आपके साथ भी होती है इस तरह की बातें तो समझ जाइए आपके ऊपर है दैवीय आशीर्वाद !

आपके साथ भी होती है इस तरह की बातें तो समझ जाइए आपके ऊपर है दैवीय आशीर्वाद !

जब भी किसी व्यक्ति पर ऊपरवाले की कृपादृष्टि पड़ जाती है तो उसकी जिंदगी ही पूरी तरह से बदल जाती है। जिनपर भगवान की कृपा रहती है वो वाकई में बहुत ही ज्यादा खुशकिस्मत होते है।  उन लोगों में कुछ अलग ही विशेष बात होती है जिसके बारे में कई बार खुद उन्हे भी नहीं पता रहता है।

क्या आपके साथ भी होता है ऐसा:

# सपने कई बार सच भी हो जाते है या फिर जब ऐसा सपना देखने पर अचानक ही आपकी आँखें खुल जाती है और आप काफी ज्यादा पसीने पसीने हुए रहते है तो ऐसा होना विशेष दैवीय कृपा के कारण माना जाता है।

# कभी कभी ऐसा भी देखा जाता है की आपको पता है कि हालात आपके विपरीत हैं, मगर बावजूद इसके आपके मन में ऐसा महसूस होता है की नहीं यहा कुछ अच्छा होने वाला है, ऐसे में आपकी इस तरह की नकारात्मक सोच पर आपकी सकारात्मकता हावी होती है ऐसा महसूस होना एक तरह से आप पर दैवीय कृपा का इशारा होता है।


अगर आपने नहीं लगवाया है कोरोना का टीका तो दिल्ली मेट्रो और बसों में नहीं कर पाएंगे सफर, लागू होने जा रहा यह नियम

अगर आपने नहीं लगवाया है कोरोना का टीका तो दिल्ली मेट्रो और बसों में नहीं कर पाएंगे सफर, लागू होने जा रहा यह नियम

कोरोना के नए वेरिएंट ओमिक्रोन को देखते हुए दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने दिल्ली आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (डीडीएमए) को एक प्रस्ताव जारी किया है। इस प्रस्ताव के तहत दिल्ली मेट्रो, बसों, सिमेना हॉल, मॉल, धार्मिक स्थलों, रेस्तरां, सार्वजनिक पार्क, सरकारी ऑफिस  में बिना वेरक्सीनेशन वाले लोगों के इन जगहों के प्रवेश पर रोक लगाने का फैसला जारी किया जा सकता है। यह 15 दिसंबर से लागू हो सकता है। बता दें कि, यह प्रतिबंध उन लोगों पर लगाया जा रहा है जिन्हें 31 मार्च, 2022 तक कोविड-19 वैक्सीन की एक खुराक मिली है। इस प्रस्ताव में न केवल सार्वजनिक स्थलों पर प्रतिबंध बल्कि उन लोगों को नकद पुरस्कार भी देने का सुझाव दिया है।

कोरोना के नए वेरिएंट ओमिक्रोन के आने के बाद से देश में चिंता काफ बढ़ गई है क्योंकि गुरूवार को कर्नाटक में ओमिक्रोन वेरिएंट से 2 लोग संक्रमित पाए गए है जिसके बाद केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने गहरी चिंता जताई है। इस प्रस्ताव पर फिलहाल कोई चर्चा नहीं हुई है लेकिन डीडीएमए की अगली बैठक में इसको लाए जाने की संभावना है। एक अधिकारी ने कहा कि, आधी आबादी ने वैक्सीन लगा ली है जिससे लोगों को डरने की जरूरत नहीं है। यह एक महामारी है और जब तक सब सुरक्षित नहीं हैं तब तक कोई भी सुरक्षित नहीं है। हर किसी को अपने और अपने लोगों की सुरक्षा करनी होगी और वेक्सीन लगानी चाहिए।