अफगानिस्तान पहुंचे Imran Khan का विरोध-प्रदर्शन से हुआ स्वागत

अफगानिस्तान पहुंचे Imran Khan का विरोध-प्रदर्शन से हुआ स्वागत

काबुल: पाक के पीएम इमरान खान (Imran Khan) की यात्रा को लेकर अफगानिस्तान (Afghanistan) में विरोध-प्रदर्शन हो रहे हैं गुरुवार को भारी संख्या में लोगों ने काबुल की सड़कों पर उतरकर पाक के विरूद्ध नारेबाजी की प्रदर्शनकारियों के हाथों में बैनर और पोस्टर थे, जिन पर लिखा था, 'पाकिस्तान आतंकवाद का जनक, प्रायोजक और निर्यातक है’ 

कई स्थान प्रदर्शन
प्रदर्शनकारियों ने पाक विरोधी नारे लगाये और बोला कि पाक को हिंसा फैलाना बंद करना चाहिए बता दें कि पाकिस्तानी पीएम इमरान खान अपने कुछ मंत्रियों के साथ अफगानिस्तान दौरे पर हैं वैसे, इस तरह के प्रदर्शन केवल काबुल में ही नहीं दक्षिण पश्चिम पाकटिया और खोस्ट प्रदेश में भी हो रहे हैं  

अस्थिर करना चाहता है पाक
इमरान खान अफगान राष्ट्रपति अशरफ गनी (Ashraf Ghani) के साथ शांति प्रक्रिया और द्विपक्षीय संबंधों पर चर्चा के लिए अपनी पहली आधिकारिक यात्रा पर गुरुवार को काबुल पहुंचे हैं इमरान का दौरा ऐसे समय हुआ है जब अफगान और तालिबान (Taliban) के बीच चल रही वार्ता के बावजूद हिंसा जारी है लंबे समय से यह माना जाता रहा है कि पाक अफगानिस्तान को अस्थिर करने के लिए वहां आतंकवादी गतिविधियों को अंजाम देता है

शांति का ढोंग कर रहे इमरान 
संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद (UNSC) की एक रिपोर्ट के अनुसार, अफगानिस्तान में सक्रिय 6,500 पाकिस्तानी आतंकियों में से अधिकतर तहरीक-ए-तालिबान पाक (टीटीपी) के हैं अफगान के लोग भी यह मानते हैं कि उनके देश में होने वाली आतंकवादी गतिविधियों में पाक का हाथ है इसलिए वह इमरान की यात्रा का विरोध कर रहे हैं उनका बोलना है कि इमरान यहां शांति के प्रयासों का ढोंग करने के लिए आये हैं

EFSAS की रिपोर्ट ने दिखाई सच्चाई
हाल ही में यूरोपीय थिंक टैंक यूरोपीयन फाउंडेशन फॉर साउथ एशियन स्टडीज (EFSAS) की रिपोर्ट में भी यही दर्शाया गया था कि पाक अफगानिस्तान में चल रही तालिबानी हिंसा को भड़काने की प्रयास कर रहा है मालूम हो कि अफगान सरकार की तालिबान से शांति बातचीत चल रही है, लेकिन तालिबान ने पूरी तरह से युद्ध विराम नहीं किया है पाक तालिबान से शांति बातचीत में अहम किरदार निभा रहा है


चीन का दावा, एससीओ बैठक में भारत से सकारात्मक संकेत, कई मुद्दों पर पहुंचे आम सहमति पर

चीन का दावा, एससीओ बैठक में भारत से सकारात्मक संकेत, कई मुद्दों पर पहुंचे आम सहमति पर

बीजिंग। चीन ने कहा कि शंघाई सहयोग संगठन (SCO) के सरकारों के प्रमुखों की वर्चुअल बैठक में मेजबान भारत की ओर से कई सकारात्मक संकेत दिए गए हैं। नेता कई मुद्दों पर आम सहमति तक पहुंच रहे हैं। चीन के प्रधानमंत्री ली कीपांग ने सोमवार को इस बैठक में शिरकत की। इसमें ब्लॉक के आठ सदस्य शामिल हुए और उप राष्ट्रपति एम.वेंकैया नायडु ने बैठक को संबोधित किया।

