एक्सपर्ट से जानें, कार्ब्स को उपवास में लेना है कितना सही और किस रेसिपी में मिलेगी इसकी भरपूर मात्रा

एक्सपर्ट से जानें, कार्ब्स को उपवास में लेना है कितना सही और किस रेसिपी में मिलेगी इसकी भरपूर मात्रा

कार्बोहाइड्रेट हमारे शरीर में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं क्योंकि यह एक महत्वपूर्ण पोषक तत्व स्त्रोत है, जो न केवल मांसपेशियों और मस्तिष्क को ऊर्जा प्रदान करता है, बल्कि आहार में सही प्रकार के कार्ब्स का उपयोग करने से प्रभावी रूप से वजन कम करने और फिटनेस लक्ष्यों में तेजी़ लाने में मदद मिल सकती है। दो प्रकार के कार्ब्स होते हैं- स्लो और फास्ट कार्ब्स। यह ग्लाइसेमिक इंडेक्स पर निर्भर करता है (जिस दर से ग्लूकोज़ स्त्राव की तुलना में कार्ब्स को पचाता है)। फास्ट कार्ब्स में उच्च जीआई होता है और बहुत ज्यादा गति से ऊर्जा जारी करता है। इससे आप अक्सर भूख महसूस करते हैं। इनमें ब्रेड, शक्कर, स्टार्च वाली सब्जियां, फलों के रस आदि जैसे प्रोसेस्ड खाद्य पदार्थ शामिल हैं। इसकी तुलना में स्लो कार्ब्स में जीआई कम होता है और शरीर मे धीरे-धीरे ऊर्जा जारी करता है, जो एनर्जेटिक बनाए रखता है क्योंकि इसमे फाइबर की मात्रा ज्यादा होती है।

कुछ इस तरह शामिल करें कार्ब्स

जाहिर है आप उपवास कर रहे हैं तो सामान्य दिनों की अपेक्षा कम ही भोजन करेंगे। ऐसे में आपको ऑड टाइमिंग में भूख लगना वाज़िब है। अगर आप स्लो कार्ब्स लेते हैं तो यह आपको दिनभर स्ट्रेंथ देगा क्योंकि यह पचने में सहायक है। आलू और साबुदाना के साथ अन्य रेशेदार सब्जियां जैसे पालक, गोभी, टमाटर, शिमला मिर्च, लौकी को शामिल करें। बकव्हीट यानि कुट्टू में कार्ब्स और प्रोटीन का शानदार कॉम्बिनेशन है। इसमें बी-12, फॉस्फोरस, मैग्नीशियम, आयरन, जिंक, कॉपर और मैग्नीज़ है। कुट्टू की पूरियां बनाने के बजाय चपाती बनाकर खाएं, ज्यादा फायदा मिलेगा। व्रत वाले चावल पचाने में बेहद आसान होते हैं। यह ऊर्जा प्रदान करते हैं। आलू के चिप्स के बजाय भूने हुए मखाने/बेक्ड चिप्स, भुनी मूंगफली का सेवन किया जा सकता है।

कुट्टू का ढोकला

कार्ब्स के लिए इससे बेहतर और कुछ नहीं हो सकता, तो ट्राई कर देखें।

सामग्री

1 कप कुट्टू का आटा, 1/2 कप खट्टा दही, 1/4 टीस्पून अदरक का पेस्ट, स्वादानुसार सेंधा नमक, 1 टेबलस्पून ताजा धनिया, 1 बारीक कटी हरी मिर्च

विधि

एक बोल में कुट्टू का आटा लें। इसमें दही, सेंधा नमक और अदरक का पेस्ट मिलाएं। आधे कप पानी के साथ मिलाएं। इसे ढककर कम से कम 4 से 5 घंटे के लिए रख दें। अब इसमें हरी मिर्च डालकर मिलाएं। घोल को स्टीम करने के लिए ग्रीस लगी थाली पर डालें। ऊपर से ताजा कटा हुआ धनिया छिड़कें। स्टीम करें।

करीब 10-12 मिनट के लिए स्टीम दें या जब तक कि ढोकला पक नहीं जाता। टुकड़ों में काटें। हरी चटनी के साथ गर्मागर्म परोसें।


लहसुन खाएंगे तो कम होगा ऐसी गंभीर बीमारियों का जोखिम

लहसुन खाएंगे तो कम होगा ऐसी गंभीर बीमारियों का जोखिम

भारतीय पकवानों को तैयार करने में आमतौर पर जिन चीज़ों का इस्तेमाल किया जाता है, वे खाने का सवाद तो बढ़ाती ही हैं, लेकिन साथ ही सेहत के लिए भी फायदेमंद होती हैं। जिनकी मदद से हम कई तरह की बीमारियों से दूर रहते हैं। इन्हीं में से एक है लहसुन।

