युद्ध के लिए हम तैयार हैं, चीन की सेना PLA ने ताइवान को दी धमकी

युद्ध के लिए हम तैयार हैं, चीन की सेना PLA ने ताइवान को दी धमकी

चीनी सेना ने ताइवान के विरूद्ध प्रॉपगैंडा वॉर छेड़ते हुए धमकियों भरे कई पोस्टर और वीडियो जारी किए हैं. इनमें ताइवान को चीनी भाषा में 'युद्ध के लिए तैयार' रहने की धमकी दी है. इतना ही नहीं, चीनी सैनिकों को हथियारों और जंगी साजोसामान के साथ दिखाया गया है. कई पोस्टरों में मिसाइल, टैंक जैसे हथियारों को लाइव फायर करते हुए भी दिखाया गया है. इन तस्वीरों और वीडियो को पीएलए 80वीं ग्रुप आर्मी के प्रॉपगैंडा विंग ने जारी किया है.

इन पोस्टरों और वीडियोज को चाइना की सोशल मीडिया वीबो और वीचैट पर बहुत ज्यादा बड़ी संख्या में शेयर किया जा रहा है. जिसमें ताइवान को युद्ध के लिए कड़ी चेतावनी दी गई है. ताइवान के समीप स्थित चाइना के शानदोंग प्रांत में तैनात 80वीं ग्रुप आर्मी के जवानों को भी एक ब्रिगेड शपथ ग्रहण कार्यक्रम में भाग लेते दिखाया गया है. इन तस्वीरों में वर्दीधारी चीनी सैनिक मिसाइल, रॉकेट और टैंकों के साथ दिखाई दे रहे हैं.



इस प्रॉपगैंडा तस्वीरों के अनुसार, चीनी सेना के जवानों ने शपथग्रहण कार्यक्रम में 'सभी आज्ञाओं का पालन करने' और 'किसी भी चुनौती से नहीं डरने' की शपथ ली. बताया गया कि सैनिकों ने बोला कि वे मृत्यु के डर के बिना सम्मान से लड़ने के लिए प्रतिबद्ध हैं. इन पोस्टरों को 80वीं ग्रुप आर्मी पोलिटिकल वर्क्स डिपार्टमेंट ने तैयार किया था. यह डिपार्टमेंट ताइवान से खुफिया सूचनाओं को प्राप्त करने और वहां के लोगों के मन में चाइना के प्रति आदर जगाने के लिए कार्य करता है.



इसी डिपार्टमेंट के जरिए चीनी सेना अपने विरोधी राष्ट्रों के बॉर्डर पर रेडियो स्टेशन चलवाती है. इसके जरिए वह शत्रु राष्ट्रों की संस्कृति में घुसपैठ करने और वहां के लोगों में अपने प्रति नकारात्मकता समाप्त करने की प्रयास करती है. रेडियो के जरिए चीनी सेना कम्युनिस्ट विचारधारा का प्रचार भी करती है. चाइना ने ऐसे ही पांच रेडियो स्टेशन फुजियान प्रांत में स्थापित किया हुआ है, जो ताइवान में लोगों को चाइना के प्रति निष्ठावान बनाने का कार्य करती है.



चीनी सेना ने जो वीडियो जारी किया है, उसमें पैदल सेना, टैंक और रॉकेट के धमाकों के फुटेज भी शामिल हैं. इन वीडियोज को मंडारिन और दक्षिणी मिन बोली में जारी किया गया है. यह दोनों ही ताइवान में बहुत ज्यादा व्यापक रूप से बोली जाती हैं. ताइवान कभी भी चाइना के झंडे के नीचे शासित नहीं रहा है. इसके बावजूद चाइना हमेशा से ही इस देश को अपना भाग बताता रहा है.


दक्षिण कोरिया समेत कई देशों में बढ़ रहा डेल्‍टा वैरिएंट का दायरा

दक्षिण कोरिया समेत कई देशों में बढ़ रहा डेल्‍टा वैरिएंट का दायरा

देश और दुनिया में कोरोना संक्रमण के मामले लगातार बढ़ रहे हैं। कई देशों में सामने आ रहे डेल्‍टा वैरिएंट के मामलों ने चिंता को बढ़ाने का काम किया है। आपको बता दें कि पिछले सप्‍ताह ही विश्‍व स्‍वास्‍थ्‍य संगठन ने इस बात की पुष्टि की थी कि दुनिया के 132 देशों में डेल्‍टा वैरिएंट के मामले सामने आ चुके हैं और विश्‍व के 29 देश ऑक्‍सीजन की किल्‍लत झेल रहे हैं। विश्‍व स्‍वास्‍थ्‍य संगठन लगातार इसको लेकर दुनिया के देशों को आगाह कर रहा है। आइये डालते हैं विश्‍व में कोरोना मामलों की स्थिति पर एक नजर :-

