हाफिज सईद को इस मुद्दे में आतंकवाद रोधी न्यायालय में किया पेश

हाफिज सईद को इस मुद्दे में आतंकवाद रोधी न्यायालय में किया पेश

मुंबई हमलों के मास्टरमाइंड व प्रतिबंधित संगठन जामत-उद-दावा के मुखिया हाफिज सईद को लाहौर की आतंकवाद रोधी न्यायालय के समक्ष आतंकवादी फंडिंग के मुद्दे में पेश किया गया. उसे न्यायालय इसलिए आरोपित नहीं कर पाई क्योंकि ऑफिसर सह-अभियुक्त मलिक जफर को न्यायालय में पेश नहीं कर पाए.

मलिक जफर इकबाल को कारागार से पेश नहीं किया

मामले की अगली सुनवाई अब 11 दिसंबर को होनी है. इसमें हाफिज सईद व मलिक जफर इकबाल के विरूद्ध आरोप तय किए जाएंगे. न्यायालय के एक ऑफिसर ने सुनवाई के बाद बोला कि पंजाब पुलिस हाफिज के विरूद्ध आतंकवाद वित्त पोषण के विषय में आतंकवाद रोधी अदालत-1 में आरोप तय किए थे. आश्चर्यजनक रूप से सह-आरोपी मलिक जफर इकबाल को कारागार से पेश नहीं किया गया. इस कारण मुद्दे के आरोप तय करने के लिए 11 दिसंबर को सुनवाई की जाएगी.

जेल से उच्च सुरक्षा के बीच न्यायालय लाया गया

सईद को लाहौर की कोट लखपत कारागार से उच्च सुरक्षा के बीच न्यायालय लाया गया था. इस दौरान पत्रकारों को सुरक्षा कारणों से सुनवाई की रिपोर्टिंग करने के लिए न्यायालय परिसर में प्रवेश करने की अनुमति नहीं होगी. न्यायालय के ऑफिसर के अनुसार न्यायाधीश अरशद हुसैन भुट्टा ने अधिकारियों को यह सुनिश्चित करने के आदेश दिया कि इकबाल 11 दिसंबर को अगली सुनवाई में पेश हो.