भारत में लहसुन दो तरह से इस्तेमाल किए जाते हैं। पहला दाल में तड़का लगाते वक्त और दूसरा सब्ज़ी बनाने वक्त। इसके साथ ही कुछ लोग लहसुन की चटनी भी बनाकर खाते हैं, तो कुछ लोग सुबह-सुबह खाली पेट इसे खाते हैं। वहीं, कुछ लोग सेहतमंद रहने के लिए इसे भून कर भी खाना पसंद करते हैं। अगर आपको लहसुन 

उसके स्वाद या सुगंध की वजह से नापसंद है, तो ये आर्टिकल ज़रूर पढ़ें।

लहसुन में होते हैं ज़रूरू खनिज पदार्थ 

लहसुन में विटामिन-सी, विटामिन-बी 6, फॉस्फोरस, मैंगनीज, जस्ता, कैल्शियम और लोहा जैसी बेहद ज़रूरी खनिज पाए जाते हैं। साथ ही इसमें थोड़ी मात्रा में प्रोटीन, थायमिन और पैंटोथेनिक एसिड भी होते हैं। ये सभी चीज़ें सेहत के लिए बहुत ही फायदेमंद होती हैं। 


ख़ून को साफ करता है

आयुर्वेद लहसुन की चटनी खाने की सलाह देता है। इसके सेवन से ख़ून साफ होता है। लहसुन के सेवन से शरीर में मौजूद सभी अनावश्यक विषाक्त पदार्थ बाहर निकल जाते हैं।

कोलेस्ट्रॉल नियंत्रित रहता है

लहसुन में यौगिक एलिसिन की अच्छी मात्रा पाई जाती है, जो हानिकारक एलडीएल कोलेस्ट्रॉल को ऑक्सीकरण से बचाता है। साथ ही यह शरीर से एलडीएल कोलेस्ट्रॉल को भी ख़त्म करता है।


हाई ब्लड प्रेशर में फायदेमंद लहसुन

लहसुन को प्राकृतिक औषधि माना जाता है। इसके रोज़ाना सेवन से हाई ब्लड प्रेशर कंट्रोल में रहता है, या कई मौके पर हाई ब्लड प्रेशर को भी कम करता है। साथ ही लहसुन प्लेटलेटस को भी बढ़ाने का काम करता है। जिससे Thrombosis से लड़ने में मदद मिलती है। 

कैंसर में फायदेमंद 

एक शोध में ये साबित हुआ है कि लहसुन प्रोस्टेट, एसोफैगल और कोलन कैंसर के जोखिम को कम करने में भी काफी फायदेमंद है। 

पाचन को बनाता है मज़बूत 

लहसुन रोज़ाना खाने से पाचन तंत्र को मज़बूती मिलती है। इससे पेट में होने वाली सभी तरह की बीमारियां जैसे सूजन, जलन, गैस्ट्रिक आदि से राहत भी मिल सकती है। 


Tiger Shroff के शानदार डांस पर दिशा पाटनी ने किया दिलचस्प कमेंट       इस एक्ट्रेस ने कराया ग्लैमरस फोटोशूट, देखकर हो जाएंगे दीवाने       एक्ट्रेस जमीला जमील को प्रियंका चोपड़ा समझ बैठा फैन       बयान दर्ज कराने क्राइम ब्रांच के पहुंचे ऋतिक रोशन       Ranveer Singh ने रोहित शेट्टी के एक्शन सीन को लेकर कही ये बात       इंस्टेंट बल्ड शुगर कंट्रोल करने के लिए रोजाना पिएं इसका पानी       लहसुन खाएंगे तो कम होगा ऐसी गंभीर बीमारियों का जोखिम       शरीर में ये बदलाव डायबिटीज के हैं लक्षण       कोरोना वायरस से मिली हैं ये 6 सीख       इन चीजों से करें परहेज और पीलिया में खाएं ये चीजें       पाचन तंत्र को दुरुस्त बनाने के साथ सेहत के लिए बहुत होता है फायदेमंद दलिया       सेहत के लिए बहुत लाभकारी होता है अश्वगंधा       उल्टी की समस्या से छुटकारा पाने के लिए करें ये उपाय       हड्डियों को मजबूत बनाने के साथ सेहत के लिए भी बहुत होती है लाभकारी ये दाल       सिरदर्द से हो गए परेशान, तो अपनाएं ये उपचार       अब इन दो टीमों के पास है मौका, World Test Championship से बाहर हुई इंग्लैंड की टीम       भारत में ही पांच-छह शहरों में होगा IPL 2021 का आयोजन       OMG! इस एक्ट्रेस ने इंस्टाग्राम पर शेयर की ग्लैमरस तस्वीर       OTT Platform Guidelines पर क्या है लोगों की राय? किसी ने बताया महत्वपूर्ण कदम तो कोई बोला...       Sita- The Incarnation: अब बड़े पर्दे पर आएगी 'सीता' की अनकही कहानी, इस फ़िल्म का है ये कनेक्शन