अमेरिका में फेडरल जज बनने वाले पहले मुस्लिम बने जाहिद कुरैशी

अमेरिका में फेडरल जज बनने वाले पहले मुस्लिम बने जाहिद कुरैशी

अमेरिकी सीनेट ने पाकिस्तानी मूल के अमेरिकी जाहिद कुरैशी की न्यू जर्सी के जिला न्यायालय में ऐतिहासिक नियुक्ति को स्वीकृति दे दी है स्वीकृति के साथ जाहिद कुरैशी देश के इतिहास में पहला मुस्लिम फेडरल जज बनने का रास्ता साफ हो गया गुरुवार को हुए मतदान में 46 वर्षीय जाहिद के पक्ष में 81 मतदान पड़े जबकि विरोध में 16. वर्तमान में कुरैशी डिस्ट्रिक्ट ऑफ न्यू जर्सी के मजिस्ट्रेट जज पद पर तैनात हैं, लेकिन न्यू जर्सी के अमेरिकी डिस्ट्रिक्ट न्यायालय के जज के तौर पर उनके शपथ ग्रहण के साथ एक नया इतिहास बन जाएगा

अमेरिका में पहली बार मुस्लिम फेडरल जज

2019 में, कुरैशी डिस्ट्रिक्ट ऑफ न्यू जर्सी के मजिस्ट्रेट जज बननेवाले पहले एशियाई अमेरिकी बने थे सीनेटर रॉबर्ट मेनेडेज ने मतदान से पहले एक सम्बोधन में कहा, "जज कुरैशी ने अपना कैरियर हमारे देश की सेवा में समर्पित किया है, हमें उनकी कहानी से सीख लेनी चाहिए क्योंकि ये ऐसी कहानी है जो केवल अमेरिका में संभव है "

कौन हैं जज जाहिद कुरैशी?

जाहिद कुरैशी का जन्म पाकिस्तानी अप्रवासी परिवार में न्यूयॉर्क सिटी में हुआ था उनकी भर्ती अमेरिकी सेना में 9/11 हमले के बाद हुई और उन्होंने दो बार इराक की यात्रा की 2019 में डिस्ट्रिक्ट ऑफ न्यू जर्सी के पहली बार एशियाई-अमेरिकी मजिस्ट्रेट जज बनने पर उसे 'चौंकानेवाला' बताया था कुरैशी के पिता निसार मृत्यु के आखिर तक डॉक्टर के तौर पर सेवा अंजाम देते रहे पिछले वर्ष Covid-19 की जटिलताओं के कारण 73 वर्ष की आयु में उनकी मृत्यु हो गई

निसार ने डॉक्टरी की पढ़ाई ढाका यूनिवर्सिटी से पूरी की थी उस समय उसे पूर्वी पाक का भाग था और अब बांग्लादेश का है कुरैशी की नियुक्ति को ऐतिहासिक बताया जा रहा है लेकिन कुछ मुस्लिम समूह के बीच जज बनने से पहले उनके कार्य पर शंकाएं भी बरकरार हैं अमेरिकी बार एसोसिएशन ने बोला है कि नियुक्ति संघीय बेंच पर मुस्लिमों के उचित अगुवाई को सुनिश्चित करने की दिशा में जरूरी पहला कदम है


दक्षिण कोरिया समेत कई देशों में बढ़ रहा डेल्‍टा वैरिएंट का दायरा

दक्षिण कोरिया समेत कई देशों में बढ़ रहा डेल्‍टा वैरिएंट का दायरा

देश और दुनिया में कोरोना संक्रमण के मामले लगातार बढ़ रहे हैं। कई देशों में सामने आ रहे डेल्‍टा वैरिएंट के मामलों ने चिंता को बढ़ाने का काम किया है। आपको बता दें कि पिछले सप्‍ताह ही विश्‍व स्‍वास्‍थ्‍य संगठन ने इस बात की पुष्टि की थी कि दुनिया के 132 देशों में डेल्‍टा वैरिएंट के मामले सामने आ चुके हैं और विश्‍व के 29 देश ऑक्‍सीजन की किल्‍लत झेल रहे हैं। विश्‍व स्‍वास्‍थ्‍य संगठन लगातार इसको लेकर दुनिया के देशों को आगाह कर रहा है। आइये डालते हैं विश्‍व में कोरोना मामलों की स्थिति पर एक नजर :-

