अमेरिकी विशेष दूत बातचीत के लिए आकस्मित पहुंचे काबुल

अमेरिकी विशेष दूत बातचीत के लिए आकस्मित पहुंचे काबुल

अमेरिकी विशेष दूत जलमय खलीलजाद तालिबान के साथ चल रही बातचीत के लिए आकस्मित काबुल पहुंच गए हैं। अफगानिस्तान के पूर्व उप विदेश मंत्री ने यह जानकारी देते हुए बताया कि वे यहां ट्रंप की यात्रा के बाद एक बार फिर शांति बातचीत की प्रयास में आए हैं। काबुल स्थित प्रयत्न एवं शांति अध्ययन केन्द्र के अध्यक्ष हेकमत करजई ने भी एक ट्वीट में ‘आगे के रास्ते’ के बारे में खलीलजाद से बातचीत की पुष्टि की।

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार तालिबान के ऑफिसर ने पहचान उजागर न करने की शर्त पर बताया कि उसके संगठन ने अमेरिकियों के साथ अनौपचारिक वार्ता की है. हालांकि, वार्ता कहां हुई व उसमें कौन शामिल हो रहा है, इसका उसने खुलासा नहीं किया। खलीलजाद का काबुल दौरा अमेरिकी राष्ट्रपति के अफगानिस्तान स्थित अमेरिकी सैन्य ठिकाने के दौरे के कुछ दिनों बाद हो रहा है। ट्रंप ने तालिबान से दोबारा बातचीत प्रारम्भ करने के इशारा दे चुके हैं। उन्होंने बोला कि तालिबान हाल के महीनों में अमेरिका की ओर से की जारी गोलाबारी के कारण समझौता चाहता है। तालिबान ऑफिसर ने बोला कि अमेरिका प्रयत्न विराम के लिए दबाव बना रहा है।

 

आपकी जानकारी के लिए बता दे कि , हिंसा के कम होने की कोई आधिकारिक घोषणा नहीं की गई है। हाल के सप्ताहों में शहरों पर तालिबान के हमलों में कमी आई है। इस बीच, तालिबान ने बुधवार की गोलीबारी से मना किया जिसमें पांच अफगानियों सहित जापानी नागरिक डाक्टर तेत्सु नाकामुरा की मृत्यु हो गई थी।