अमेरिका ने दी ईरान को बड़ी धमकी कहा - 'सभी सांस्कृतिक व ऐतिहासिक चीजें पर कर सकते है हमला'

अमेरिका ने दी ईरान को बड़ी धमकी कहा -  'सभी सांस्कृतिक व ऐतिहासिक चीजें पर कर सकते है हमला'

 कुछ समय पहले अमेरिका ने जब ईरानी कमांडर कासिम सुलेमानी को ड्रोन हमले में मार गिराया उसके बाद ईरान ने भी अमेरिका पर हमला करने की धमकी दी। जिसके बाद अमेरिका की ओर से बोला गया कि ईरान की सभी सांस्कृतिक व ऐतिहासिक चीजें उसके निशाने पर हैं, यदि ईरान ने उसके किसी भी सैनिक या ठिकाने पर हमला किया तो वो उसके इन सभी ठिकानों पर हमला करके उसे नेस्तानाबूत किया जाएगा। लेकिन ईरान में ऐतिहासिक महत्व की कई जगहें हैं, इनमें से 20 से ज्यादा चीजों को यूनेस्को से दुनिया धरोहर का दर्जा प्राप्त है।

Naqsh-e Jahan Square: सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार इस बात का पता चला है कि संसार में सबसे बड़े सिटी स्क्वेयर्स में से एक है, नक्श-ए जहां स्क्वेयर। ये 17 वीं शताब्दी में बनी थी। ईरान में ये स्थान इसफहान शहर में स्थित है। नक्श-ए जहां स्क्वेयर में बनी इमाम मस्जिद (1979 की क्रांति के बाद इसका नाम बदला गया था)। इसे डिजाइन वाली सुंदर टाइल्स से बहुत ही करीने से सजाया गया है। यूनेस्को ने इसे भी दुनिया धरोहर का दर्जा दिया हुआ है।

Gulistan Palace: वहीं राजधानी तेहरान में बने गुलिस्तान पैलेस में शाही इमारतें बनी हैं जिनमें बहुत सुंदर कारीगरी से सजावट की गई है। इसमें 19 वीं सदी में कजर वंश का आधिकारिक निवास था। ये इमारत भी यहां देखने लायक है।

Persepolis Hakmani: हम आपकी जानकारी के लिए बता दें कि 515 ई। पू। में परसेपोलीस हखामनी साम्राज्य की राजधानी थी। इसे 1979 में यूनेस्को ने दुनिया धरोहर का दर्जा दिया था। उस समय की राजधानी होने के नाते इसका भी ऐतिहासिक महत्व है। इसमें 500 ई। पू। में हखामनी साम्राज्य के राजा दारा प्रथम को दिखाया गया है। बेहुस्तान शिलालेख एक बड़ी चट्टान पर उभरी हुई नक्काशी है जिसमें कई भाषाओं में लिखा गया है। यह सुमेरियन लेखन को समझने के लिए अहम थी, जो लेखन की एक प्रारंभिक प्रणाली थी।