दुनिया स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने कोरोना वायरस व हवा को लेकर दी यह बड़ी जानकारी

दुनिया स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने कोरोना वायरस व हवा को लेकर दी यह बड़ी जानकारी

कोरोना वायरस के अभी तक हवा में फैलने की रिपोर्ट नहीं मिली है। यह ज्यादातर सांसों के साथ निकलने वाली छोटी बूंदों (रेसपिरेटरी डॉप्लेट्स) व नजदीकी सम्पर्क से फैलता है।

यह बात दुनिया स्वास्थ्य संगठन (WHO) की दक्षिण पूर्व एशिया की चीफ डाक्टर पूनम खेत्रपाल सिंह ने कही है। दरअसल सोशल मीडिया पर नोवल कोरोना वायरस के हवा में फैलने की अफवाहों को देखते हुए उनका बयान आया है।

पूनम सिंह ने अपने बयान में बोला है कि कोविड-19 (Kovid-19) के हवा में फैलने की रिपोर्ट अभी तक नहीं मिली है। अभी तक प्राप्त सूचना के आधार पर कोविड-19 (Kovid-19) ज्यादातर सांसों के साथ निकलने वाली छोटी बूंदों (जैसे कोई बीमार आदमी जब छींकता है तो उससे निकलने वाली छोटी बूंदें) व करीबी सम्पर्क की वजह से फैलता है। इस वजह से WHO हाथ व श्वसन स्वच्छता की सिफारिश करता है।

WHO ने बोला है कि चाइना के अधिकारियों ने सूचना दी कि अपेक्षाकृत बंद परिवेश में एयरोसोल संचरण कर सकता है, जैसे अस्पतालों के ICU एवं CCU में ज्यादा सघनता वाले एयरोसोल के सम्पर्क में आने के कारण। बरहाल वायरस के इस प्रकार से फैलने के बारे में समझने के लिए अधिक अनुसंधान व महामारी विज्ञान के आंकड़ों के विश्लेषण की आवश्यकता है।