कोरोना वायरस ने इंडस्ट्री को सैकड़ों करोड़ का कराया नुकसान

कोरोना वायरस ने इंडस्ट्री को सैकड़ों करोड़ का कराया नुकसान

कोरोना वायरस की वजह से संसार भर की अर्थव्यवस्था को तगड़ा झटका लगा है। इसके साथ ही इस वायरस के चलते अब तक सात हजार से ज्यादा लोगों की मृत्यु हो चुकी है

 व इस वायरस से अब तक डेढ़ लाख से ज्यादा लोग संक्रमित हो चुके हैं। इसके साथ ही हिंदुस्तान में भी अब तक 130 से अधिक मुद्दे सामने आ चुके हैं। वहीं बॉलीवुड को भी इस वायरस से बहुत ज्यादा नुकसान उठाना पड़ रहा है। आपकी जानकारी के लिए बता दें की फिल्मी पंडितों व ट्रेड विशेषज्ञों का मानना है कि इस वायरस के चलते इंडस्ट्री को सैकड़ों करोड़ का नुकसान होने कि सम्भावना है ।

देश की प्रदेश सरकारों ने सिनेमाघरों को बंद करने की घोषणा की है। वहीं अब तक 3500 से ज्यादा स्क्रीन्स को बंद कर दिया गया है। इसके साथ ही हिंदी फ़िल्मों के प्रमुख बेल्ट मुंबई, दिल्ली, राजस्थान, गुजरात, पंजाब व बिहार में थिएटर्स बंद हैं। इसके अलावा कई फ़िल्मों की रिलीज़ डेट टाल दी गई है। वहीं बागी व अंग्रेजी मीडियम जैसी बड़ी फिल्मों को सिनेमाघरों के बंद होने के बंद नुकसान उठाना पड़ा रहा है वही बिग बजट फिल्म सूर्यवंशी की रिलीज डेट भी खिसक चुकी है। इसके साथ ही कई फिल्म बॉडीज ने सभी तरह की फिल्में व टीवी शोज़ की शूटिंग को कुछ समय के लिए बंद कर दिया है। वहीं मेकर्स के अतिरिक्त सिनेमाघर मालिकों को बहुत ज्यादा नुकसान हो रहा है।

ट्रेड विशेषज्ञ तरण आदर्श ने बोला कि चूंकि प्रोडक्शन, डिस्ट्रीब्यूशन व एक्जिबिशन को पूरी तरह बंद कर दिया गया है, ऐसे में इंडस्ट्री का नुकसान कई गुणा बढ़ने का चांस है। तरण आदर्श ने कहा, मुझे लगता है कि चीजों को सामान्य होने में वक्त लगेगा व आने वाले महीनों में दर्शकों का थियेटर्स की ओर वापस लौटना भी सरल नहीं होगा क्योंकि हर कोई अभी बहुत ज्यादा भय व पैनिक के साए में है। उन्होंने आगे बोला कि इंटरनेशनल मार्केट्स में जहां हिंदुस्तान की कई फिल्में रिलीज होती हैं, वहां दशा व भी बदतर होने की स्थिति है क्योंकि हिंदुस्तान से बाहर कई राष्ट्रों में स्थिति बहुत ज्यादा चिंताजनक है। बता दें कि कोरोना वायरस के आतंक के बाद चाइना ने पहली बार सिनेमाघरों को ओपन किया है लेकिन लोगों ने थियेटर्स से दूरी बनाना ही उचित समझा।