सेनानिवृत्त जनरल शाहिद अजीज रहस्मयी तौर से हुए गायब

सेनानिवृत्त जनरल शाहिद अजीज रहस्मयी तौर से हुए  गायब

अलकायदा का बोलना है कि पाक का सेनानिवृत्त जनरल शाहिद अजीज जो रहस्मयी तौर से 2016 में गायब हो गया था उसकी मृत्यु हो गई है. अलकायदा की क्षेत्रीय शाखा द्वारा प्रकाशित मैग्जीन के फरवरी संस्करण में यह बात लिखी गई है. जिसमें उसने आरोप लगाया है कि अजीज के आतंकवादी संगठन से घनिष्ठ संबंध थे. वहीं उसका परिवार इस बात से इंकार करता रहा है. इस खुलासे ने एक बार फिर पाकिस्तानी सेना व आतंकवादी संगठनों के संबंधों की पुष्टि की है.

पाकिस्तानी सेना में 67 वर्ष सेवा देने के बाद अजीज 2005 में सेनानिवृत्त हुआ था. जब परवेज मुशर्रफ पाक के सेनाध्यक्ष बने तो उन्होंने अजीज को अन्य प्रमुख पदों के अतिरिक्त सैन्य अभियानों के महानिदेशक के रूप में पदोन्नत किया था. सेनानिवृत्ति के बाद अजीज ने एक किताब लिखी थी जिसमें उसने पूर्व सेनाध्यक्ष की नीतियों की बहुत ज्यादा आलोचना की थी. रिपोर्ट्स के अनुसार अजीज ने इस्लामिक स्टेट व अन्य जिहादी संगठनों के पक्ष में लड़ने के लिए अपना घर छोड़ दिया था व अफगानिस्तान चला गया था.

2018 में जब उसकी मृत्यु व गायब होने की खबरें आने लगी तो अजीज के सम्बन्धी ने उन्हें खारिज कर दिया व दावा किया कि वह अफगानिस्तान या सीरिया में अमेरिकी फौजों के साथ लड़ते हुए मारा गया है. वहीं अजीज के बेटे ने इन रिपोर्ट्स को खारिज कर दिया व एक साक्षात्कार में बोला कि जनरल धार्मिक उपदेशों का बहुत व्यक्तिगत ज़िंदगी जीया करता था.

हालांकि अब अलकायदा की अल-कायदा भारतीय सबकॉन्टिनेंट (एक्यूआईएस) मैग्जीन नवा-ए-अफगान जिहाद ने यह दावा किया है कि जनरल के उससे घनिष्ठ संबंध थे. एक्यूआईएस का गठन अलकायदा प्रमुख अयमान अल-जवाहिरी ने 2014 में किया था. जिसका उद्देश्य पाकिस्तान, भारत, अफगानिस्तान, म्यांमार व बांग्लादेश की सरकारों से लड़ना था. मैग्जीन ने दावा किया है कि अजीज के आतंकवादी संगठन से घनिष्ठ संबंध थे. एक वरिष्ठ पत्रकार का बोलना है कि यह पहली बार है जब किसी आंतकी संगठन ने बोला है कि अजीज के उससे संबंध थे.