सोने के दाम में तेजी, चांदी की कीमत काफी बढ़ी, जानें

सोने के दाम में तेजी, चांदी की कीमत काफी बढ़ी, जानें

सोने एवं चांदी के दाम में शुक्रवार को वृद्धि देखने को मिली। एचडीएफसी सिक्योरिटीज में सोने के भाव में 474 रुपये प्रति 10 ग्राम की बढ़ोत्तरी दर्ज की गई। इससे दिल्ली में सोने का रेट 47,185 रुपये प्रति 10 ग्राम पर पहुंच गया। इससे पिछले सत्र में यानी गुरुवार को सोने का मूल्य 46,711 रुपये प्रति 10 ग्राम पर रहा था। सिक्योरिटीज के मुताबिक वैश्विक स्तर पर मूल्यवान धातुओं की कीमत में तेजी देखने को मिली। इससे घरेलू बाजार में सोने एवं चांदी के दाम में बढ़ोत्तरी देखने को मिली। 

दिल्ली में चांदी का रेट

एचडीएफसी सिक्योरिटीज के मुताबिक सप्ताह के आखिरी कारोबारी सत्र में राष्ट्रीय राजधानी में चांदी की कीमत में 1050 रुपये प्रति किलोग्राम की बढ़त देखने को मिली। इससे शहर में चांदी की कीमत 70,791 रुपये प्रति किलोग्राम पर पहुंच गई। इससे पहले गुरुवार को दिल्ली में एक किलोग्राम चांदी का रेट 69,741 रुपये पर रहा था। 


घरेलू बाजार में इस वजह से चढ़ा है सोने का रेट

एचडीएफसी सिक्योरिटीज में सीनियर एनालिस्ट (कमोडिटीज) तपन पटेल ने कहा, ''वैश्विक स्तर पर सोने में मजबूत खरीद की वजह से दिल्ली में 24 कैरेट सोने के रेट में 474 रुपये प्रति 10 ग्राम की बढ़ोत्तरी दर्ज की गई।''

वैश्विक बाजार में सोने का दाम

अंतरराष्ट्रीय स्तर पर सोने का भाव बढ़त के साथ 1,820 डॉलर प्रति औंस पर चल रहा था। वहीं, चांदी की कीमत 27.33 डॉलर प्रति औंस पर सपाट रही। 

सोने का वायदा भाव

मल्टी कमोडिटी एक्सचेंज पर शाम 05:30 बजे जून, 2021 में डिलिवरी वाले सोने का रेट चार रुपये यानी 0.01 फीसद की गिरावट के साथ 47,591 रुपये प्रति 10 ग्राम पर चल रहा था। वहीं, अगस्त, 2021 में डिलिवरी वाले सोने का भाव 41 रुपये यानी 0.09 फीसद की तेजी के साथ 47,960 रुपये प्रति 10 ग्राम पर ट्रेंड कर रहा था। 

वायदा बाजार में चांदी की कीमत


MCX पर जुलाई में डिलिवरी वाली चांदी की कीमत 401 रुपये यानी 0.56 फीसद की टूट के साथ 71,280 रुपये प्रति किलोग्राम पर चल रही थी। वहीं, सितंबर कॉन्ट्रैक्ट वाली चांदी की कीमत 373 रुपये यानी 0.51 फीसद की गिरावट के साथ 72,328 रुपये प्रति किलोग्राम पर रही थी।


RTO में बगैर टेस्‍ट दिए भी बन सकेगा ड्राइविंग लाइसेंस, जानें कैसे?

RTO में बगैर टेस्‍ट दिए भी बन सकेगा ड्राइविंग लाइसेंस, जानें कैसे?

नई दिल्‍ली यदि आप ड्राइविंग लाइसेंस (Driving License) बनवाने की सोच रहे हैं, लेकिन आरटीओ (RTO) में होने वाले ड्राइविंग टेस्‍ट से बचना चाह रहे हैं तो आपके लिए राहत देने वाली समाचार है जल्‍द ही आरटीओ में बगैर ड्राइविंग टेस्‍ट के ही लोग ड्राइविंग लाइसेंस बनवा सकेंगे इसके लिए सड़क परिवहन मंत्रालय (Ministry of Road Transport) से मान्‍यता प्राप्‍त ड्राइविंग टेस्‍ट सेंटर से ट्रेनिंग लेनी होगी, जिसके बाद सेंटर से एक सर्टिफिकेट मिलेगा इसके आधार पर ड्राइविंग लाइसेंस बनवाते समय टेस्‍ट देने की आवश्यकता नहीं पड़ेगी यह मान्‍यता प्राप्‍त टेनिंग सेंटर 1 जुलाई 2021 से प्रारम्भ हो जाएंगे सड़क परिवहन मंत्रालय ने इस विषय में आदेश जारी कर दिए हैं

सड़क परिवहन मंत्रालय के अनुसार, प्रति साल देश में होने वाले हादसों का एक कारण ट्रेंड ड्राइवरों की कमी होना है मंत्रालय के मुताबिक मौजूदा समय देश में करीब 22 लाख ड्राइवरों की कमी है इस कमी को पूरा करने और सड़क हादसों को कम करने के लिए सड़क एवं परिवहन मंत्रालय ने तय गाइडलाइन के मुताबिक देशभर में ड्राइवर टेनिंग सेंटर खोलने की अनुमति दे दी है लोग मंत्रालय के मानक के मुताबिक सेंटर खोल सकते हैं, जिसमें लोगों को ट्रेनिंग दी सकेगी ट्रेनिंग के बाद टेस्‍ट लिया जाएगा टेस्‍ट पास करने वालों को सेंटर सर्टिफिकेट देगा, जिसके आधार पर बगैर टेस्‍ट दिए ड्राइविंग लाइसेंस बन सकेगा

ड्राइवर ट्रेनिंग सेंटर के लिए शर्तें
ट्रेनिंग सेंटर के लिए मैदानी इलाके में दो एकड़ और पहाड़ी इलाके में एक एकड़ जमीन की आश्‍वयकता होगी एलएमवी और एचएमवी दोनों तरह के वाहनों के लिए सिम्‍युलेटर जरूरी होगा, जिससे ट्रेनिंग दी जाएगी यहां पर बायोमीट्रिक अटेंडेंस और इंटरनेट के लिए ब्रॉडबैंड कनेक्टिविटी महत्वपूर्ण होगी सेंटर में पार्किंग, रिवर्स ड्राइविंग, ढलान, ड्राइविंग आदि ट्रेनिंग देने के लिए ड्राइविंग ट्रैक जरूरी होगा इसमें थ्‍योरी और सेंगमेंट कोर्स होंगे सेंटर में सिम्‍युलेटर की सहायता से हाईवे, ग्रामीण इलाके, भीड़भाड़ और लेन में चलने वाली जगहों पर बरसात, कोहरा और रात में वाहन चलाने की ट्रेनिंग दी जाएगी