Husqvarna Vitpilen 701 स्पेशल एडिशन मॉडल से उठा पर्दा

Husqvarna Vitpilen 701 स्पेशल एडिशन मॉडल से उठा पर्दा

Husqvarna Motorcycles ने इटैलियन क्लोथिंग ब्रांड REPLAY के साथ कोलैबरेशन के बाद लिमिटेड एडिशन Vitpilen 701 मॉडल लॉन्च कर दिया है। इसके साथ ही Husqvarna ने 701 Supermoto समेत 701 Enduro LR मोटरसाइकिल के भी लिमिटेड एडिशन मॉडल्स भी लॉन्च किए हैं जिनके सीमित यूनिट्स ही तैयार किए जाएंगे।

जानकारी के अनुसार जितनी भी मोटरसाइकिल्स के लिमिटेड एडिशन मॉडल्स को लॉन्च किया गया है वो चाहे Vitpilen 701 मॉडल हो Husqvarna 701 Supermoto हो या फिर 701 Enduro LR हो, कंपनी इन सभी के सिर्फ 10 मॉडल्स ही तैयार करेगी। इन सभी मॉडल्स में बदली हुई कलर स्कीम, नया लोगो और ब्रांड कोलैबरेशन साफ़ तौर पर देखा जा सकेगा।

रिकॉर्ड के लिए, दोनों ब्रांड पहले सीमित संस्करण वाले मॉडल पेश करने के लिए 2020 में एक साथ आए थे। REPLAY का ब्रांड लोगो भी Husqvarna Moto3 मोटरसाइकिल पर प्रदर्शित किया गया था जब स्वीडिश बाइक निर्माता ने Moto 3 मोबाइल चैम्पियनशिप में फिर से प्रवेश किया। नये मिडिलवेट लिमिटेड एडिशन मॉडल नये रंग, ग्राफिक्स और विशेष सहायक उपकरण के साथ मार्केट में उपलब्ध होने वाले हैं।


Vitpilen 701 को Vitpilen 250 से पहले ही मार्केट में लॉन्च किया जा चुका है। ये भारत में भी अवेलेवल है। आपको बता दें कि इस मोटरसाइकिल में 692.7 cc का लिक्विड कूल्ड सिंगल सिलेंडर इंजन दिया जाता है जो 55kW (75hp) की मैक्सिमम पावर और 72Nm का पीक टॉर्क जेनरेट करने में पूरी तरह से सक्षम है। इस इंजन को 6-speed ट्रांसमिशन के साथ जोड़ा गया है और इसमें इलेक्ट्रॉनिक फ्यूल इंजेक्शन दिया गया है जो एक राइड बाय वायर से एक्सेस होती है। इस मोटरसाइकिल में WP एपेक्स सस्पेंशन किट और ब्रेम्बो ब्रेक्स को शामिल किया गया है। आपको बता दें कि यही इंजन 701 Supermoto और 701 Enduro LR में भी ऑफर किया जाता है।


RTO में बगैर टेस्‍ट दिए भी बन सकेगा ड्राइविंग लाइसेंस, जानें कैसे?

RTO में बगैर टेस्‍ट दिए भी बन सकेगा ड्राइविंग लाइसेंस, जानें कैसे?

नई दिल्‍ली यदि आप ड्राइविंग लाइसेंस (Driving License) बनवाने की सोच रहे हैं, लेकिन आरटीओ (RTO) में होने वाले ड्राइविंग टेस्‍ट से बचना चाह रहे हैं तो आपके लिए राहत देने वाली समाचार है जल्‍द ही आरटीओ में बगैर ड्राइविंग टेस्‍ट के ही लोग ड्राइविंग लाइसेंस बनवा सकेंगे इसके लिए सड़क परिवहन मंत्रालय (Ministry of Road Transport) से मान्‍यता प्राप्‍त ड्राइविंग टेस्‍ट सेंटर से ट्रेनिंग लेनी होगी, जिसके बाद सेंटर से एक सर्टिफिकेट मिलेगा इसके आधार पर ड्राइविंग लाइसेंस बनवाते समय टेस्‍ट देने की आवश्यकता नहीं पड़ेगी यह मान्‍यता प्राप्‍त टेनिंग सेंटर 1 जुलाई 2021 से प्रारम्भ हो जाएंगे सड़क परिवहन मंत्रालय ने इस विषय में आदेश जारी कर दिए हैं

सड़क परिवहन मंत्रालय के अनुसार, प्रति साल देश में होने वाले हादसों का एक कारण ट्रेंड ड्राइवरों की कमी होना है मंत्रालय के मुताबिक मौजूदा समय देश में करीब 22 लाख ड्राइवरों की कमी है इस कमी को पूरा करने और सड़क हादसों को कम करने के लिए सड़क एवं परिवहन मंत्रालय ने तय गाइडलाइन के मुताबिक देशभर में ड्राइवर टेनिंग सेंटर खोलने की अनुमति दे दी है लोग मंत्रालय के मानक के मुताबिक सेंटर खोल सकते हैं, जिसमें लोगों को ट्रेनिंग दी सकेगी ट्रेनिंग के बाद टेस्‍ट लिया जाएगा टेस्‍ट पास करने वालों को सेंटर सर्टिफिकेट देगा, जिसके आधार पर बगैर टेस्‍ट दिए ड्राइविंग लाइसेंस बन सकेगा

ड्राइवर ट्रेनिंग सेंटर के लिए शर्तें
ट्रेनिंग सेंटर के लिए मैदानी इलाके में दो एकड़ और पहाड़ी इलाके में एक एकड़ जमीन की आश्‍वयकता होगी एलएमवी और एचएमवी दोनों तरह के वाहनों के लिए सिम्‍युलेटर जरूरी होगा, जिससे ट्रेनिंग दी जाएगी यहां पर बायोमीट्रिक अटेंडेंस और इंटरनेट के लिए ब्रॉडबैंड कनेक्टिविटी महत्वपूर्ण होगी सेंटर में पार्किंग, रिवर्स ड्राइविंग, ढलान, ड्राइविंग आदि ट्रेनिंग देने के लिए ड्राइविंग ट्रैक जरूरी होगा इसमें थ्‍योरी और सेंगमेंट कोर्स होंगे सेंटर में सिम्‍युलेटर की सहायता से हाईवे, ग्रामीण इलाके, भीड़भाड़ और लेन में चलने वाली जगहों पर बरसात, कोहरा और रात में वाहन चलाने की ट्रेनिंग दी जाएगी