इस क्रम में दिखाई देते हैं Covid-19 के सभी लक्षण

इस क्रम में दिखाई देते हैं Covid-19 के सभी लक्षण

कोरोना वायरस के मामले दुनिया भर में तेज़ी से बढ़ रहे हैं और खासकर हमारे जैसे देश में, यह और भी ख़तरनाक स्तर पर पहुंच रहा है। वैक्सीन विकसित करने का काम भले ही तेज़ी से चल रहा है, लेकिन एक कारगर वैक्सीन को आने में कम से कम 2-3 साल लग सकते हैं। इसलिए इस वक्त लक्षणों की पहचान और उसका सही इलाज कोरोना को रोकने का एकमात्र तरीका है।

कोरोना वायरस के बारे में एक बात साफ है कि इसके लक्षण कई चीज़ों पर निरभर करते हैं- जैसे आपकी उम्र, स्वास्थ्य, पहले से मौजूद बीमारी और लिंग। हालांकि, ज़्यादातर मामलों में, COVID-19 एक निश्चित तरीके से शुरू होता है। यहां तक कि शोधकर्ताओं ने ऐसे लक्षणों की भी खोज की है, जो सिर्फ कोरोना वायरस में ही देखे जाते हैं, जैसे सूंघने और स्वाद की शक्ति का ख़त्म होना और पैर की उंगलियों में सूजन और दर्द।

एक ऐसा लक्षण जिससे कोरोना को पहचानना आसान हो
दक्षिणी कैलीफोर्निया विश्वविद्यालय में हुए नए शोध के मुताबिक, कोविड-19 के लक्षण एक खास क्रम में देखे जाते हैं। जिससे ये साफ हो सकता है कि बीमारी आम फ्लू है या फिर कोरोना वायरस।
 
वैज्ञानिकों का मानना है कि लक्षणों की सही पहचान से लोगों को स्थिति बिगड़ने से पहले आइसोलेशन और लक्षणों का इलाज करने में मदद मिलेगी।
 
फ्लू से कैसे अलग है कोरोना वायरस
कोविड-19 कई मायनों में बिलकुल फ्लू जैसा है, लेकिन लक्षण जिस क्रम में दिखना शुरू होते हैं, वे अलग हो सकते हैं। चीन में एक शोध में देखा गया कि लक्षण इस क्रम में देखे जाते हैं। :
 
-बुख़ार
-खांसी, मांसपेशियों में दर्द
-मतली, उलटी
-दस्त
-सांस लेने में दिक्कत
 
इस शोध से कैसे मदद मिलेगी?
इस शोध से डॉक्टरों के लिए कोरोना के मरीज़ों का पता लगाना आसान होगा। खासकर ऐसे मौसम में जब कोरोना के साथ फ्लू और दूसरे वायरल संक्रमण आम हो जाते हैं। 
 
क्योंकि कोविड-19 वायरस इंफ्लूएंज़ा से कहीं ज़्यादा संक्रामक है, इसलिए बुखार जैसे लक्षण दिखते ही जागरुक हो जाना चाहिए, जिससे की बीमारी को फैलने से रोका जा सके।
 
कब कराना चाहिए टेस्ट?
अगर आपको ऐसा लगता है कि आपका बुखार कोरोना वायरस संक्रमण का ही लक्षण है, तो सबसे पहले अपने डॉक्टर से संपर्क करें और ज़रूरी सावधानियां बरतें। याद रखें कि हमारे शरीर का नॉर्मल तापमान 97-99 डिग्री फेरेनहीट होता है और समय पर भी निर्भर करता है। 
 
अगर आपक लक्षण तीन दिनों तक जाते नहीं हैं और शरीर का तापमान लगातार 99 डिग्री से ऊपर बना हुआ है, तो आपको कोविड-19 टेस्ट करवाना चाहिए। साथ ही खुद को एकांत में रखें और ज़रूरी सावधानियां बरतें। साथ ही दूसरे लक्षणों पर भी नज़र रखें।
 
सिर्फ यही नहीं हैं कोरोना के लक्षण
बुखार और खांसी ही सिर्फ कोरोना वायरस के लक्षण नहीं हैं। हमें अलक्षणी प्रसारण के जोखिम का भी ख्याल रखना होगा, जिसका मतलब है कोरोना के वे मरीज़ जिनमें एक भी लक्षण दिखाई नहीं देता है। इसलिए सावधानियां बरतनी बेहद ज़रूरी हैं। इसके अलावा, कई ऐसे भी मरीज़ अस्पताल पहुंचे हैं, जिनमें सिर्फ सीने में दर्द, सूंघने की शक्ति का ख़त्म होना या फिर गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल संक्रमण के लक्षण देखे गए। इसलिए इस बीमारी के बारे में जागरुक होना और सुरक्षा के उपायों का अभ्यास करना सभी के लिए बेहद महत्वपूर्ण है।


लहसुन खाएंगे तो कम होगा ऐसी गंभीर बीमारियों का जोखिम

लहसुन खाएंगे तो कम होगा ऐसी गंभीर बीमारियों का जोखिम

भारतीय पकवानों को तैयार करने में आमतौर पर जिन चीज़ों का इस्तेमाल किया जाता है, वे खाने का सवाद तो बढ़ाती ही हैं, लेकिन साथ ही सेहत के लिए भी फायदेमंद होती हैं। जिनकी मदद से हम कई तरह की बीमारियों से दूर रहते हैं। इन्हीं में से एक है लहसुन।

