मूवी माफियाओं से नहीं है सुशांत के केस का लेना- देनाः केके सिंह के वकील

मूवी माफियाओं से नहीं है सुशांत के केस का लेना- देनाः केके सिंह के वकील

सुशांत सिंह राजपूत मुद्दे में आए दिन बड़े खुलासे सामने आ रहे हैं. हाल ही में फिल्म मेकर व पवित्र रिश्ता के डायरेक्टर कुशाल झावेरी ने बताया है कि मीटू में नाम आने के बाद सुशांत 4 रातों तक नहीं सोए थे. 

एक्टर को पता था कि उन्हें कौन टार्गेट कर रहा है मगर पुख्ता सबूत ना होने पर वो कुछ कर नहीं पाए. इस पर अब कंगना रनोट का बोलना है कि सुशांत को मूवी माफियाओं द्वारा टार्गेट किया जा रहा था मगर अब रिया चक्रवर्ती को बलि का बकरा बनाया जा रहा है.

कंगना ने ट्विटर के जरिए कुशाल झावेरी का ट्वीट पोस्ट करते हुए लिखा, 'प्लीज आवाज उठाओ इससे पहले की देर हो जाए. पैसों की लालची (रिया चक्रवर्ती) सुशांत के साथ महज कुछ महीनों के लिए थी व अब उसको बलि का बकरा बनाया जा रहा है व जिन लोगों ने पूरी तैयारी से उसके दिमाग व आत्मशक्ति में चोट पहुंचाई वो खुला घूम रहे हैं'.

कुशाल झावेरी ने अपनी इंस्टा पोस्ट के जरिए बताया था कि वो वर्ष 2018 में सुशांत के साथ रहते थे. उस समय सुशांत पर संजना सांघी द्वारा मीटू के आरोप लगाए जाने पर मीडिया द्वारा उन्हें टार्गेट किया जा रहा है हालांकि संजना ने बाद में इसपर सफाई पेश की थी. कुशाल ने बताया कि सुशांत जानते थे कि उन्हें कौन टार्गेट कर रहा है मगर उनके पास इसे साबित करने के कोई सबूत नहीं थे.कंगना रनोट लगातार सुशांत मुद्दे को इंडस्ट्री में चल रहे नेपोटिज्म, कैंप व मूवी माफिया से जोड़ रही हैं. इसपर केके सिंह के एडवोकेट ने पिंकविला से वार्ता में बोला कि सुशांत केस में सोशल मीडिया या कंगना द्वारा बताए गए तथ्यों पर जाँच नहीं होगी. वो वैसे रिया द्वारा पैसों का प्रयोग किए जाने पर फोकस कर रहे हैं. इसपर कंगना ने जवाब में बोला था कि सुशांत का परिवार सिर्फ पैसों पर ध्यान दे रहा है.