इन चीजों से करें परहेज और पीलिया में खाएं ये चीजें

इन चीजों से करें परहेज और पीलिया में खाएं ये चीजें

पीलिया एक ऐसा रोग है, जो रक्त में बिलीरुबिन के बढ़ने से होता है। विशेषज्ञों की मानें तो पीलिया हेपेटाइटिस-ए और हेपेटाइटिस-सी वायरस के कारण होता है। आमतौर पर रक्त में 1 प्रतिशत बिलुरुबिन होता है, लेकिन मात्रा 2.5% से अधिक होने पर पीलिया हो जाता है। यह किसी भी उम्र के व्यक्ति को हो सकता है। हालांकि, बच्चे और बूढ़े इससे अधिक शिकार होते हैं। पीलिया होने पर पेशाब, नाखून और आंखें पीले होने लगता है। साथ ही शरीर में रक्त की कमी होने लगती है। पीलिया के लक्षण दिखने पर तत्काल डॉक्टर से सलाह लेना चाहिए। लापरवाही बरतने पर यह खतरनाक साबित हो सकता है। इस बीमारी में परहेज की विशेष जरूरत होती है। इसके लिए डॉक्टर हमेशा पीलिया के रोगियों को खानपान पर विशेष ध्यान देने की सलाह देते हैं। आइए जानते हैं कि पीलिया में क्या खाएं और किन चीजों से करें परहेज-

गन्ने का जूस पिएं


डॉक्टर पीलिया रोग में गन्ने का जूस पीने की सलाह देते हैं। इसमें आप स्वाद अनुसार नींबू रस डालकर अधिक से अधिक सेवन कर सकते हैं। इसके सेवन से पीलिया रोग में बहुत जल्द आराम मिलता है।

शरीर को हाइड्रेट रखें

इसके लिए आप अधिक से अधिक नींबू पानी का सेवन करें। शरीर हाइड्रेट रहेगा, तो शरीर में मौजूद टॉक्सिन बाहर निकल जाता है। इससे रक्त का शुद्धिकरण होता है और रक्त में बिलुरुबिन नियंत्रित रहता है। नींबू में anti-inflammatory के गुण पाया जाता है, जो पीलिया रोग में फायदेमंद साबित होता है।


छाछ का सेवन करें

पीलिया के मरीजों को छाछ अथवा दही सेवन करना चाहिए। इसके लिए छाछ में काला नमक मिलाकर सेवन करें। इससे पाचन तंत्र में सुधार होता है और पीलिया में आराम मिलता है।

मूली का रस पिएं

विशेषज्ञों की मानें तो मूली का रस पीने से रक्त में अतिरिक्त बिलुरुबिन बाहर निकल जाता है। पीलिया के मरीजों को रोजाना कम से कम एक गिलास मूली का रस का सेवन करना चाहिए।


नीम की पत्तियों का सेवन करें

आयुर्वेद में नीम को औषधि माना जाता है। इसमें कई औषधीय गुण पाए जाते हैं, जो सेहत और सुंदरता के लिए फायदेमंद होते हैं। इसके सेवन से कई तरह की बीमारियां दूर हो जाती हैं। खासकर रक्त संबंधी बीमारियों में यह रामबाण साबित होता है। इसके लिए पीलिया के मरीज नीम की पत्तियों का सेवन कर सकते हैं। इसके अलावा, नीम की पत्तियों को पीसकर रस बनाकर सेवन कर सकते हैं।


किन चीजों से करें परहेज

डॉक्टर हमेशा पीलिया के मरीजों को मसालेदार चीजों का सेवन न करने की सलाह देते हैं। इसके अलावा, जंक फूड से भी परहेज करना चाहिए। इनमें मसालों का अधिक इस्तेमाल किया जाता है, जो स्वास्थ्य के लिए नुकसान भी साबित होता है।

चाय और कॉफी से बनाएं दूरी

चाय और कॉफी में कैफीन पाया जाता है, जो सेहत के लिए नुकसानदेह होता है। खासकर पीलिया के मरीजों को भूलकर भी  कॉफी सेवन नहीं करना चाहिए। इसमें पाया जाने वाला कैफ़ीन काफी खतरनाक साबित होता है।


अचार का सेवन न करें

पीलिया के मरीजों को अचार का सेवन नहीं करना चाहिए। इसके अलावा नमक से भी परहेज करना चाहिए। इसके अलावा, मीट, चिकन और अंडे का सेवन नहीं करना चाहिए।


इंफेक्शन से रहना हो दूर या पेट दर्द की समस्या से चाहिए छुटकारा, हल्दी है इन सबका कारगर इलाज

इंफेक्शन से रहना हो दूर या पेट दर्द की समस्या से चाहिए छुटकारा, हल्दी है इन सबका कारगर इलाज

किचन में मौजूद हल्दी का इस्तेमाल खाने का रंग, स्वाद बढ़ाने के साथ ही खूबसूरती निखारने और यहां तक की सेहत के लिए भी बहुत ही फायदेमंद है। तो खुद को इंफेक्शन से दूर रखने के साथ ही लंबे समय तक बने रहना है सेहतमंद, तो इसका इस्तेमाल जरूर करें।