भारत में लहसुन दो तरह से इस्तेमाल किए जाते हैं। पहला दाल में तड़का लगाते वक्त और दूसरा सब्ज़ी बनाने वक्त। इसके साथ ही कुछ लोग लहसुन की चटनी भी बनाकर खाते हैं, तो कुछ लोग सुबह-सुबह खाली पेट इसे खाते हैं। वहीं, कुछ लोग सेहतमंद रहने के लिए इसे भून कर भी खाना पसंद करते हैं। अगर आपको लहसुन 

उसके स्वाद या सुगंध की वजह से नापसंद है, तो ये आर्टिकल ज़रूर पढ़ें।

लहसुन में होते हैं ज़रूरू खनिज पदार्थ 

लहसुन में विटामिन-सी, विटामिन-बी 6, फॉस्फोरस, मैंगनीज, जस्ता, कैल्शियम और लोहा जैसी बेहद ज़रूरी खनिज पाए जाते हैं। साथ ही इसमें थोड़ी मात्रा में प्रोटीन, थायमिन और पैंटोथेनिक एसिड भी होते हैं। ये सभी चीज़ें सेहत के लिए बहुत ही फायदेमंद होती हैं। 


ख़ून को साफ करता है

आयुर्वेद लहसुन की चटनी खाने की सलाह देता है। इसके सेवन से ख़ून साफ होता है। लहसुन के सेवन से शरीर में मौजूद सभी अनावश्यक विषाक्त पदार्थ बाहर निकल जाते हैं।

कोलेस्ट्रॉल नियंत्रित रहता है

लहसुन में यौगिक एलिसिन की अच्छी मात्रा पाई जाती है, जो हानिकारक एलडीएल कोलेस्ट्रॉल को ऑक्सीकरण से बचाता है। साथ ही यह शरीर से एलडीएल कोलेस्ट्रॉल को भी ख़त्म करता है।


हाई ब्लड प्रेशर में फायदेमंद लहसुन

लहसुन को प्राकृतिक औषधि माना जाता है। इसके रोज़ाना सेवन से हाई ब्लड प्रेशर कंट्रोल में रहता है, या कई मौके पर हाई ब्लड प्रेशर को भी कम करता है। साथ ही लहसुन प्लेटलेटस को भी बढ़ाने का काम करता है। जिससे Thrombosis से लड़ने में मदद मिलती है। 

कैंसर में फायदेमंद 

एक शोध में ये साबित हुआ है कि लहसुन प्रोस्टेट, एसोफैगल और कोलन कैंसर के जोखिम को कम करने में भी काफी फायदेमंद है। 

पाचन को बनाता है मज़बूत 

लहसुन रोज़ाना खाने से पाचन तंत्र को मज़बूती मिलती है। इससे पेट में होने वाली सभी तरह की बीमारियां जैसे सूजन, जलन, गैस्ट्रिक आदि से राहत भी मिल सकती है। 


Tiger Shroff के शानदार डांस पर दिशा पाटनी ने किया दिलचस्प कमेंट       इस एक्ट्रेस ने कराया ग्लैमरस फोटोशूट, देखकर हो जाएंगे दीवाने       एक्ट्रेस जमीला जमील को प्रियंका चोपड़ा समझ बैठा फैन       बयान दर्ज कराने क्राइम ब्रांच के पहुंचे ऋतिक रोशन       Ranveer Singh ने रोहित शेट्टी के एक्शन सीन को लेकर कही ये बात       इंस्टेंट बल्ड शुगर कंट्रोल करने के लिए रोजाना पिएं इसका पानी       लहसुन खाएंगे तो कम होगा ऐसी गंभीर बीमारियों का जोखिम       शरीर में ये बदलाव डायबिटीज के हैं लक्षण       कोरोना वायरस से मिली हैं ये 6 सीख       इन चीजों से करें परहेज और पीलिया में खाएं ये चीजें       पाचन तंत्र को दुरुस्त बनाने के साथ सेहत के लिए बहुत होता है फायदेमंद दलिया       सेहत के लिए बहुत लाभकारी होता है अश्वगंधा       उल्टी की समस्या से छुटकारा पाने के लिए करें ये उपाय       हड्डियों को मजबूत बनाने के साथ सेहत के लिए भी बहुत होती है लाभकारी ये दाल       सिरदर्द से हो गए परेशान, तो अपनाएं ये उपचार       अब इन दो टीमों के पास है मौका, World Test Championship से बाहर हुई इंग्लैंड की टीम       भारत में ही पांच-छह शहरों में होगा IPL 2021 का आयोजन       OMG! इस एक्ट्रेस ने इंस्टाग्राम पर शेयर की ग्लैमरस तस्वीर       OTT Platform Guidelines पर क्या है लोगों की राय? किसी ने बताया महत्वपूर्ण कदम तो कोई बोला...       Sita- The Incarnation: अब बड़े पर्दे पर आएगी 'सीता' की अनकही कहानी, इस फ़िल्म का है ये कनेक्शन