मिली जानकारी के अनुसार मेट्रोपॉलिटन पुलिस ने बोला हमलावर था इस्लामिक आतंकवादी

मिली जानकारी के अनुसार मेट्रोपॉलिटन पुलिस ने बोला हमलावर था इस्लामिक आतंकवादी

दक्षिण लंदन में बीते रविवार यानी 2 फरवरी 2020 को भीड़ पर चाकू से हमला करने वाला युवक इस्लामिक आतंकवादी था। जंहा श्रीलंका से ताल्लुक रखने वाला यह युवक कुछ दिनों पहले ही आधी सजा पूरी करने के बाद कारागार से रिहा किया गया था। 

वहीं यह भी बोला जा रहा है कि पुलिस उस पर नजर रख रही थी। वहीं यह भी पता चला है कि इस हमले में तीन लोग गंभीर रूप से घायल हो गए थे। उधर, सजायाफ्ता इस्लामिक आतंकियों की कैद के मुद्दे में ब्रिटिश सरकार नियमों को बदलने जा रही है। गृह सचिव प्रीति पटेल ने बोला कि सरकार इस विषय में सोमवार को इस तरह के नियम जारी कर सकती है।

मिली जानकारी के अनुसार मेट्रोपॉलिटन पुलिस ने बोला कि 20 वर्षीय ब्रिटिश नागरिक सुदेश मामूर फराज अम्मान अंतर्राष्ट्रीय आतंकवादी संगठन इस्लामिक स्टेट (आइएस) से संबंध रखता है। अमेरिका स्थित जिहादी गतिविधियों पर निगरानी रखने वाले एक खुफिया समूह के मुताबिक अपनी अमाक प्रचार एजेंसी के माध्यम से आइएस ने अरबी भाषा में जारी एक बयान में इसकी पुष्टि भी की है।

उसने कहा, संगठन रविवार को लंदन में हुए हमले की जिम्मेदारी लेता है। सुदेश हमारा ही लड़ाका था। ' आपकी जानकारी के लिए हम आपकी जानकारी के लिए बताते चलें कि 10 आतंकवादी गतिविधियों में दोषी पाए जाने के बाद दिसंबर 2018 में उसे तीन वर्ष व चार महीने की कारागार की सजा सुनाई गई थी। उस समय उसकी आयु 18 साल थी। उसे पिछले महीने ही रिहा किया गया था। उस पर निगरानी रखी जा रही थी।