कोरोना वायरस : अतिसतर्कता बरने की नही हैं जरूरत अपनाएं डॉक्टरों की सलाह

कोरोना वायरस : अतिसतर्कता बरने की नही हैं जरूरत अपनाएं डॉक्टरों की सलाह

कोरोना से बचने के लिए स्वास्थ्य मंत्रालय ने लोगों को मास्क, सेनेटाइजर का इस्तेमाल करने व बार-बार हाथ धुलने की सलाह दी है. लेकिन तमाम लोग अतिसतर्कता बरतते हुए दिनभर यहां तक कि घर में भी मास्क व दस्ताने पहन रहे हैं. 

बार-बार सेनेटाइजर का इस्तेमाल कर रहे हैं, तमाम तरह की दवाइयां खा रहे हैं. डॉक्टरों ने इससे बचने की सलाह दी है.सोशल मीडिया में चल रही खबरों को देखकर तमाम लोग आईब्रूफेन, कार्टिसोल, पैरासिटामॉल दवाएं खा रहे हैं. यह खतरनाक होने कि सम्भावना है. क्योंकि यह दवाएं किसी भी तरह से आपको कोरोना के खतरे से नहीं बचा पाएंगी.

हकीकत दुनिया स्वास्थ्य संगठन के मुताबिक, ये दवाएं खाने से सर्दी, जुकाम बुखार और दर्द से तुरंत राहत तो मिल जाएगी लेकिन कोरोना के लक्षणों का भी पता नहीं चल पाएगा. जब दवा का प्रभाव थोड़े दिन बाद समाप्त होगा तो दिक्कतें मुसीबत बन जाएंगी. अगर सर्दी जुकाम, बुखार है तो बिना चिकित्सक की सलाह के दवा न लें. क्रमश:

साबुन पानी से बार-बार हाथ धुलना सबसे बेहतर

दस्तानों का प्रयोग शल्य चिकित्सा संबंधी दस्ताने जीवाणुओं को दूर करने का अच्छा उपाय नहीं है. दस्ताने आपकी स्किन की तरह होते हैं जिस पर किसी भी संक्रमित सतह से जीवाणु चिपक जाते हैं. आप दस्ताने से अपने चेहरे को छूते हैं तो इससे आप उसी तरह संक्रमित हो सकते हैं जैसे गंदे हाथों से चेहरे को छूने पर होते हैं. इसलिए दिनभर दस्ताने पहनकर रखना अच्छा नहीं. उसे नियमित अंतराल पर बदलें.

विटामिन-सी बार-बार लेने से बचें बोला जा रहा है कि विटामिन-सी युक्त फल या खाद्य पदार्थ आपको वायरस से दूर रखेगा. यह प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने में अच्छा है. इसके बाद लोग विटामिन-सी युक्त फल व गोलियां भी खाने लगे हैं.

हकीकत- राष्ट्रीय स्वास्थ्य संस्थान के अनुसार, प्रतिदिन विटामिन-सी का सेवन करेंगे तब भी जुकाम जल्द अच्छा होने के संभावना सिर्फ आठ फीसदी हैं. बीमार होने के बाद विटामिन-सी लेते हैं तो ये जल्द अच्छा करने में मददगार नहीं होगा.

सेनेटाइजर का ज्यादा इस्तेमाल न करें घर हो या दुकान लोग खूब सेनेटाइजर का इस्तेमाल कर रहे हैं. तमाम लोग इसे साथ लेकर चल रहे हैं व जब कुछ स्पर्श करते हैं तुरंत सेनेटाइजर से हाथ साफ करते हैं. प्रयोग करें पर हदसे ज्यादा नहीं.

हकीकत -सेनेटाइजर में ट्राइक्लोसान रसायन होता है जो स्कीन की नमी सोख लेता है. ज्यादा प्रयोग से यह रसायन हमारी मांसपेशियों को नुकसान पहुंचाता है. इसमें बेंजाल्कोनियम क्लोराइड स्कीन में जलन और खुजली पैदा कर सकता है.