कोविड-19 रोगियों की प्रतिरक्षा प्रणाली कितने समय तक बनी रह सकती हैं प्रभावी

 कोविड-19 रोगियों की प्रतिरक्षा प्रणाली कितने समय तक बनी रह सकती हैं प्रभावी

जी हां, ऐसा होने कि सम्भावना है. क्योंकि अभी तक यह स्पष्ट नहीं है कि कोविड-19 रोगियों की प्रतिरक्षा प्रणाली कितने समय तक प्रभावी बनी रह सकती है. वहीं कोरोना वायरस के म्यूटेंट होने पर भी यह अच्छा हो चुके रोगियों में फिर से होने कि सम्भावना है.

चीन, दक्षिण कोरिया व जापान में अच्छा हो चुके लोगों में फिर से कोविड-19 वायरस पाए जाने की रिपोट्र्स सामने आई हैं. एक बार अच्छा हो चुके मरीज फिरस से संक्रमित हो गए. हालांकि ऐसा पक्के तौर से नहीं बोला जा सकता कि यह उनकी निर्बल प्रतिरक्षा प्रणाली के कारण था या वायरस म्यूटेशन के चलते वे लोग दोबारा संक्रमित हुए. वहीं इन लोगों की जाँच परिणाम कितने ठीक थे, इस वायरस के कितने प्रकार वास्तव में फैले हैं जैसे ठोस वैज्ञानिक साक्ष्यों के बिना साफ तौर पर कुछ भी नहीं बोला जा सकता. लेकिन ये सवाल हमें वायरस की प्रतिरक्षा रिएक्शन को समझने में मदद कर सकते हैं.