रहना चाहते हैं healthy तो करे इस डाइट को शामिल

रहना चाहते हैं  healthy तो करे इस डाइट को शामिल

पौष्टिक तत्वों से भरपूर भोजन स्वस्थ तन व मन के लिए महत्वपूर्ण है. स्वास्थ्य वर्धक खाना आपको जीवनभर स्वस्थ रखने में मदद करता है. दुनियाभर में पौष्टिकता से भरपूर कई आहार योजनाएं हैं. कई ऐसे सुपरफूड्स हैं जो आपको हेल्दी रखने में असरदार होते हैं. आज हम आपको कुछ ऐसे ही सुपरफूड्स के बारे में बताने जा रहे हैं, जिन्हें आप अपनी डाइट में शामिल कर अपनी स्वास्थ्य को व भी बेहतर बना सकते हैं. आइए जानते हैं उनके बारे में

सहजन ( Moringa superfood )
मोरिंगा ओलीफेरा यानि सहजन, इसे ड्रमस्टिक ट्री के नाम से भी जाना जाता है. अपने पोषक तत्वों कारण इसे सुपरफूड माना जाता है. सहजन की पत्तियों का सूखा पाउडर कई तरह के न्यूट्रिशन से भरपूर होता है. यदि आप एक ऐसे भोजन की तलाश में हैं जो आपकी की इम्युनिटी बूस्ट करने, सूजन कम करने व एंटी माइक्रोबियल असर देने का कार्य करता हो, तो आपकी खोज मोरिंगा पर खत्म होती है. मोरिंगा पत्ती के अर्क से मिलने वाला पाउडर आपके दिल की स्वास्थ्य बनाए रखता है. यह ब्लड कोलेस्ट्रॉल के स्तर को नियंत्रित करने, रक्तचाप को नियमित रखने में सहायक है. मोरिंगा के पत्तों का दैनिक सेवन फैटी लीवर की समस्या को रोकने और आंत की वसा को कम करने में मदद करता है. मोरिंगा के पत्तों के 100 ग्राम में 314 मिलीग्राम कैल्शियम होता है व कैल्शियम आपकी हड्डियों को मजबूत बनाने के लिए जरूरी है.

अखरोट का दूध ( Walnut Milk Benefits )
अखरोट का दूध डेयरी का एक अच्छा विकल्प है. सामान्य तौर नट्स वसा, फाइबर व प्रोटीन के साथ-साथ दूध के अच्छे स्रोत होते हैं. इनमें पाएं जाने वाले पोषक तत्व शरीर के लिए लाभकारी होते हैं. जो लोग एलर्जी के कारण दूध का सेवन नहीं करते उनके लिए एक स्वास्थ्य वर्धक विकल्प है.

ग्रीन कॉफी ( Green Coffee Benefits )
ग्रीन कॉफी बीन्स अनरोस्टेड बीन्स होने के कारण क्लोरोजेनिक एसिड (CGA) को संरक्षित करते हैं, जो कॉफी बीन्स को भुनने के दौरान बहुत ज्यादा हद तक कम हो जाता है. क्लोरोजेनिक एसिड वजन कम करने, मोटापे से संबंधित हार्मोन को संशोधित कर फैट की चर्बी रोकने, लिवर में फैटी एसिड कम करने व कोलेस्ट्रॉल को नियंत्रित करने में सहायक होता है. यह कार्बोहाइड्रेट के अवशोषण को कम कर रक्त शर्करा व इंसुलिन स्पाइक्स को भी रोकता है. जिससे टाइप 2 मधुमेह का जोखिम कम हो जाता है.

बाजरा ( Millets Benefits )
लौह, मैग्नीशियम, फॉस्फोरस, पोटेशियम व फाइबर जैसे खनिजों में बाजरा विशेष रूप से उच्च होता है,जो अच्छे स्वास्थ्य के लिए आवश्यक हैं, विशेष रूप से दिल के लिए. बाजरा को कम से कम एलर्जेनिक व सबसे सरलता से पचने वाला अन्न माना जाता है. चूंकि बाजरा में ग्लूटेन नहीं होता है, इसलिए यह ग्लूटेन से एलर्जी रखने वाले लोगों के लिए अच्छा विकल्प है. बाजरा का सेवन सूप, खिचड़ी या रोटी बनाकर किया जा सकता है.

फूलगोभी/ ब्रोकली ( Cauliflower / Broccoli Benefits )
फूलगोभी में यूनिक प्लांट कम्पाउंड जो कई बीमारियों के जोखिम को कम कर सकते हैं. इसमें कैंसर से लड़ने वाली शक्ति भी हो सकती है. यह विटामिन सी, के, फाइबर, फोलेट व विटामिन बी 6 का एक अच्छा स्रोत है.

हालांकि ब्रोकली को कई वर्ष पहले सुपरफूड का दर्जा दिया जाता है, लेकिन फूलगोभी को भी स्वास्थ्य वर्धक माना जाता है । यह हृदय, मस्तिष्क स्वास्थ्य व पाचन को बढ़ावा देती है. कलौरी में कम होने से यह वजन घटाने में भी मददगार है.