Most Searched Celebrities In 2020: सबसे अधिक सर्च किये गये सुशांत सिंह राजपूत, जानिए रिया चक्रवर्ती की पोजिशन

Most Searched Celebrities In 2020: सबसे अधिक सर्च किये गये सुशांत सिंह राजपूत, जानिए रिया चक्रवर्ती की पोजिशन

नई दिल्ली। याहू ने 2020 में सबसे अधिक सर्च किये गये सेलेब्रिटीज़ की लिस्ट जारी की है, जिसमें दिवंगत एक्टर सुशांत सिंह राजपूत पहले नम्बर पर रहे हैं, जबकि उनकी गर्लफ्रेंड रहीं रिया चक्रवर्ती तीसरे स्थान पर आयी हैं। रिया सुशांत सिंह राजपूत डेथ केस की मुख्यारोपी भी हैं। बॉलीवुड सेलेब्रिटीज़ की लिस्ट में अमिताभ बच्चन नौवें स्थान पर रहे, जबकि कंगना रनोट 10वें स्थान पर आयीं।

मेल सेलब्रिटीज़ में सुशांत और अमिताभ के बाद अक्षय कुमार, सलमान ख़ान, इरफ़ान ख़ान, ऋषि कपूर, एसपी बाला सुब्रमण्यम, सोनू सूद, अनुराग कश्यप और अल्लू अर्जुन शामिल हैं। इरफ़ान, ऋषि कपूर और एसपी बालासुब्रमण्यम भी इस साल हमेशा के लिए अलविदा कह गये। सोनू सूद कोरोना वायरस पैनडेमिक के दौरान मजदूरों और स्टूडेंट्स को उनके घरों तक पहुंचाने के लिए चर्चा में रहे। इसके अलावा भी सोनू ने चैरिटी कामों से लोगों के दिल जीते। 

फीमेल सेलेब्रिटीज़ की लिस्ट में कंगना के बाद दीपिका पादुकोण (12 वां स्थान), सनी लियोनी (14वां स्थान), प्रियंका चोपड़ा (15वां स्थान) और कटरीना कैफ़ (16वां स्थान) हैं। इनके अलावा नेहा कक्कड़, कनिका कपूर, करीना कपूर ख़ान और सारा अली ख़ान भी सबसे अधिक सर्च किये जाने वाले फीमेल सेलेब्रिटीज़ की सूची में शामिल हैं। 

सुशांत सिंह राजपूत का मृत शरीर 14 जून को बांद्रा स्थित उनके आवास पर मिला था। साल 2020 में मनोरंजन जगत में यह मामला सबसे अधिक चर्चा में रहा और अभी भी सोशल मीडिया में छाया रहता है। सुशांत केस में तीन केंद्रीय एजेंसियां जांच कर रही हैं। सीबीआई उनके निधन की वजह की जांच में जुटी है तो प्रवर्तन निदेशालय आर्थिक गड़बड़ियों की जांच कर रहा है, वहीं नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो जांच के दौरान सामने आये ड्रग्स एंगल के मामले में तफ्तीश कर रहा है। ड्रग्स केस में ही रिया चक्रवर्ती की गिरफ़्तारी भी हुई थी और लगभग महीनेभर जेल में रहने के बाद उन्हें बॉम्बे हाई कोर्ट से जमानत मिली। 


IFFI 2020: 51वें भारतीय अंतर्राष्ट्रीय फिल्म महोत्सव का हुआ आगाज, इस बार ये है खास

IFFI 2020: 51वें भारतीय अंतर्राष्ट्रीय फिल्म महोत्सव का हुआ आगाज, इस बार ये है खास

नई दिल्ली। गोवा में होने वाले भारतीय अंतर्राष्ट्रीय फिल्म महोत्सव (आईएफएफआई) का आगाज हो चुका है। यह 51वां भारतीय अंतर्राष्ट्रीय फिल्म महोत्सव है। इस बार फिल्म महोत्सव का आयोजन गोवा के पणजी में डॉ. श्यामप्रसाद मुखर्जी स्टेडियम में किया गया है। भारतीय अंतर्राष्ट्रीय फिल्म महोत्सव 16 जनवरी से 24 जनवरी तक चालू रहेगा।

इस बार दुनियाभर से 224 फिल्मों को इस महोत्सव में शामिल किया गया है। भारतीय अंतर्राष्ट्रीय फिल्म महोत्सव के आयोजन में हिस्सा लेने के लिए सूचना और प्रसारण मंत्री प्रकाश जावडेकर गोवा पहुंचें। उन्होंने कला और संस्कृति की दृष्टि से इस आयोजन को बहुत महत्वपूर्ण बताया है। केंद्रीय मंत्री ने कहा कि पहले की तुलना में इस बार भारतीय अंतर्राष्ट्रीय फिल्म महोत्सव पहले से खास है। कोविड-19 की वजह से पहली बार हाईब्रिड आयोजन हो रहा है।