व्यापार, निवेश और सांस्कृतिक क्षेत्रों में सहयोग बढ़ाने की हुई बात

शंघाई सहयोग संगठन के सरकारों के प्रमुखों की बैठक के नतीजों को चीन कैसे देखता है पूछे जाने पर चीनी विदेश मंत्रालय की प्रवक्ता हुआ यूइंग ने कहा कि हाल के एससीओ बैठक के निष्कर्षो को अमल में लाने पर विचार किया गया। कोविड-19, व्यापार, निवेश और सांस्कृतिक क्षेत्रों में सहयोग बढ़ाने की भी बात हुई।

पूर्व की बैठक में पीएम मोदी और शी जिनपिंग भी हुए थे शामिल

इस महीने की शुरुआत में चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एससीओ की शिखर बैठक में शामिल हुए थे। इस वर्चुअल बैठक की मेजबानी रूस ने की थी। हुआ ने सोमवार की बैठक का जिक्र करते हुए कहा कि कई मुद्दों पर सहमति बनी है। कई सकारात्मक संकेत मिले हैं। कोविड-19 के खिलाफ जंग में एकजुटता नजर आई। सभी ने शंघाई की भावना को बरकरार रखने पर सहमति जताई।


रूस में कोरोना से नहीं रुक रहीं मौतें, दूसरे देशों से कोरोना से जुड़ी दवाओं को आयात करने मे जुटी सरकार       चीन का दावा, एससीओ बैठक में भारत से सकारात्मक संकेत, कई मुद्दों पर पहुंचे आम सहमति पर       Ind vs Aus 3rd ODI: तीसरे ODI में विराट अगर टॉस हारे तो जीतना हो सकता है मुश्किल, जानिए क्यों       पुलिस ने सुपर कार से पहुंचाई अस्पताल को किडनी, सफलता से हुआ मरीज का ट्रांसप्लांट       WhatsApp में आया कमाल का फीचर, बदल जाएगा चैटिंग का अंदाज, ऐसे कर पाएंगे इस्तेमाल       02 दिसंबर 2020 का राशिफल: सिंह राशि वालों के धन, सम्मान, यश और कीर्ति में वृद्धि होगी, दांपत्य जीवन सुखद होगा       LPG Gas Cylinder Price: दिसंबर में रसोई गैस मिलेंगे इस दाम पर, यहां से फटाफट कर सकते हैं चेक       Most Searched Celebrities In 2020: सबसे अधिक सर्च किये गये सुशांत सिंह राजपूत, जानिए रिया चक्रवर्ती की पोजिशन       कब है काल भैरव जयंती, जानें कैसा हुआ था इनका अवतरण       यूपी के प्राइवेट अस्पतालों तथा लैब में अब बेहद सस्‍ते में होगा Covid 19 Test, तीन गुना दाम घटाए, देखें शासनादेश       स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा, साइड इफेक्ट के दावे के बावजूद जारी रहेगा ट्रायल, सभी को वैक्‍सीन देने की जरूरत नहीं       BJP के सहयोगी दल ने अमित शाह को लिखा पत्र- कृषि कानून वापस लो, अन्यथा नाता तोड़ लेंगे       यहाँ फूटा ज्वालामुखी, आसमान में चार किलोमीटर तक उठा धुआं, वीडियो देख रह जाएंगे दंग...       ऑनलाइन सुनवाई के दौरान बिना शर्ट पहने पहुंच गया युवक, फिर फूटा जज साहब का गुस्सा और फिर...       कतर में लाखों की सैलरी छोड़ छत पर कमल उगाना शुरू किया, आज विदेशों से मिल रहे ऑर्डर       अरुणाचल में ब्रह्मपुत्र पर बनेगा बड़ा बांध, चीन के पानी छोड़ने पर पूर्वोत्तर को बाढ़ से बचाएगा       मोटापा कम करने के इससे बेहतरीन घरेलू उपाय आसानी से नहीं मिलेंगे, देखें पूरी खबर...       जीवन को सुखमय बनाने के लिए अपने पार्टनर से शारीरिक संबंध कब और कितनी बार बनाएँ , जानें यहाँ बेस्ट सेक्स टाइम...       ये हैं बेहद अच्छे एक्सरसाइज, इनसे बनाएं अपने परफेक्ट एब्स...       जब ना खुले ‘हाय ब्लड प्रेशर’ का ताला, तो आयुर्वेद की चाबी दिखाएगी अपना जादू