डोनाल्ड ट्रंप : जब तक वह अमेरिका के राष्ट्रपति हैं, ईरान परमाणु हथियार नहीं कर पाएगा हासिल

डोनाल्ड ट्रंप : जब तक वह अमेरिका के राष्ट्रपति हैं, ईरान परमाणु हथियार नहीं कर पाएगा हासिल

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) ने ईरान (Iran) के हमले के बाद बुधवार को देश को संबोधित किया। अपने संबोधन में ट्रंप ने बोला है कि अमेरिकी बेस पर ईरान के हमले के बावजूद सभी सैनिक सुरक्षित हैं व कोई नुकसान नहीं हुआ है। उन्होंने यह भी दोहराया कि जब तक वह अमेरिका के राष्ट्रपति हैं, ईरान परमाणु हथियार हासिल नहीं कर पाएगा।  

ट्रंप ने देश के नाम संदेश में कहा, "कल रात के हमले में सभी नागरिक व सैनिक सुरक्षित हैं। हमारी सेना किसी भी चुनौती के लिए तैयार है। ईरान का पीछे हटना पूरी संसार के लिए एक अच्छा इशारा है। मैं अमेरिका के सभी सैनिकों की हौसला को सलाम करता हूं। ईरान आतंक का केन्द्र है व संसार को परमाणु हमले की धमकी देता रहता है। हमने इसे समाप्त करने की प्रयास की है। मेरे आदेश पर अमेरिकी सेना ने जनकल कासिम सुलेमानी को मारा। उन पर कई तरह के अत्याचारों का आरोप था। उन्होंने कई अमेरिकियों की मर्डर की व आगे भी ऐसा ही करना का इरादा था। सुलेमानी को पहले ही मार देना चाहिए था। सुलेमानी राक्षस था। " 

ईरान पर नए प्रतिबंध लगाने का इशारा देते हुए ट्रंप ने कहा, "ईरान पर प्रतिबंध जारी रहेंगे। नए आर्थिक प्रतिबंध भी लगाए जांएगे। जब तक ईरान शांति की राह पर नहीं आता।   ईरान को अपना परमाणु प्रोग्राम छोड़ना होगा। रूस, चीन, ब्रिटेन व फ्रांस को ये सच्चाई समझनी होगी। हमें मिलकर ईरान से लड़ना होगा ताकि संसार को ज्यादा सुरक्षित व शांत बनाया जा सके। आज मैं नाटो को बोलने वाला हूं वो मध्य एशिया में ज्यादा कार्य करें। " 

ट्रंप ने कहा, "मेरे कार्यकाल में अमेरिका की सेना ज्य़ादा मजबूत हुई है व इस पर हमने ढाई ट्रिलियन डॉलर्स खर्च किए हैं। हमारे पास परमाणु हथियार हैं लेकिन हम उसका प्रयोग नहीं करना चाहते। हमारी सैन्य ताकत व आर्थिक ताकत की हमारा सबसे बड़ा हथियार है । कुछ हफ्तों पहले हमने अबु बक्र अल बगदादी को भी मारा था। " 

राष्ट्रपति ट्रंप ने कहा, "हमें मिडिल ईस्ट से ऑयल की आवश्यकता नहीं। ईरान को परमाणु रास्ते से हटन होगा। ईरान आतंकवाद छोड़े तो अमेरिका शांति के लिए तैयार है। ईरान पीछे हैट रहा है जो अच्छा है। ईरान के रवैये को बहुत समय से झेला जा रहा है। "