बेकार खानपान के कारण फैट की चर्बी एक सामान्य स्वास्थ्य समस्या

 बेकार खानपान के कारण फैट की चर्बी एक सामान्य स्वास्थ्य समस्या

आज की व्यस्त लाइफस्टाइल व बेकार खानपान के कारण फैट की चर्बी एक सामान्य स्वास्थ्य समस्या है जो शरीर में फैट के उच्च स्तर को परिभाषित करती है. 30 या उससे अधिक का बॉडी मास इंडेक्स (बीएमआई) फैट की चर्बी दर्शाता है. फैट

की चर्बी आपके के कई तरह से हानिकारक है, क्योंकि यह आपके बेडौल होने का कारण तो बनता ही है साथ-साथ ही साथ टाइप 2 डायबीटिज, हाई ब्लड प्रेशर, किडनी फेलियर, दिल के रोग का जाखिम भी बढ़ता है. इसलिए महत्वपूर्ण है कि जल्द से जल्द इस पर काबू पाया जाए. याद रखिए फैट की चर्बी कम करना कठिन होने कि सम्भावना है, लेकिन नामुमकिन नहीं. ठीक खानपान, वर्कआउट व हेल्दी लाइफस्टाइल के जरिए इसे बहुत जल्द काबू में किया जा सकता है. आइए जानते हैं फैट की चर्बी कम करने के कुछ मददगार टिप्स के बारे में :-

फ्रूट जूस को कहें ना
मोटापा कम करने के लिए फ्रूट जूस को ना कहिए, क्योंकि अधिकतर फलों का रस उच्च चीनी सामग्री के साथ आता है. यदि आप वजन घटाने का कोशिश कर रहे हैं तो अपने पेय से चीनी को पूरी तरह से काट लें. स्पोर्ट ड्रिंक से भी बचें, इनमें सोडा कैन जितनी चीनी होती है. भरपूर पानी पीना आपके शरीर को हाइड्रेट व साफ रखने के लिए सबसे अच्छा उपाय है. जूस की स्थान पर फलों का सेवन करें उनमें पाया जाने वाला फाइबर आपके पाचन को ठीक रखकर फैट की चर्बी कम करने में मदद करता है.

खाना बंद न करें
पेट की चर्बी कम करने के लिए आपको खाना बंद नहीं करना चाहिए. भूखा रहने से शरीर में कमजोरी आती है. बस आपको ये ध्यान रखना है कि आप क्या खा रहे हैं. अपनी डाइट से प्रोसेस्ड फूड व कार्ब्स काे दूर रखें. हां, हेल्दी कार्ब्स पोषण के लिए महत्वपूर्ण हैं. क्योंकि ये आपको एनर्जी देते हैं.

हरी पत्तेदार सब्जियां खाएं
अपने आहार में अधिक फल व हरी पत्तेदार सब्जियों को शामिल करें. इनसे आपकाे सभी महत्वपूर्ण पाेषक तत्व मिल जांएगे. हरी पत्तेदार सब्जियां जैसे केल, पालक, कोलार्ड, स्विस चार्ट आदि वजन कम करने वाले आहार के तौर पर एकदम ठीक हैं. क्योंकि ये कैलोरी व कार्बोहाइड्रेट में कम व फाइबर में उच्च होती हैं. इनका सेवन कैलोरी बढ़ाए बिना भोजन की मात्रा बढ़ाने का एक शानदार उपाय है. इनमें कैल्शियम सहित कई विटामिन, एंटीऑक्सिडेंट व खनिज होते हैं जो फैट बर्नर के तौर पर कार्य करते है. डाइट में हरी पत्तेदार सब्जियां का सेवन जल्द ही आपके 6 पैक्स एब्स की चाहत पूरी कर सकता है.

प्रोटीन का खाएं
शोधकर्ताओं का बोलना है कि डाइट में प्रोटीन का सेवन बढ़ाने से वजन कम करने में मदद मिल सकती है, साथ मांसपेशियों का विकास होता है. प्रोटीन का अच्छा स्रोत चुनें, जैसे कि लीन मीट, सीफूड, लो-फैट डेयरी व नट्स.

पूरी नींद लें
कई अध्ययन नींद की कमी व वजन बढ़ने के बीच जुड़े हुए हैं. एक रात में सात से आठ घंटे की नींद लेने की प्रयास करें. सोने से पहले एक उपन्यास पर ध्यान देना या पढ़ना आपको एक अच्छी नींद लाने में मदद कर सकता है.

कार्डियो के साथ स्ट्रेंथ ट्रेनिंग
वजन कम करने के लिए कार्डियो जरूरी है. लेकिन आपको स्ट्रेंथ ट्रेनिंग को भी शामिल करना चाहिए, यदि आपका उद्देश्य उस बेली फैट को वॉशबोर्ड एब्स में बदलना है. ऐसा इसलिए है क्योंकि मांसपेशियों में वसा की तुलना में अधिक कैलोरी जलती है. फिटनेस विशेषज्ञ हफ्ते में 5 दिनों के लिए दिन में कम से कम आधे घंटे पैदल चलना या बाइक चलाने जैसी मध्यम गतिविधि व हफ्ते में दो बार स्ट्रेंथ ट्रेनिंग करने का सुझाव देते हैं.