लड़कियों के वैजाइना के लिए सबसे ज्यादा खतरनाक हैं ये चीजें

लड़कियों के वैजाइना के लिए सबसे ज्यादा खतरनाक हैं ये चीजें

महिलाएं अपने प्राइवेट पार्ट्स को लेकर हमेशा सजग रहती है। और रहे भी क्यों नहीं प्राइवेट पार्ट शरीर का सबसे नाजुक हिस्सा होता है। ऐसे में आपके द्वारा की गई एक छोटी-सी गलती भी उसे नुकसान पहुंचा सकती है। आज हम आपको कुछ ऐसी ही हानिकारक चीजों के बारे में बताने जा रहे हैं, जिसका इस्तेमाल वैजाइना के लिए घातक हो सकता है। 

वैजाइना के लिए ना करें इन चीजों का इस्तेमाल:

अगर आप भी सफेद प्यूबिक हेयर के लिए डाई का यूज करती हैं तो सतर्क हो जाएं क्योंकि इससे इंफेक्शन फैल सकता है। जी हां, डाई में मौजूद कैमिकल्स, वैजाइना इंफेक्शन, जलन और खुजली का कारण बन सकते हैं।

साबुन में केमिकल होता है इसलिए उसे अपने वैजाइना के अंदर ना आस-पास इस्तेमाल ना करें। इससे वैजाइनल इंफेक्शन का खतरा बढ़ जाता है। साथ ही इससे वैजाइना में जलन और खुजली की समस्या भी हो सकती है।


वैसलीन ल्यूब्रिकेशन के लिए एक बहुत आसान तरीका होता है लेकिन साथ ही ये वैजाइना के लिए हानिकारक भी होता है। इसकी वजह से वैजाइना में इंफेक्शन होने का खतरा होता है।

डाउच एक ऐसी प्रक्रिया है जिसमें पानी और सिरका को मिलाकर वैजाइना को साफ किया जाता है। मगर ये वैजाइना में पाए जाने वाला नेचुरल बैक्टीरिया को कम कर देता है।


नीचे की ओर हेयर रिमूवल क्रीम लगाने से उस एरिया पर घाव आदि हो सकता है और साथ ही संक्रमण का खतरा भी हो सकता है। आप चाहें तो वैजाइना को शेव या वैक्‍स कर सकती हैं।

कुछ महिलाएं प्राइवेट पार्ट का कालापन दूर करने के लिए ब्लीच का यूज करती हैं लेकिन करना आपके लिए हानिकारक हो सकता है। इसमें मौजूद कैमिरल्स इंफेक्शन, जलन और रैशज की समस्या पैदा कर सकते हैं।


दैनिक जीवन के अनमोल घरेलू नुस्खे

दैनिक जीवन के अनमोल घरेलू नुस्खे

घरेलु नुस्खे हमेशा से ही असरकारी रहे हैं और इनका प्रयोग सदियों से लोग करते आ रहे। आपको कुछ ऐसे ही घरेलु नुस्खों के बारे में बताएँगे जो बहुत सी बीमारियों में फायदेमंद है।

घरेलू नुस्खे: 

सौंफ चबाना: भोजन के बाद दोनों समय आधा चम्मच सौंफ चबाने से मुख की अनेक बीमारियाँ और सूखी खाँसी दूर होती है, बैठी हुई आवाज़ खुल जाती है, गले की खुश्की ठीक होती है और आवाज मधुर हो जाती है। 

भूख ना लगना: भूख न लगती हो तो बराबर मात्रा में मुनक्का बीज निकला हुआ, हरड़ और चीनी को पीसकर चटनी बना लें। इसे पाँच छह ग्राम की मात्रा में, थोड़ा शहद मिला कर खाने से पहले दिन में दो बार चाटें।

पेट में गैस बनना: पेट में वायु बनने की अवस्था में भोजन के बाद 125 ग्राम दही के मट्ठे में दो ग्राम अजवायन और आधा ग्राम काला नमक मिलाकर खाने से वायु-गैस मिटती है। 

काले धब्बे: चेहरे व कोहनी पर काले धब्बे दूर करने के लिये आधा चम्मच नारियल के तेल में आधे नीबू का रस निचोड़ें और त्वचा पर रगड़ें, फिर गुनगुने पानी से धो लें।

कोलेस्ट्राल: सुपारी का रस लार के साथ मिलकर रक्त को पतला करने जैसा काम करता है। जिससे कोलेस्ट्राल में गिरावट आती है और रक्तचाप भी कम हो जाता है।