दक्षिण कोरिया में बीते 24 घंटों के दौरान कोरोना के 1725 नए मामले सामने आए हैं। पिछले दिन की तुलना में ताजा मामलों में करीब 1200 मामलों की तेजी आई है। देश में अब कोरोना के कुल मामलों की संख्‍या 203926 हो गई है। सिओल और गियांगी प्रांत से सबसे अधिक मामले सामने आ रहे हैं। एएनआई के मुताबिक दक्षिण कोरिया में डेल्‍टा वैरिएंट के मामले सामने आने के बाद सरकार की चिंता बढ़ गई है। यहां वैक्‍सीन के लिए योग्‍य लोगों की करीब 39 फीसद आबादी को इसकी खुराक दी जा चुकी है।


नेपाल में डेल्‍टा वैरिएंट के चलते जो मामले बढ़ रहे हैं उसकी वजह से दिक्‍कतें बढ़ गई हैं। इसको देखते हुए सुकराराज ट्रॉपिकल एंड इंफेक्शियस डिजीज अस्‍पताल में अस्‍थायी व्‍यवस्‍था की गई है जहां पर मरीजों को रखा जा सकता है। यहां पर मरीजों के लिए ऑक्‍सीजन सिलेंडर की भी व्‍यवस्‍था की गई है।

रायटर के मुताबिक थाईलैंड में बीते 24 घंटों के दौरान 20200 नए मामले सामने आए हैं और 188 मरीजों की मौत भी हुई है। यहां पर कोरोना के कुल मामले अब बढ़कर 672385 हो गए हैं।


जापान की राजधानी टोक्‍यो में 3709 नए मामले सामने आए हैं। आपको बता दें कि यहां पर ओलंपिक गेम्‍स चल रहे हैं। लगातार पांचवें दिन 3 हजार से अधिक मामले सामने आने के बाद सरकार की चिंता बढ़ गई है। रायटर ने बताया है कि जापान में सरकार विवादित नई कोरोना पॉलिसी को वापस लेने पर विचार कर रही है। इस पॉलिसी के तहत कम गंभीर वाले मामलों वाले रोगियों को भी अस्‍पताल में ही आइसोलेट होने का निर्देश दिया गया था। अब सरकार ने इस पर विवाद होने के बाद इसको वापस लेने का संकेत दे दिया है। सरकार इस बारे में फैसला ले सकती है कि ऐसे मरीजों को घर पर ही आइसोलेट रहने दिया जाए।


तुर्की में बीते 24 घंटों के दौरान कोरोना के 24832 नए मामले सामने आए हैं। इसके बाद यहां पर इसके कुल मामले बढ़कर 5795665 हो गए हैं। इस दौरान देश में 126 मरीजों की मौत भी हुई है।

इजरायल में बीते 24 घंटों के दौरान 3460 नए मामले सामने आए हैं जिसके बाद यहां पर कुल मामले बढ़कर 882391 हो गए हैं। इस दौरान देश में 9 मरीजों की मौत भी हुई है।

मैक्सिको में बीते 24 घंटों के दौरान 18911 नए मामले सामने आए हैं और 657 मरीजों की मौत हुई है। यहां पर कोरोना के कुल मामले 2880409 हैं जबकि कुल मौतों की संख्‍या 241936 है।

चीन के राज वाले मकाऊ में कोरोना के चार मामले सामने आने के बाद यहां के 6 लाख लोगों की टेस्टिंग कराने की शुरुआत की जा चुकी है।

लेबनान में मंगलवार को 1240 नए मामले सामने आए हैं जिसके बाद यहां पर इसके कुल मामले 564364 हो गए हैं। यहां पर इस वायरस की वजह से अब तक 7917 मरीजों की मौत हो चुकी है।

भारत की बात करें तो एएनआई के मुताबिक यहां पर सोमवार के मुकाबले मंगलवार को कोरोना संक्रमण के मामलों में करीब 12 हजार से अधिक की तेजी आई है। वहीं मौतें भी बढ़ी हैं। स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय के मुतबिक देश में बीते 24 घंटों के दौरान कोरोना संक्रमण के कुल 42625 नए मामले सामने आए हैं जबकि 562 मौतें हुई हैं। आईएएनएस के मुताबिक तमिलनाडु ने कोरोना वैक्‍सीन की 79 लाख खुराक मिलने की पुष्टि की है। सरकार का कहना है कि इसमें से 17 लाख खुराक प्राइवेट सेक्‍टर को दी जाएंगी और बाकी सरकार इस्‍तेमाल में लाएगी।