गर्भधारण के लिए अच्छी नींद लेना भी है जरुरी

गर्भधारण के लिए अच्छी नींद लेना भी है जरुरी

ऐसी बहुत सी महिलाएं है जो गर्भधारण संबंधी परेशानी से जूझ रही हैं, बहुत सी कोशिशों के बाद भी गर्भधारण में सफलता नही मिल पा रही है। गर्भधारण का नींद से बहुत गहरा संबंध है। ऐसी महिलाओं को समय से भोजन करना चाहिए और कमरे में रोशनी बिल्कुल हल्की कर देनी चाहिए। 

गर्भधारण में सहायक है ये बातें:

मां-बाप न बन पाने वाला हर सातवें जोड़ें की इस परेशानी का मुख्य कारण अज्ञात है। इसके साथ ही इस तथ्य को इस बात से भी बल मिलता है कि कमरे में बहुत अधिक रोशनी होने से हमारा बॉडी क्लॉक बिगड़ जाता है।

सामान्य स्वास्थ्य और प्रजनन क्षमता के बीच के संबंध को अनदेखा नहीं किया जा सकता है। डिस्टर्ब बॉडी क्लॉक प्रजनन क्षमता को प्रभावित करता है। इस प्रयोग का युवा चूहों पर तो कोई असर नहीं हुआ लेकिन औसत उम्र वालों के प्रेग्नेंसी रेट पर असर जरूर पड़ा।

हालांकि ये शोध चूहों पर ही था लेकिन महिलाओं की प्रजनन क्षमता भी रोशनी की वजह से प्रभावित होती है। वैज्ञानिकों का कहना है कि महिलाओं को रात के समय रोशनी के संपर्क में आने से परहेज करना चाहिए।


लड़कियों के वैजाइना के लिए सबसे ज्यादा खतरनाक हैं ये चीजें

लड़कियों के वैजाइना के लिए सबसे ज्यादा खतरनाक हैं ये चीजें

महिलाएं अपने प्राइवेट पार्ट्स को लेकर हमेशा सजग रहती है। और रहे भी क्यों नहीं प्राइवेट पार्ट शरीर का सबसे नाजुक हिस्सा होता है। ऐसे में आपके द्वारा की गई एक छोटी-सी गलती भी उसे नुकसान पहुंचा सकती है। आज हम आपको कुछ ऐसी ही हानिकारक चीजों के बारे में बताने जा रहे हैं, जिसका इस्तेमाल वैजाइना के लिए घातक हो सकता है। 

वैजाइना के लिए ना करें इन चीजों का इस्तेमाल:

अगर आप भी सफेद प्यूबिक हेयर के लिए डाई का यूज करती हैं तो सतर्क हो जाएं क्योंकि इससे इंफेक्शन फैल सकता है। जी हां, डाई में मौजूद कैमिकल्स, वैजाइना इंफेक्शन, जलन और खुजली का कारण बन सकते हैं।

साबुन में केमिकल होता है इसलिए उसे अपने वैजाइना के अंदर ना आस-पास इस्तेमाल ना करें। इससे वैजाइनल इंफेक्शन का खतरा बढ़ जाता है। साथ ही इससे वैजाइना में जलन और खुजली की समस्या भी हो सकती है।


वैसलीन ल्यूब्रिकेशन के लिए एक बहुत आसान तरीका होता है लेकिन साथ ही ये वैजाइना के लिए हानिकारक भी होता है। इसकी वजह से वैजाइना में इंफेक्शन होने का खतरा होता है।

डाउच एक ऐसी प्रक्रिया है जिसमें पानी और सिरका को मिलाकर वैजाइना को साफ किया जाता है। मगर ये वैजाइना में पाए जाने वाला नेचुरल बैक्टीरिया को कम कर देता है।


नीचे की ओर हेयर रिमूवल क्रीम लगाने से उस एरिया पर घाव आदि हो सकता है और साथ ही संक्रमण का खतरा भी हो सकता है। आप चाहें तो वैजाइना को शेव या वैक्‍स कर सकती हैं।

कुछ महिलाएं प्राइवेट पार्ट का कालापन दूर करने के लिए ब्लीच का यूज करती हैं लेकिन करना आपके लिए हानिकारक हो सकता है। इसमें मौजूद कैमिरल्स इंफेक्शन, जलन और रैशज की समस्या पैदा कर सकते हैं।