इस तकनीक को लेकर वोडाफोन आइडिया के विशांत वोरा ने दिया अपना ये बड़ा बयान

 इस तकनीक को लेकर वोडाफोन आइडिया के विशांत वोरा ने दिया अपना ये बड़ा बयान

मोबाइल फोन बनाने वाली नोकिया व दूरसंचार सेवा प्रदाता कंपनी वोडाफोन आइडिया ने बुधवार को देश में पहले चरण के तहत 'डायनेमिक स्पेक्ट्रम रिफर्मिंग (डीएसआर) प्राद्यौगिकी स्थापित करने का कार्य पूरा होने की घोषणा की. डीएसआर प्रौद्योगिकी से उपलब्ध स्पेक्ट्रम के बेहतर उपयोग से डेटा समेत ग्राहकों को बेहतर सेवा मिलती है.

अनुबंध के तहत नोकिया ने आठ सर्किलों में 2500 मेगाहर्ट्ज स्पेक्ट्रम बैंड में 5,500 टीडी-एलटीई 'मैसिव मिमो (अत्याधुनिक 4 जी प्रौद्योगिकी) सेल लगाया है. ये आठ सर्किल (सेवा क्षेत्र) हैं मुंबई, कोलकाता, गुजरात, हरियाणा, यूपी (पूर्व), यूपी (पश्चिम), बंगाल का शेष भाग व आंध्र प्रदेश. 'मैसिव मिमो स्पेक्ट्रम के अनुकूलतम उपयोग के साथ बेहतर सेवा उपलब्ध कराने में सक्षम है.

डीएसआर से मिलेगी तेज स्पीड

वोडाफोन आइडिया के मुख्य प्रौद्योगिकी ऑफिसर विशांत वोरा ने एक बयान में कहा, ''डीएसआर हमें अधिक नेटवर्क क्षमता व डेटा (इंटरनेट) की गति उपलब्ध कराता है, जिसके जरिये हम अपने ग्राहकों को बेहतर नेटवर्क सेवा दे पाएंगे. वोडाफोन आइडिया पहली कंपनी है, जो डीएसआर प्रौद्योगिकी का परीक्षण कर रही है. इस प्रौद्योगिकी से वोडाफोन आइडिया 'ट्रैफिक के हिसाब से विभिन्न प्रौद्योगिकी के तहत स्पेक्ट्रम साझा कर सकेंगी.

डीएसआर व 'एम मिमो' 5जी को भी करेंगे सपोर्ट

वोरा ने कहा, ''हमने हिंदुस्तान में बड़ी संख्या में 'एम मिमो लगाया है व 'एम मिमो प्रौद्योगिकी में निवेश से कोविड-19 संकट के दौरान डेटा की बढ़ती मांग को पूरा करने में मदद मिली है. डीएसआर व 'एम मिमो' के उपयोग से वोडाफोन आइडिया सरलता से 5जी प्रौद्योगिकी को भी अपना सकेगी.

डेटा ट्रैफिक 44 गुना बढ़ा

नोकिया के उपाध्यक्ष व हिंदुस्तान में कंपनी प्रमुख संजय मलिक ने कहा, ''ऐसे समय जब 'कनेक्क्टिविटी जरूरी है, डीएसआर व 'एम मिमो की तैनाती से वोडाफोन आइडिया अपने ग्राहकों के नेटवर्क क्षमता को बढ़ा सकेगी. नोकिया के एमबिट इंडेक्स 2020 के अनुसार हाल के समय में देश में डेटा का उपयोग तेजी से बढ़ा है. पिछले चार वर्ष में 'डेटा ट्रैफिक 44 गुना बढ़ा है जो संसार में सर्वाधिक है.