ईरान में सराकर के विरूद्ध में हुए है इतने लोग गिरफ्तार, जाने

ईरान में सराकर के विरूद्ध में हुए है इतने लोग गिरफ्तार, जाने

ईरान में सराकर के विरूद्ध मध्य नवंबर से लेकर अब तक हुए विरोध प्रदर्शनों में कई लोगों की मृत्यु हो चुकी है, जबकि कई घायल भी हुए हैं. वहीं पुलिस ने प्रदर्शनकारियों को अरैस्ट भी किया है. इस बीच अमरीका ने ईरान में हो रहे प्रदर्शन में लोगों की मृत्यु व उनकी गिरफ्तारी पर चिंता जाहिर की है.

इधर संयुक्त देश ने भी ईरान में हो रहे प्रदर्शन पर चिंता जाहिर की है व प्रदर्शन में भाग लेने वालों की गिरफ्तारी पर चिंता जताई है. संयुक्त देश ने बोला है कि प्रदर्शन में भाग लेने वाले 7,000 से अधिक लोगों को गिरफ्तार किया गया है.

 

समाचार एजेंसी एफे के मुताबिक, संयुक्त देश के मानवाधिकार ऑफिस के एक प्रवक्ता ने शुक्रवार जेनेवा में एक संवाददाता सम्मलेन में बोला कि भारी संख्या में प्रदर्शनकारियों को हिरासत में लेने के बावजूद देशभर में गिरफ्तारी जारी है.

मानव अधिकारों के लिए संयुक्त देश की उच्चायुक्त, मिशेल बाचेलेत ने एक बयान में कहा, 'मैं उनके शारीरिक इलाज के बारे में बहुत चिंतित हूं, उनके अधिकारों का उल्लंघन हो रहा है व संभावना है कि जिन पर आरोप लगे हैं उनमें से बड़ी संख्या में लोगों को सज़ा-ए-मौत हो सकती है.’

कम से कम 208 लोगों की मौत

प्रवक्ता रूपर्ट कोलविले ने बोला कि संयुक्त देश को जानकारी मिली थी कि ‘13 स्त्रियों व 12 बच्चों सहित कम से कम 208 लोग मारे गए हैं.’ हालांकि, बाचेलेत का ऑफिस इस आंकड़े की पुष्टि नहीं कर सका.

बाचेलेत ने बोला कि ऐसी परिस्थितियों में, इतनी अधिक मौतों के साथ, अधिकारियों को अधिक पारदर्शिता के साथ काम करना आवश्यक है.

 

ईरान के सुरक्षा बलों, रिवोल्यूशनरी गार्ड व बासिज मिलिशिया ने विरोध प्रदर्शनों का जवाब न केवल पानी की बौछारों व आंसूगैस से दिया, बल्कि कुछ मामलों में गोला-बारूद का भी प्रयोग किया.

प्रदर्शनकारियों के विरूद्ध हिंसा का हुआ इस्तेमाल: UNHRC

संयुक्त देश मानवाधिकार ऑफिस के अनुसार, कई वीडियो साबित करते हैं कि प्रदर्शनकारियों के विरूद्ध गंभीर हिंसा का प्रयोग किया गया था, जिसमें एक शहर में एक न्याय विभाग की इमारत की छत से व दूसरे में हेलीकॉप्टरों से प्रदर्शनकारियों को निशाना बनाया गया.

बाचेलेत ने बोला कि हमें वह फुटेज भी मिला है जो सुरक्षा बलों को निहत्थे प्रदर्शनकारियों को पीछे से गोली मारते हुए दिखा रहा है, जबकि वे भाग रहे थे. बाचेलेत ने ईरानी अधिकारियों को प्रदर्शनकारियों को रिहा करने के लिए कहा, जिन्हें मनमाने ढंग से गिरफ्तार किया गया है.