उन्होंने आगे कहा कि फिल्मोत्सव के हाईब्रिड होने की वजह से लोग इसे ऑनलाइन भी देख सकते हैं। फिल्म महोत्सव में सभी तरह की फिल्मों का प्रदर्शन होगा। साथ ही दूरदर्शन और अन्य चैनल सहित सोशल मीडिया के कई प्लेटफॉर्म पर प्रसारण किया जाएगा। इतना ही नहीं प्रकाश जावडेकर ने कहा कि थियेटर में कोविड-19 के प्रोटोकॉल का सख्ती से पालन होगा। यह कला और संस्कृति की दृष्टि से महत्वपूर्ण 51वां भारतीय अंतर्राष्ट्रीय फिल्म महोत्सव है। हर बार 16 नवंबर से 24 नवंबर तक इसका आयोजन होता है, लेकिन कोविड के कारण इसे स्थगित कर इस बार जनवरी में किया है।

वहीं गौरतलब है कि 51वें भारतीय अंतरराष्ट्रीय फिल्म महोत्सव ने इस बार के 'कंट्री इन फोकस' खंड के तौर पर पड़ोसी मुल्क बांग्लादेश को चुना है। 'कंट्री इन फोकस' संबंधित देश की सिनेमाई उत्कृष्टता और योगदान को मान्यता देता है। आपको बता दें कि भारतीय अंतरराष्ट्रीय फिल्म महोत्सव एशिया के सबसे खास फिल्म समारोहों में से एक है। इसकी शुरूआत साल 1952 में की गई थी। यह महोत्सव हर साल गोवा में होता है।

इस महोत्सव का मकसद सारी दुनिया के सिनेमा के लिए एक समान मंच मुहैया करवाना है। इस महोत्सव का संचालन सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय के अंतर्गत और गोवा सरकार के सहयोग से किया जाता है। भारतीय अंतरराष्ट्रीय फिल्म महोत्सव के द्वारा दुनियाभर के सिनेमा को अपनी फिल्म कला का प्रदर्शन करने के लिए प्लेटफार्म मिलता है।


PF Pension पर फैसला, सुप्रीम कोर्ट में आज सुनवाई       रंगोली बनाकर हुआ बाइडन और हैरिस का स्वागत, 1800 से ज्यादा लोगों ने लिया हिस्सा       तिब्बत पर कानून बनाकर अमेरिका ने दी चीन को चुनौती, भारत को चीन से वार्ता में मिलेंगे ज्यादा विकल्प       उपराष्ट्रपति पेंस ने निर्वाचित राष्ट्रपति को किया आगाह, कहा...       अमेरिकी संसद हमले में कहीं चीन, रूस और ईरान का तो नहीं है हाथ, FBI कर रही छानबीन       पाकिस्तान में सरकारी एजेंसियां कर रहीं मानवाधिकारों का उल्लंघन, सीनेट उपाध्यक्ष करेंगे अंतरराष्ट्रीय संगठनों से संपर्क       तनावपूर्ण संबंधों के बीच कोरोना वैक्सीन पर भारत की तरफ पाकिस्तान का रुख, जानें       पाकिस्‍तान के जब्त विमान के मामले में ब्रिटेन और मलेशिया कोर्ट में पेश होगा पीआइए       इमरान पर कार्रवाई नहीं करने से चुनाव आयोग पर भड़के शरीफ, लगाया बड़ा आरोप       पांच महीने जर्मनी में इलाज कराकर रूस लौटते ही पुतिन के कटु आलोचक नवलनी हुए गिरफ्तार, जानें       ईरान बना रहा है विध्‍वंसक परमाणु हथियार, फ्रांस के विदेश मंत्री ने किया सनसनीखेज खुलासा       शपथ ग्रहण को लेकर वाशिंगटन बुलाए गए हजारों सैनिक, जानें       चीन की कुटिल वैक्‍सीन डिप्‍लोमेसी के खिलाफ भारत ने खींची लंबी रेखा       एलेक्सेई नवलनी की गिरफ्तारी पर ईयू की आपत्ती, रूस से जल्द रिहा करने की अपील       सूरत से कोलकाता जा रहा इंडिगो विमान का भोपाल में इमरजेंसी लैंडिंग       अयोध्‍या में भव्‍य राम मंदिर के लिए ट्रस्ट को अब तक मिला 100 करोड़ का दान, चंपत राय बोले...       कानून रद करने के अलावा विकल्प बताएं किसान संगठन, 10वें दौर की वार्ता 19 को : कृषि मंत्री       कोरोना से बचा रहा है शाकाहार, CSIR का सर्वे में बड़ा खुलासा!       केंद्र सरकार ने बदली रणनीति, अब हर राज्य के लिए कोविड टीकाकरण के दिन तय, जानें       कोविड वैक्‍सीन के हल्‍के दुष्‍प्रभावों को लेकर डरने की जरूरत नहीं, जानें