इन तरीको से खुद को ऐसे करे बचाव, जाने

इन तरीको से खुद को ऐसे करे बचाव, जाने

महामारी बनती जा रही के कई संदिग्ध मुद्दे हिंदुस्तान में भी दिखने लगे हैं। स्वास्थ्य विभाग इन मामलों की जाँच कर रही है। अच्छी बात ये है कि वुहान कोरोना वायरस का अभी तक एक भी कंफर्म केस हिंदुस्तान में सामने नहीं आया है। लेकिन फिर भी आपके मन में बार-बार सवाल उठ रहे होंगे कि इस संक्रमण से कैसे बचा जा सकता है। वरिष्ठ चिकित्सक मोहसिन वली ने इस संक्रमण से बचने के लिए लोगों को कई तरीका सुझाए हैं। ये तरीका आपको वुहान कोरोना वायरस से बचने में मददगार साबित हो सकते हैं

हाथों को ऐसे करें साफ
वैज्ञानिकों का बोलना है कि कोरोना वायरस सर्दी के मौसम में ही संक्रमण ज्यादा फैला रहा है। ऐसे में इस संक्रमण से रोकथाम की सबसे सटीक उपाय है समय-समय पर हाथ साफ किया जाए। डाक्टरों का बोलना है कि साबुन के साथ कम से कम 20 सेकंड हाथ जरुर धोना चाहिए। अगर साबुन नहीं मिल पाए तो किसी अल्कोहल बेस्ड सैनिटाइजर का प्रयोग किया जा सकता है।

अपने आंख, नाक व मुंह को छूने से बचे
किसी भी तरह के खांसी-जुकाम या बुखार होने पर अपनी आंख, नाक व मुंह को छूने से बचने की सलाह दी जाती है। अगर परिवार का मेम्बर खांसी-जुकाम से संक्रमित है तब भी आप अपने आंख, नाक व मुंह को छूने से बचे।

बीमार व्यक्तियों से दूरी बनाएं
डाक्टर की सलाह है कि नाक बहने, शरीर में ठिठुरन, बुखार या खांसी-जुकाम से संक्रमित लोगों से दूर रहें। संक्रमित व्यक्तियों को भी सलाह दी जाती है कि खांसी-जुकाम की अवस्था में छींकते वक्त रुमाल या कपड़े का प्रयोग करें। साथ ही अन्य लोगों को छूने से बचें।

हाथ मिलाने व गले लगने से बचें
लोगों से मिलने पर अभिवादन करने के लिए हाथ मिलाने या गले मिलने से बचें। ज्यादातर वैज्ञानिकों का मानना है कि कोरोना वायरस फैलने की एक बड़ी वजह संक्रमित लोगों को छूना भी है। इस समय किसी भी यात्रा के बाद आने वाले लोगों से थोड़ी सावधानी बरतने की सलाह दी जाती है।

बार बार प्रयोग होने वाले वस्तुओं को साफ रखें
दरवाजे के कुंडे, टायलट के नल व टीवी-एसी के रिमोट कंट्रोल ऐसी वस्तुएं हैं जिन्हें घर में हर कोई बार-बार प्रयोग करता है। ऐसे में इन वस्तुओं को समय समय पर साफ करने की जरुरत है। इससे संक्रमण फैलने की आसार कम हो जाती है।

इसके अतिरिक्त केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने बोला है कि खांसी, बुखार या निमोनिया के लक्षण दिखने पर तुरंत नजदीकी अस्पताल से सम्पर्क करें।