कुछ इस तरह है लीची के ये फायदे

कुछ इस तरह है लीची के  ये फायदे

पिछले वर्ष बिहार में कई बच्चे चमकी बुखार का शिकार हुए थे. बोला गया कि यह बीमारी लीची खाने से हुई व लगभग 550 बच्चे इसकी चपेट में आए तथा 300 बच्चों की मृत्यु हो गई थी. बिहार के मुजफ्फरपुर में सबसे ज्यादा मुद्दे सामने आए थे. बच्चों को आकस्मित तेज बुखार आ

रहा था व एक रात के बाद उन्हें संभाल पाना कठिन हो रहा था. बहरहाल, अब डॉक्टरों ने चमकी बुखार यानी एक्यूट इंसिफिलाइटिस सिंड्रोम को लेकर बड़ा खुलासा किया है. उनका बोलना है कि बच्चों की मृत्यु लीची खाने से नहीं, बल्कि बैक्टीरिया के संक्रमण के कारण हुई थी. 

बिहार के सबसे बड़े सरकारी अस्पताल पीएमसीएच के डॉक्टरों ने छह महीने की रिसर्च के बाद बताया है कि बच्चों की मृत्यु स्क्रब टाइफस नामक बैक्टीरिया से हुई है. यह बैक्टीरिया चूहों व छोटे जानवरों में पाया जाता है व बच्चों में फैलता है.

इस तरह लीची को लेकर फैली गलतफहमी दूर हुई है, लेकिन इस फल को लेकर कुछ सवाल अब भी बाकी हैं. www.myupchar.com  से जुड़े डाक्टर लक्ष्मीदत्ता शुक्ला के अनुसार, लीची खाने के फायदे हैं तो नुकसान भी हैं. लीची में विटामिन सी, विटामिन बी6, नियासिन, राइबोफ्लेविन, फोलेट, तांबा, पोटेशियम, फास्फोरस, मैग्निशियम व मैगनीज जैसे खनिज पाए जाते हैं, लेकिन इसका अधिक सेवन शुगर का कारण बन सकता है. वहीं कुछ लोगों को इससे एलर्जी होती है.

लीची के फायदे
लीची के नियमित सेवन से कई तरह के फायदे होते हैं. यह पाचन के लिए अच्छी होती है. लीची का जूस पीने से बीमारियों से लड़ने की ताकत मिलती है. इसमें विटामिन सी होता है जो एंटीऑक्सिडेंट का कार्य करता है. लीची का नियमित सेवन कैंसर को दूर रखता है. लीची में कई ऐसे कार्बनिक यौगिक होते हैं जो कैंसर से बचाते हैं. लीची एंटीवायरल बीमारियों से बचाती है. साथ ही इसमें उपस्थित पोटेशियम ब्लडप्रेशर को कंट्रोल करता है. ध्यान देने वाली बात यह है कि ताजा लीची की तुलना में सूखी लीची में पोटेशियम की मात्रा अधिक होती है.

लीची का सेवन स्कीन के लिए भी लाभकारी है. धूप में रहने से स्कीन लाल पड़ जाती है व सनबर्न के कारण जलन पैदा होती है. ऐसे घावों पर लीची का रस लगाया जाए तो तत्काल फायदा होता है. लीची का रस बालों पर लगाया जाए तो बाल तेजी से लंबे होते हैं व इनमें प्राकृतिक रूप से चमक आती है. लीची में उपस्थित एंटीऑक्सिडेंट कार्डियोवैस्कुर गुण हार्ट को मजबूत रखते हैं. जो बच्चे प्रारम्भ से लीची का नियमित सेवन करते हैं, उनकी आंखें बेकार नहीं होती हैं.

लीची के नुकसान
डायबिटीज के मरीजों को लीची का सेवन संभलकर करना चाहिए. ज्यादा खाने से शुगर लेवल बढ़ सकता है. ज्यादा लीची खाने से गले में खराश हो सकती है, बुखार आ सकता है व नाक से खून भी बहना प्रारम्भ होने कि सम्भावना है. इसके अधिक सेवन से शरीर में हार्मोन्स गड़बड़ा सकते हैं. गर्भवती व स्तनपान कराने वाली स्त्रियों को लीची से दूर करना चाहिए.

अधिक जानकारी के लिए यहां क्लिक करें