गुणों की खान है अंजीर, जानें 10 चमत्कारिक औषधीय गुण

गुणों की खान है अंजीर, जानें 10 चमत्कारिक औषधीय गुण

अंजीर के बारे में आज हम लोग जानेंगे की अंजीर क्यूं हमें खाना चाहिए। इसमे क्या ऐसा पाया जाता हैं और इसके क्या क्या फायदे हैं। यूनानी में अंजीर को गर्म फल मानते हैं, लेकिन आयुर्वेद में अंजीर को ठंडा औषधिये फल माना गया हैं। अंजीर में बहुत सारी औषधिये गुण पाए जाते हैं।

अंजीर हमारे शरीर की दुर्बलता को खत्म करता हैं, और शरीर को बलशाली बनाता हैं।

अंजीर को दूध में पका के लेने से किसी भी प्रकार की स्नायु दुर्बलता हो उसको कम करता हैं और स्नायु तंत्रिका को पुष्ट करता हैं।

शरीर के यौन शक्ति को बढाने के लिए अंजीर को दूध के साथ लेने से अधिक लाभ होता हैं।

अंजीर में ऐसे तत्व होते हैं जो निम्न रक्त चाप को नियंत्रित कर ह्रदय रक्त चाप को सुसंगठित करता हैं।

कभी कभी हमें अचानक से घबराहट होने लगती हैं। ऐसे स्थिति में अंजीर का सेवन ढूध के साथ करने से आराम या बहुत लाभ मिलता हैं।

शरीर अगर शिथिल पर जाये तो अंजीर का सेवन लाभदायक होता हैं। इससे शरीर को ताकत मिलती है, और शरीर स्फूर्ति महसूस करता हैं।

जिसे भी थकान महसूस होती रहती हो तो उन्हें भी अंजीर का सेवन जरुर करना चाहिए।

पेट की कोइ भी बिमारी हो तो अंजीर का सेवन लाभप्रद होता हैं।

अंजीर में वसा नहीं होता हैं, इसलिए इससे वजन कम करने में बहुत सहायता मिलती हैं।

प्रायः नारियों में स्तन कैंसर का ख़तरा बना रहता हैं। अगर इससे बचाव चाहिए तो अंजीर का सेवन लाभप्रद हैं।


अगर आपने नहीं लगवाया है कोरोना का टीका तो दिल्ली मेट्रो और बसों में नहीं कर पाएंगे सफर, लागू होने जा रहा यह नियम

अगर आपने नहीं लगवाया है कोरोना का टीका तो दिल्ली मेट्रो और बसों में नहीं कर पाएंगे सफर, लागू होने जा रहा यह नियम

कोरोना के नए वेरिएंट ओमिक्रोन को देखते हुए दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने दिल्ली आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (डीडीएमए) को एक प्रस्ताव जारी किया है। इस प्रस्ताव के तहत दिल्ली मेट्रो, बसों, सिमेना हॉल, मॉल, धार्मिक स्थलों, रेस्तरां, सार्वजनिक पार्क, सरकारी ऑफिस  में बिना वेरक्सीनेशन वाले लोगों के इन जगहों के प्रवेश पर रोक लगाने का फैसला जारी किया जा सकता है। यह 15 दिसंबर से लागू हो सकता है। बता दें कि, यह प्रतिबंध उन लोगों पर लगाया जा रहा है जिन्हें 31 मार्च, 2022 तक कोविड-19 वैक्सीन की एक खुराक मिली है। इस प्रस्ताव में न केवल सार्वजनिक स्थलों पर प्रतिबंध बल्कि उन लोगों को नकद पुरस्कार भी देने का सुझाव दिया है।

कोरोना के नए वेरिएंट ओमिक्रोन के आने के बाद से देश में चिंता काफ बढ़ गई है क्योंकि गुरूवार को कर्नाटक में ओमिक्रोन वेरिएंट से 2 लोग संक्रमित पाए गए है जिसके बाद केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने गहरी चिंता जताई है। इस प्रस्ताव पर फिलहाल कोई चर्चा नहीं हुई है लेकिन डीडीएमए की अगली बैठक में इसको लाए जाने की संभावना है। एक अधिकारी ने कहा कि, आधी आबादी ने वैक्सीन लगा ली है जिससे लोगों को डरने की जरूरत नहीं है। यह एक महामारी है और जब तक सब सुरक्षित नहीं हैं तब तक कोई भी सुरक्षित नहीं है। हर किसी को अपने और अपने लोगों की सुरक्षा करनी होगी और वेक्सीन लगानी चाहिए।