आपकी इन गलत आदतों के चलते बुरा असर पड़ने लगा है किडनी पर, पढ़े

आपकी इन गलत आदतों के चलते  बुरा असर पड़ने लगा है किडनी पर, पढ़े

शरीर में किडनी अहम रोल होता है। किडनी शरीर में ब्‍लड को साफ करके उसमें मौजूद टॉक्सिन को बाहर निकालने का काम करती है, लेकिन आजकल की गलत लाइफस्‍टाइल और गलत आदतों के चलते किडनी पर बुरा असर पड़ने लगा है। आइए ऐसी ही कुछ आदतों के बारे जानें।

लंबे समय तक बैठना: शायद आपको यह सुनकर थोड़ा अजीब लग रहा हो, लेकिन यह सच है कि लंबे समय तक बैठे रहने और एक्‍सरसाइज न करने से कैंसर, डायबिटीज और हार्ट अटैक जैसी समस्‍याएं हो सकती है। आप किसी भी तरह की एक्‍सरसाइज करके, अपने हार्ट की मसल्‍स को चेक में रख सकती हैं जिससे किडनी के कामों में फायदा होता है।

पर्याप्‍त पानी पीने से बचना: हमारे अंगों को सही तरीके से काम के लिए हमारे शरीर को हाइड्रेट करना बहुत जरूरी होता है। जी हां अपनी बॉडी को हाइड्रेटेड रखना आपके अंगों को ठीक से काम करने के लिए जरूरी है, विशेष रूप से किडनी। पानी बॉडी में मौजूद टॉक्सिन को बाहर निकालने में हेल्‍प करता है और इससे किडनी के लिए आपके सिस्टम को साफ करना आसान हो जाता है। लेकिन अगर आप पर्याप्त पानी नहीं पीते हैं, तो आपको यूटीआई और किडनी की पथरी होने का खतरा रहता है। इसलिए दिन में कम से कम 2 लीटर पानी जरूर पिएं।

सोडियम से भरपूर फूड और रेड मीट: किडनी को हेल्‍दी रखने के लिए उन फूड्स को खाने से बचना चाहिए, जिसमें सोडियम की मात्रा बहुत ज्‍यादा होती है। ऐसा नहीं करने से आपका ब्लड प्रेशर बढ़ सकता है और आपके हाथ, पैर और टखने में सूजन आ सकती हैं। इसके अलावा कभी-कभार रेड मीट खाना ठीक रहता है लेकिन रेगुलर खाना हेल्‍थ के लिए खतरनाक हो सकता है। एनिमल मीट या एनिमल प्रोटीन स्रोतों में अमोनिया और नाइट्रोजन जैसे विषाक्त पदार्थ होते हैं जो आपकी किडनी को नुकसान पहुंचा सकते है। अन्य विकल्पों के रूप में आप मछली या व्‍हाइट मीट ट्राई कर सकती हैं।

बहुत ज्‍यादा मीठा खाना: हालांकि मीठा खाना सभी को पसंद होता है लेकिन जरूरत से ज्‍यादा आपकी हेल्‍थ के लिए खतरनाक हो सकता है। यह टाइप 2 डायबिटीज को जन्‍म देने के साथ-साथ आपकी किडनी के लिए भी खतरनाक हो सकता है। 

यूरीन रोककर रखना: बहुत सारी महिलाओं को इस बात की जानकारी नहीं है, हमारा ब्‍लैडर लगभग दो कप लिक्विड को तीन से चार घंटे तक होल्‍ड करके रख सकता है। लेकिन कुछ महिलाओं को पब्लिक बाथरूम में जाने में दिक्‍कत होने के कारण वह बहुत ज्‍यादा देर तक यूरीन को रोककर रखती हैं। ऐसा करना आपकी किडनी के लिए नुकसानदायक हो सकता है। लू में न जाकर आप अपने अंगों को टॉक्सिन को बाहर निकालने से रोक रहे हैं। इससे यूटीआई हो सकता है, पेल्विक एरिया की मसल्‍स को नुकसान, किडनी की पथरी और बहुत कुछ हो सकता है।

एल्‍कोहल और स्‍मोकिंग : सिगरेट पीने से हमारी किडनी के टॉक्सिन्स को फिल्टर करना मुश्किल हो जाता है। इसके अलावा, शराब डिहाइड्रेशन का कारण बनता है और तरल पदार्थों को संतुलित करने की किडनी की क्षमता को नुकसान पहुंचाता है। इससे आपका ब्‍लड प्रेशर भी बढ़ सकता है।

ब्‍लड प्रेशर के बारे में जानकारी का अभाव: यह सही समय है जब आपको अपने ब्‍लड प्रेशर पर निगरानी रखनी चाहिए और इसे अपनी आदत बना लें। किडनी डैमेज से हाई ब्‍लड प्रेशर हो सकता है। आपके मन में सवाल आ रहा होगा, कैसे? तो हम आपको बता दें कि किडनी ब्‍लड और ब्‍लड वेसल्‍स का उपयोग हृदय प्रणाली से करता है ताकि टॉक्सिन को फ़िल्टर किया जा सके और पोषक तत्वों को वितरित किया जा सके। अगर आपको हाई बीपी की बीमारी है तो इसका मतलब है कि कार्डियोवस्कुलर सिस्टम में कुछ गड़बड़ है।