सरकार ने पोस्ट ऑफिस के रेकरिंग डिपॉजिट खाते से जुड़े इन नियमों में ढील देने का किया ऐलान

सरकार ने पोस्ट ऑफिस के रेकरिंग डिपॉजिट खाते से जुड़े इन नियमों में ढील देने का किया ऐलान

 अगर आपने बैंक या फिर पोस्ट ऑफिस में रेकरिंग डिपॉजिट (RD) खाता खोला है तो आपके लिए ये समाचार बेहद जरूरी है क्योंकि सरकार (Government of India)  ने इससे जुड़े नियमों में ढील देने का ऐलान किया है।

 अगर सरल शब्दों में कहें तो जिन लोगों ने पोस्‍ट कार्यालय यानी अपने पड़ोस वाले डाकघर में में रेकरिंग एकाउंट (Post Office/Bank Recurring Deposit (RD)) खोला है, वे अब मार्च, अप्रैल, मई व जून की किस्‍तें 31 जुलाई तक जमा कर सकते हैं। इसके लिए उनसे कोई अतिरिक्‍त शुल्‍क नहीं लिया जाएगा। यही नहीं, उन्‍हें डिफॉल्‍ट फीस का भी भुगतान नहीं करना होगा। आपकी जानकारी के लिए बताते चलें कि छोटी बचत के निवेश के लिए ये सबसे ज्यादा हिट विकल्प माना जाता है। इसीलिए आज हम आपको इससे जुड़ी महत्वपूर्ण जानकारियां दे रहे है।

>> आरडी में मिनिमम 100 रुपये महीना भी निवेश किया जा सकता है। यहां आपके जमा पैसों पर तय ब्याज के हिसाब से रिटर्न मिलता है। यह एक छोटी बचत योजना है कि लेकिन इसमें आप अपने रोज होने वाली छोटी मोटी बचत को निवेश कर बड़ा लाभ उठा सकते हैं।

>> रिकरिंग डिपॉजिट ऐसी ही स्कीम है, जो छोटी मोटी बचत को भी प्रोत्साहन देती है। वैसे तो इसकी मेच्योरिटी 5 वर्ष की है, लेकिन आप आवेदन देकर इसे 5-5 वर्ष के लिए आगे भी बढ़ा सकते हैं। >> अच्छी बात यह है कि इसमें जमा के लिए महत्वपूर्ण नहीं है कि आपको डाकघर या बैंक की बांच जाना पड़े। आनलाइन भी आप रकम जमा कर सकते हैं।



>> इस आरडी स्कीम में आप मिनिमम 100 रुपए हर महीने निवेश कर सकते हैं। इससे ज्यादा 10 के मल्टीपल में आप कोई भी रकम जमा करा सकते हैं।

>> मैक्सिमम जमा राशि की कोई लिमिट नहीं है। दस के मल्टीपल में कितनी भी बड़ी रकम आरडी खाते में जमा की जा सकती है। कोई भी आदमी अपने नाम ​चाहे जितने आरडी खाते खुलवा सकता है। अधिकतम खाता संख्या को लेकर भी कोई पाबंदी नहीं है। हां, यह ध्यान रहे खाता सिर्फ पर्सनल रूप से खुलवाया जा सकता है, परिवार (HUF) या संस्था के नाम पर नहीं। दो वयस्क आदमी एक साथ मिलकर ज्वाइंट आरडी एकाउंट भी खुलवा सकते हैं।

आसान शब्दों में समझिए- अगर आप प्रतिदिन 50 रुपये बचाते हैं तो आप महीने में 1500 रुपये की सेविंग कर पाएंगे। वहीं, आरडी पर ब्याज 5.8 प्रतिशत तिमाही कंपाउंडिंग के हिसाब से मिलता है।

>> 5 वर्ष की मेच्योरिटी पर रकम: 1.05 लाख रुपये होती है। वहीं, 10 वर्ष की मेच्योरिटी पर रकम: 2.75 लाख रुपये होती है और 15 वर्ष की मेच्योरिटी पर रकम: 4.3 लाख रुपये होती है।


>> आरडी में सिंगल एकाउंट व ज्वॉइंट एकाउंट दोनों की सुविधा है।  10 वर्ष से ज्यादा आयु के बच्चे के नाम भी खाता अभिभावक अपनी देख रेख में खोल सकते हैं। आरडी की मेच्योरिटी 5 वर्ष की होती है, लेकिन मेच्योरिटी के पहले आवेदन देकर इसे अगले 5—5 वर्ष के लिए बढ़ा सकते हैं।

>> आरडी एकाउंट में कम से कम 100 रुपये महीना व 10 के गुणक में अधिकतम कितनी भी रकम जमा कर सकते हैं।

>> खाता खोलने के समय नॉमिनेशन की भी सुविधा है। आरडी में पैसे आनलाइन भी जमा कर सकते हैं।
आपको एक अवधि व एक रकम तय करनी होती है।

>> मान लीजिए आपने तय किया कि आप अगले 10 वर्ष तक हर महीने अपने RD खाते में 1000 रुपए जमा करेंगे।  एक बार यह तय होने के बाद आपको 10 वर्ष तक हर महीने 1000 रुपए ही जमा करने होंगे। सामान्य आरडी खाते में आप जमा होने वाली रकम में कभी भी परिवर्तन नहीं कर सकते। ऐसा करने पर पेनल्टी लगेगी।

>> फ्लेक्सी रेकरिंग डिपॉजिट: इसमें आपको एक निश्चित समय तो तय करना होगा, लेकिन उसमें जमा होने वाली रकम को आप घटा-बढ़ा सकते हैं।

>> मान लीजिए आपने 10 वर्ष तक पैसे जमा करने का तय किया, लेकिन बीच में अगर आर्थिक स्थिति कमज़ोर हुई, तो आपने कुछ कम रुपया दिया व अगर स्थिति बेहतर हुई, तो रकम बढ़ा सकते हैं।