एक्सपर्ट से जानें क्या होता है पैनिक डिसऑर्डर, इसके लक्षण बचाव एवं उपचार के बारे में

एक्सपर्ट से जानें क्या होता है पैनिक डिसऑर्डर, इसके लक्षण बचाव एवं उपचार के बारे में

समझ नहीं आता कि अब क्या करें, कहां जाएं, अजीब मुसीबत है, इससे बाहर निकलने का कोई रास्ता ही नहीं सूझता...। कुछ लोग बातचीत के दौरान अकसर ऐसे वाक्यों का इस्तेमाल करते हैं। किसी बड़ी मुश्किल में पडऩे पर घबराहट महसूस होना स्वाभाविक है लेकिन मामूली समस्याएं देखकर अकसर ऐसी बातें करने वाले व्यक्ति को पैनिक डिसॉर्डर की समस्या हो सकती है।   

क्यों होता है ऐसा

परीक्षा से पहले घबराहट की वजह से कुछ छात्रों को पसीना आने लगता है तो कुछ लोग  भीड़ वाली जगहों पर जाने से बचते हैं। पैनिक डिसॉर्डर होने पर भी व्यक्ति में ऐसे लक्षण नज़र आ सकते हैं। एंग्ज़ायटी यानी चिंता इस मनोरोग की सबसे प्रमुख वजह है। जो लोग छोटी-छोटी बातों को लेकर बेवजह चिंतित रहते हैं, उन्हें यह मनोवैज्ञानिक समस्या हो सकती है। इसके अलावा, जिन लोगों की परवरिश अति संरक्षण भरे माहौल में होती है, उनका आत्मविश्वास विकसित नहीं हो पाता। ऐसे लोग खुद निर्णय लेने में सक्षम नहीं होते और आकस्मिक स्थितियों में बहुत ज्य़ादा घबरा जाते हैं। ऐसे लोगों में भी पैनिक डिसॉर्डर के लक्षण विकसित हो सकते हैं।      

प्रमुख लक्षण 

1. कमज़ोरी और अनावश्यक थकान

2. छोटी-छोटी बातों पर भी घबराहट की वजह से हाथ-पैर कांपना 

3. अधिक पसीना निकलना

4. आंखों के आगे अंधेरा छाना

5. बोलते वक्त ज़ुबान लड़खड़ाना

6. दिल की धड़कन बढऩा

क्या है वजह

पैनिक डिसॉर्डर के लिए कई अलग-अलग वजहें जि़म्मेदार हो सकती हैं। हर इंसान के व्यक्तित्व के कुछ ऐसे कमज़ोर पक्ष होते हैं, जिनकी वजह से उसे यह समस्या हो सकती है। चिंता, भय, घबराहट, गुस्सा, गहरी उदासी, शक की आदत और भावनात्मक असंतुलन जब एक सीमा से अधिक बढ़ जाए तो व्यक्ति में इस मनोवैज्ञानिक समस्या के लक्षण प्रकट हो सकते हैं। एल्कोहॉल या कैफीन का अधिक मात्रा में सेवन, लो ब्लड शुगर, थायरॉयड ग्लैंड की अत्यधिक सक्रियता या दिल से संबंधित कोई समस्या होने पर भी पैनिक अटैक की आशंका बढ़ जाती है।

क्या है उपचार

लक्षणों की गंभीरता को ध्यान में रखते हुए इस समस्या का उपचार किया जाता है। ज़रूरत पडऩे पर कुछ एंटी डिप्रेज़ेंट दवाएं दी जाती हैं। काउंसलिंग और कॉग्नेटिव बिहेवियर थेरेपी की मदद से पीडि़त व्यक्ति में यह समझ विकसित की जाती है कि जब भी कोई समस्या आए तो उससे घबराने के बजाय तार्किक ढंग से उसका हल ढूंढने की कोशिश करनी चाहिए। एक्सपोज़र थेरेपी बहुत कारगर साबित होती है। इसके ज़रिये विशेषज्ञ अपनी निगरानी के साथ सुरक्षित वातावरण में व्यक्ति को उन स्थितियों का सामना करना सिखाते हैं, जिनमें उसे घबराहट होती है। इसके अलावा, परिवार के सदस्यों की भी काउंसलिंग की जाती है। उपचार के छह महीने बाद ही मरीज़ के व्यवहार में पॉजि़टिव बदलाव नज़र आने लगता है।

कैसे करें बचाव      

1. अगर आपको अपने या परिवार के किसी सदस्य के व्यहार में इस समस्या से संबंधित कोई लक्षण नज़र आए, तो घबराने के बजाय शांतचित्त होकर उपचार के बारे में पॉजि़टिव ढंग से सोचें। 

