इस फ़िल्म का है ये कनेक्शन