दक्षिण कोरिया में बीते 24 घंटों के दौरान कोरोना के 1725 नए मामले सामने आए हैं। पिछले दिन की तुलना में ताजा मामलों में करीब 1200 मामलों की तेजी आई है। देश में अब कोरोना के कुल मामलों की संख्‍या 203926 हो गई है। सिओल और गियांगी प्रांत से सबसे अधिक मामले सामने आ रहे हैं। एएनआई के मुताबिक दक्षिण कोरिया में डेल्‍टा वैरिएंट के मामले सामने आने के बाद सरकार की चिंता बढ़ गई है। यहां वैक्‍सीन के लिए योग्‍य लोगों की करीब 39 फीसद आबादी को इसकी खुराक दी जा चुकी है।


नेपाल में डेल्‍टा वैरिएंट के चलते जो मामले बढ़ रहे हैं उसकी वजह से दिक्‍कतें बढ़ गई हैं। इसको देखते हुए सुकराराज ट्रॉपिकल एंड इंफेक्शियस डिजीज अस्‍पताल में अस्‍थायी व्‍यवस्‍था की गई है जहां पर मरीजों को रखा जा सकता है। यहां पर मरीजों के लिए ऑक्‍सीजन सिलेंडर की भी व्‍यवस्‍था की गई है।

रायटर के मुताबिक थाईलैंड में बीते 24 घंटों के दौरान 20200 नए मामले सामने आए हैं और 188 मरीजों की मौत भी हुई है। यहां पर कोरोना के कुल मामले अब बढ़कर 672385 हो गए हैं।


जापान की राजधानी टोक्‍यो में 3709 नए मामले सामने आए हैं। आपको बता दें कि यहां पर ओलंपिक गेम्‍स चल रहे हैं। लगातार पांचवें दिन 3 हजार से अधिक मामले सामने आने के बाद सरकार की चिंता बढ़ गई है। रायटर ने बताया है कि जापान में सरकार विवादित नई कोरोना पॉलिसी को वापस लेने पर विचार कर रही है। इस पॉलिसी के तहत कम गंभीर वाले मामलों वाले रोगियों को भी अस्‍पताल में ही आइसोलेट होने का निर्देश दिया गया था। अब सरकार ने इस पर विवाद होने के बाद इसको वापस लेने का संकेत दे दिया है। सरकार इस बारे में फैसला ले सकती है कि ऐसे मरीजों को घर पर ही आइसोलेट रहने दिया जाए।


तुर्की में बीते 24 घंटों के दौरान कोरोना के 24832 नए मामले सामने आए हैं। इसके बाद यहां पर इसके कुल मामले बढ़कर 5795665 हो गए हैं। इस दौरान देश में 126 मरीजों की मौत भी हुई है।

इजरायल में बीते 24 घंटों के दौरान 3460 नए मामले सामने आए हैं जिसके बाद यहां पर कुल मामले बढ़कर 882391 हो गए हैं। इस दौरान देश में 9 मरीजों की मौत भी हुई है।

मैक्सिको में बीते 24 घंटों के दौरान 18911 नए मामले सामने आए हैं और 657 मरीजों की मौत हुई है। यहां पर कोरोना के कुल मामले 2880409 हैं जबकि कुल मौतों की संख्‍या 241936 है।

चीन के राज वाले मकाऊ में कोरोना के चार मामले सामने आने के बाद यहां के 6 लाख लोगों की टेस्टिंग कराने की शुरुआत की जा चुकी है।

लेबनान में मंगलवार को 1240 नए मामले सामने आए हैं जिसके बाद यहां पर इसके कुल मामले 564364 हो गए हैं। यहां पर इस वायरस की वजह से अब तक 7917 मरीजों की मौत हो चुकी है।

भारत की बात करें तो एएनआई के मुताबिक यहां पर सोमवार के मुकाबले मंगलवार को कोरोना संक्रमण के मामलों में करीब 12 हजार से अधिक की तेजी आई है। वहीं मौतें भी बढ़ी हैं। स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय के मुतबिक देश में बीते 24 घंटों के दौरान कोरोना संक्रमण के कुल 42625 नए मामले सामने आए हैं जबकि 562 मौतें हुई हैं। आईएएनएस के मुताबिक तमिलनाडु ने कोरोना वैक्‍सीन की 79 लाख खुराक मिलने की पुष्टि की है। सरकार का कहना है कि इसमें से 17 लाख खुराक प्राइवेट सेक्‍टर को दी जाएंगी और बाकी सरकार इस्‍तेमाल में लाएगी।