आपको बार-बार हैंड सैनिटाइजर का इस्‍तेमाल करने से स्वास्थ्य को होंगे क्या नुकसान

 आपको बार-बार हैंड सैनिटाइजर का इस्‍तेमाल करने से स्वास्थ्य को होंगे क्या नुकसान

केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय (Union Ministry of Health and Family Welfare) की ओर से जारी आंकड़ों के मुताबिक, पिछले 24 घंटे में 6,566 नए मुद्दे सामने आए हैं व 194 लोगों की मृत्यु हुई है.

इसके बाद देशभर में कोरोना पॉजिटिव मामलों की कुल संख्या 1,58,333 हो गई है, जिनमें से 86,110 सक्रिय मुद्दे हैं, 67,692 लोग अच्छा हो चुके हैं या उन्हें अस्पताल से छुट्टी दे दी गई है व अब तक 4,531 लोगों की मृत्यु हो चुकी है. वहीं, आज राजस्थान में 131, कर्नाटक में 75, ओडिशा में 67और आंध्र प्रदेश में 54 नए मुद्दे दर्ज किए गए हैं. इस महामारी से बचने के लिए कोई दवा अभी तक नहीं बनी. इस वायरस से बचने का एक ही उपाय है साफ-सफाई. सैनिटाइजर के प्रयोग से सरलता से हाथों को साफ किया जा सकता है. अभी तक कोरोना से बचाव के लिए सैनिटाइजर का प्रयोग करने की सलाह दी जा रही थी. लेकिन क्या आप जानते हैं कि हैंड सैनिटाइजर का ज्यादा इस्तेमाल आपकी स्वास्थ्य को नुकसान पहुंचा सकता है. आइए, आपको बताते हैं बार-बार हैंड सैनिटाइजर का इस्‍तेमाल करने से आपकी स्वास्थ्य को क्या नुकसान पहुंच सकता है। ।


-हैंड सैनिटाइजर में ट्राइक्लोसान नाम एक केमिकल होता है, जिसे हाथ की स्किन सोख लेती है. इसके ज्यादा प्रयोग से यह केमिकल आपकी स्कीन से हुते हुए आपके स्क्त में मिल जाता हैं. रक्त में मिलने के बाद यह आपकी मांसपेशियों के ऑर्डिनेशन को नुकसान पहुंचाता है.

-हैंड सैनिटाइजर में विषैले तत्व व बेंजाल्कोनियम क्लोराइड होता है, जो कीटाणुओं व बैक्टीरिया को हाथों से बाहार निकाल देता है, लेकिन यह हमारी स्कीन के लिए अच्छा नहीं होता है. इससे स्कीन में जलन व खुजली जैसी समस्याएं हो सकती हैं.

-ऐसा देखा गया है कि लोग हर आधे घंटे में हैंड वाश या हैंड सैनिटाइज करते हैं. अगर आपने किसी अनचाही वस्तुओं को नहीं छुआ है तो आपको हैंड सैनिटाइजर यूज करने की आवश्यकता नहीं है. इसके बदले आप नॉर्मल पानी से हाथ धो सकते हैं.

-अगर आप गंदे हाथ को हैंड सैनिटाइजर से साफ करने की प्रयास करते हैं तो इससे कोई लाभ नहीं मिलता है. इसके लिए सबसे पहले अपने हाथों को साफ पानी से धोएं. फिर हैंड सोप से धोएं. जब आप गार्डन में खेलते हैं, गार्डेनिंग करते हैं या साफ-सफाई करते हैं तो हैंड सैनिटाइजर का यूज न करें.

-बदलते मौसम में सर्दी-खांसी व बुखार होने का खतरा अधिक रहता है. ये लक्षण कोरोना वायरस के लक्षणों से मिलता-जुलता है. ऐसे में जब भी आपको फ्लू हो तो घर से बाहर न निकलें व हैंड सैनिटाइजर के बदले टिसू का अधिक प्रयोग करें.

-सैनिटाइजर में खुशबू के लिए फैथलेट्स नामक रसायन का प्रयोग किया जाता है, इसकी मात्रा जिन सैनिटाइजर में ज़्यादा होती है, वे हमारे लिए हानिकारक होते हैं. इस तरह के अत्यधिक खुशबू वाले सैनिटाइजर लीवर, किडनी, फेफड़े तथा प्रजनन तंत्र को नुकसान पहुंचाते हैं.

-इसके ज्यदा प्रयोग से स्कीन ड्राई हो जाती है.

-कई रिसर्च के अनुसार इसका ज्यादा इस्तेमाल बच्चों की इम्यूनिटी को भी घटाता है.