2. उन स्थितियों, बातों या लोगों को पहचानें, जिनसे आपको परेशानी महसूस होती है।

3. अगर किसी भीड़ वाली जगह पर आपको बहुत घबराहट होती है तो वहां किसी करीबी व्यक्ति को साथ लेकर जाएं।

4. स्वस्थ और संतुलित खानपान अपनाएं।  

5. प्रियजनों से नियमित बातचीत करें क्योंकि अकेलापन भी इसकी बड़ी वजह है।

6. रोज़ाना आठ घंटे की नींद अवश्य लें।  

7. योगाभ्यास करें। अगर घबराहट हो तो गहरी सांस लें, इससे राहत महसूस होगी।

8. इन प्रयासों के बावज़ूद अगर समस्या दूर न हो तो किसी क्लिनिकल साइकोलॉजिस्ट से सलाह लें।  


यौन जीवन के साथ शरीर की लम्बाई बढ़ाने में भी सहायक है अश्वगंधा

यौन जीवन के साथ शरीर की लम्बाई बढ़ाने में भी सहायक है अश्वगंधा

यौन जीवन में अश्वगंधा बहुत ही गुणकारी आयुर्वेदिक औषधि है। लेकिन क्या आप ये जानते है कि अश्वगंधा के इस्तेमाल से छोटे कद को बढ़ाया जा सकता है, साथ ही ये आँखों की रोशनी बढ़ाने के काम भी आता है। अगर नहीं तो जान लें अश्वगंधा के प्रयोग से आपको क्या-क्या फायदे है। 

अश्वगंधा के प्रयोग से होने वाले फायदे:

यदि आपका कद बढ़ना रुक गया हो या जो अपनी लंबाई बढ़ाना चाहते हैं, वो एक गिलास दूध में दो चम्मच अश्वगंधा और एक चम्मच चीनी मिलाकर पिएं। ऐसा करने से आपको आपके कद में फर्क 

कैंसर जैसी घातक बीमारी से बचाव के लिए भी अश्वगंधा का प्रयोग किया जाता है, शरीर में कैंसर सेल्स के अनियंत्रित होकर बढ़ने से कैंसर की समस्या होती है। अश्वगंधा शरीर में कैंसर सेल्स को बढ़ने से रोकता है।

अगर आपको धुंधला नजर आता है तो इसके लिए आप अश्वगंधा को मुलेठी और आंवला के साथ समान मात्रा में पीस लें। इस पिसे हुए चूर्ण को रोजना एक चम्मच खाये, ऐसा करने से आपकी आँखों की रौशनी बढ़ेगी।


1,500 रुपये से कम कीमत में आते हैं ये शानदार नेकबैंड ईयरफोन       600mAh की पावरफुल बैटरी के साथ भारत में लॉन्च हुआ ZOOOK का नया वायरलेस माउस       महंगी हुईं आपकी चहेती Mahindra SUVs, जानिए कीमत       Volkswagen T-Roc की बुकिंग शुरू, जानिये कब से मिलेगी डिलीवरी       सिंगल चार्ज में 450 किलोमीटर दौड़ेगी Renault Megane-e SUV, जानें दमदार फीचर्स       Mahindra के बाद अब महंगी होंगी Tata की कारें, जानें नई कीमतें       Honda H’ness CB350 के दाम में फिर हुआ इजाफा, जानें कीमत       Husqvarna Vitpilen 701 स्पेशल एडिशन मॉडल से उठा पर्दा       Covid-19 महामारी के दौरान इमरजेंसी में अगर कार से कर रहे हैं लंबा सफर       सोने के दाम में तेजी, चांदी की कीमत काफी बढ़ी, जानें       IPL में मिले पैसों से अपने पिता का इलाज करवा रहा है ये युवा गेंदबाज, कहा...       IPL 2021 में हर टीम की तरफ से किस गेंदबाज ने लिए सबसे ज्यादा विकेट       इंग्लैंड दौरे और WTC Finals के लिए भारतीय टीम का ऐलान       CSK के इस गेंदबाज की IPL 2021 में जमकर हुई धुनाई       IPL बीच में हुआ स्थगित, अब किस टीम के खिलाफ और कहां मैच खेलेगी टीम इंडिया       Rishabh Pant की गर्लफ्रेंड Isha Negi ने इस खास अंदाज में कही दिल की बात       IPL: टीम के खिलाड़ियों के लिए दिया ये बड़ा 'बलिदान', सोशल मीडिया पर छा गए धोनी       भारतीय क्रिकेटरों को केवल कोविशील्ड वैक्सीन लेने की सलाह       आज हो सकता है भारतीय टेस्ट टीम का ऐलान       इस खिलाड़ी की वाइफ ने दी खुशखबरी, घर में आया ये नया मेहमान