तालिबान ने अमेरिका को दी चेतावनी

तालिबान ने अमेरिका को दी चेतावनी

तालिबान ने अमेरिका को चेतावनी दी है कि वह अफगानिस्तान में हिंसा में सात दिन की कमी के प्रस्ताव का जवाब दे, वरना वह बातचीत से हट जाएगा। इस बातचीत से करीब से जुड़े दो तालिबानी अधिकारियों ने नाम न छापने की शर्त पर

बुधवार को बताया कि कई हफ्तों की वार्ता के बाद तालिबान ने अमेरिका को अल्टीमेटम जारी किया है। दरअसल अमेरिका ने बीते मंगलवार यानी 11 फरवरी 2020 को बोला था कि अफगानिस्तान में हिंसा में कमी करने के प्रस्ताव पर कुछ दिनों में समझौता हो जाएगा। इसी पर तालिबान ने अपनी रिएक्शन दी है। आपकी जानकारी के लिए हम आपकी जानकारी के लिए बताते चलें कि अफगानिस्तान के राष्ट्रपति अशरफ गनी ने भी ट्वीट कर बोला था कि उन्हें अमेरिकी विदेश मंत्री माइक पॉम्पियो ने फोन कर बताया था कि तालिबान के साथ वार्ता में उल्लेखनीय प्रगति है।

आपकी जानकारी के लिए हम आपकी जानकारी के लिए बताते चलें कि अमेरिका को यह अल्टीमेटम तालिबान के मुख्य वार्ताकार मुल्ला अब्दुल गनी बरादर ने दिया है। बरादर ने इस सप्ताह के प्रारम्भ में व्हाइट हाउस के दूत जालमे खालिजाद व कतर के विदेशमंत्री मोहम्मद बिन अब्दुल रहमान अल थानी से मुलाकात की थी।

वहीं यह भी बोला जा रहा है कि अमेरिका की ओर से इस अल्टीमेटम पर वैसे कोई जवाब नहीं दिया गया है। तालिबान की दूसरी मांग यह है कि वार्ताकारों में शामिल राष्ट्रपति गनी सरकार के प्रतिनिधि में से कोई भी आधिकारिक तौर पर बातचीत की मेज पर शामिल नहीं होगा, केवल एक साधारण अफगान की तरह बातचीत में शामिल होने कि सम्भावना है।