1. इम्‍यून सिस्‍टम को बनाता है स्ट्रॉन्ग

शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता में इजाफा करती है हल्‍दी। इससे शरीर कई बीमारियों से बचा रहता है। हल्‍दी में पाया जाने वाला लिपोपोलिसेकराईड तत्‍व हमारे इम्‍यून सिस्‍टम को मजबूत बनाकर बीमारियों से हमारी रक्षा करता है। साथ ही इसमें एन्‍टी बैक्‍टीरियल, एंटी वायरल और एंटी फंगल गुण भी विशेष रूप से पाए जाते है।

2. इन्फेक्शन से रखता है दूर

हल्दी में पाया जाने वाले करक्यूमिन नामक तत्‍व के कारण कैथेलिसाइडिन एंटी माइक्रोबियल पेप्टाइड (सीएएमपी) नामक प्रोटीन की मात्रा बढ़ती है। सीएएमपी प्रोटीन शरीर की प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाता है। यह प्रोटीन बैक्टीरिया और वायरस से लड़ने में शरीर की मदद करता है।

3. पेट की समस्‍याओं से दिलाए राहत

मसाले के रूप में प्रयोग की जाने वाली हल्‍दी का सही मात्रा में प्रयोग पेट में जलन एवं अल्‍सर की समस्‍या को दूर करने में बहुत ही लाभकारी होता है। हल्दी का पीला रंग कुरकमिन नामक अवयव के कारण होता है और यही चिकित्सा में प्रभावी होता है। चिकित्सा क्षेत्र के मुताबिक कुरकमिन पेट की बीमारियों जैसे जलन एवं अल्सर में काफी प्रभावी रहा है।

4. अंदरूनी चोट भरने में लाभदायक

चोट लगने पर हल्‍दी बहुत फायदा करती है। मांसपेशियों में खिंचाव होने पर या अंदरूनी चोट लगने पर हल्‍दी मिला गर्म दूध पीने से दर्द और सूजन में तुरन्‍त राहत मिलती है। चोट पर हल्दी और पानी का लेप लगाने से भी आराम मिलता है।

5. लीवर संबंधी समस्‍याओं में आराम

लीवर की तकलीफों से निजात पाने के लिए हल्‍दी बेहद उपयोगी होती है। यह रक्त दोष दूर करती है। हल्‍दी नेचुरल तौर पर ऐसे एन्‍जाइम्‍स का उत्‍पादन बढ़ाती है जिससे लीवर से विषैले पदार्थों को बाहर निकालने में मदद मिलती है।


CM योगी ने यूपी में 10 नए ऑक्सीजन प्लांट लगाने का निर्देश दिया, 6 करोड़ से ज्यादा खर्च होंगे       यूपी: साप्ताहिक बंदी के दौरान इन उद्योगों को सरकार ने दी राहत, पहले से तय शादियों में भी शर्तों के साथ छूट       HC के चीफ जस्टिस गोविंद माथुर ने की CM योगी की तारीफ, कहा...       उत्तर प्रदेश में कोरोना का कहर, बीते 24 घंटे में 120 की मौत, 27357 नए संक्रमित       विटामिन सी से भरपूर चीजों को करें डाइट में शामिल और रहें इंफेक्शन से दूर       इंफेक्शन से रहना हो दूर या पेट दर्द की समस्या से चाहिए छुटकारा, हल्दी है इन सबका कारगर इलाज       अच्छे खानपान के साथ इन चीजों का भी रखेंगे ध्यान तो बने रहेंगे लंबे समय तक हेल्दी       घर पर आसानी से बनाएं ये 5 अलग-अलग किस्म की चाय       कोरोना वायरस में हल्के, मामूली और गंभीर लक्षणों को कैसे पहचानें?       किसी भी उम्र में हो सकता है डायबिटीज, जानें इसकी वजहें, लक्षण, बचाव व उपचार       वैज्ञानिक ने की पुष्टि, सूंघने और स्वाद के भाव का खोना है COVID-19 का शुरुआती लक्षण       इन चीजों के सेवन से शरीर में नहीं होगी पानी की कमी, दूर रहेंगी बीमारियां       अस्थमा के मरीज कोरोना वायरस से बचने के लिए ये टिप्स अपनाएं       कहीं आप भी तो नहीं कर रहे मास्क पहनने में ये 5 ग़लतियां?       बढ़ते वजन से हैं परेशान तो ब्रेकफास्ट में इन चीजों को जरूर जोड़ें       एक्सपर्ट से जानें क्या होता है पैनिक डिसऑर्डर, इसके लक्षण बचाव एवं उपचार के बारे में       लगातार मास्क पहनने से त्वचा में होने वाली परेशानियों को ऐसे करें दूर       इस तरह बनाएं अपना डाइट प्लान, आपका वजन भी रहेगा कंट्रोल       पुरानी बीमारियों से छुटकारा के लिए ड्रैगन फ्रूट खाएं, इसके ये हैं फायदे       'शांति' बन घर-घर में मशहूर हुई थीं मंदिरा बेदी, अपनी प्रेग्नेंसी की वजह से हमेशा रहीं चर्चा में