अगर घबराहट से बढ़ जाती है हार्ट बीट, तो करें राई का सेवन

अगर घबराहट से बढ़ जाती है हार्ट बीट, तो करें राई का सेवन

राई हमारे स्वास्थ्य के लिए बहुत फायदेमंद है। अचार या सब्जी बनाने में राई का प्रयोग स्वाद बढ़ाने के साथ इनकी गुणवत्ता भी बढ़ाता है। राई के ये छोटे-छोटे दाने कई तरह सेहत से जुड़ी समस्याओं में कारगर होते हैं।

राई है स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद:

सामान्य धड़कनें: हृदय की धड़कनें असामान्य हो रही हैं या घबराहट के साथ बेचैनी और कंपन महसूस कर रहे हैं, तो राई को पीसकर अपने हाथों और पैरों पर मलें।

राई को पीसकर उसमें थोड़ा कर्पूर मिलाकर जोड़ों पर मालिश करने से आर्थराइटिस और जोड़दर्द में फायदा होता है।

कान में दर्द होने पर राई के तेल को गर्म कर दो से तीन बूंद कान में डालने पर दर्द में आराम होता है।

धूम्रपान से होंठ काले हो गए हैं, तो अकरकरा और राई को समान मात्रा पीसकर दिन में तीन चार बार लगाएं।

राई को बारीक पीसकर दर्द वाले हिस्से पर लगाने से आधे सिर का दर्द या माइग्रेन में तुरंत आराम मिलता है।

राई में मौजूद खास तत्त्व त्वचा संबंधी रोगों के लिए फायदेमंद है। इसके लिए राई को रातभर पानी में भिगोएं।  सुबह इस पानी को त्वचा पर लगाने से लाभ होगा।  

बुखार के साथ कई बार जीभ पर सफेद परत जम जाती है और भूख व प्यास कम हो जाती है। ऐसे में सुबह के समय 4-5 ग्राम राई के चूर्ण को शहद के साथ लें।


लड़कियों के वैजाइना के लिए सबसे ज्यादा खतरनाक हैं ये चीजें

लड़कियों के वैजाइना के लिए सबसे ज्यादा खतरनाक हैं ये चीजें

महिलाएं अपने प्राइवेट पार्ट्स को लेकर हमेशा सजग रहती है। और रहे भी क्यों नहीं प्राइवेट पार्ट शरीर का सबसे नाजुक हिस्सा होता है। ऐसे में आपके द्वारा की गई एक छोटी-सी गलती भी उसे नुकसान पहुंचा सकती है। आज हम आपको कुछ ऐसी ही हानिकारक चीजों के बारे में बताने जा रहे हैं, जिसका इस्तेमाल वैजाइना के लिए घातक हो सकता है। 

वैजाइना के लिए ना करें इन चीजों का इस्तेमाल:

अगर आप भी सफेद प्यूबिक हेयर के लिए डाई का यूज करती हैं तो सतर्क हो जाएं क्योंकि इससे इंफेक्शन फैल सकता है। जी हां, डाई में मौजूद कैमिकल्स, वैजाइना इंफेक्शन, जलन और खुजली का कारण बन सकते हैं।

साबुन में केमिकल होता है इसलिए उसे अपने वैजाइना के अंदर ना आस-पास इस्तेमाल ना करें। इससे वैजाइनल इंफेक्शन का खतरा बढ़ जाता है। साथ ही इससे वैजाइना में जलन और खुजली की समस्या भी हो सकती है।


वैसलीन ल्यूब्रिकेशन के लिए एक बहुत आसान तरीका होता है लेकिन साथ ही ये वैजाइना के लिए हानिकारक भी होता है। इसकी वजह से वैजाइना में इंफेक्शन होने का खतरा होता है।

डाउच एक ऐसी प्रक्रिया है जिसमें पानी और सिरका को मिलाकर वैजाइना को साफ किया जाता है। मगर ये वैजाइना में पाए जाने वाला नेचुरल बैक्टीरिया को कम कर देता है।


नीचे की ओर हेयर रिमूवल क्रीम लगाने से उस एरिया पर घाव आदि हो सकता है और साथ ही संक्रमण का खतरा भी हो सकता है। आप चाहें तो वैजाइना को शेव या वैक्‍स कर सकती हैं।

कुछ महिलाएं प्राइवेट पार्ट का कालापन दूर करने के लिए ब्लीच का यूज करती हैं लेकिन करना आपके लिए हानिकारक हो सकता है। इसमें मौजूद कैमिरल्स इंफेक्शन, जलन और रैशज की समस्या पैदा कर सकते हैं।