Mahindra के बाद अब महंगी होंगी Tata की कारें, जानें नई कीमतें

Mahindra के बाद अब महंगी होंगी Tata की कारें, जानें नई कीमतें

पिछले 2 सालों से ऑटो सेक्टर की दिक्कतें खत्म होने का नाम नहीं ले रही है। जहां साल 2020 पूरी तरह से कोरोना वायरस की भेंट चढ़ गया वहीं साल के आखिर तक कुछ राहत मिलती हुई नजर आई लेकिन अप्रैल महीने की शुरुआत से ही कोरोनावायरस से बढ़ने के कारण एक बार फिर से देश में ऑटोमोबाइल सेक्टर की हालत बिगड़ने लगी है नतीजतन कंपनियों को ना चाहते हुए भी अपने वाहनों की कीमत बढ़ानी पड़ रही है। आपको बता दें दिग्गज कार निर्माता कंपनी टाटा मोटर्स ने तय किया है कि वह आगामी 8 मई से अपने वाहनों की कीमत बढ़ाने जा रहे हैं जिसके बाद कंपनी के वाहन खरीदने के लिए ग्राहकों को पहले से ज्यादा कीमत चुकानी पड़ेगी। ‌

जानकारी के अनुसार कंपनी अपने वाहनों की कीमत में 1.8 फीसद की वृद्धि कर सकती है। टाटा मोटर्स की तरफ से इस बात की जानकारी तब सामने आई है जब कई कंपनियां अपने वाहनों की कीमत बढ़ा चुकी हैं या फिर बढ़ाने जा रही हैं। यह दूसरा मौका है जब इस साल कारों की कीमत बढ़ने जा रही है इससे पहले साल की शुरुआत में सर्विस कॉस्ट बढ़ने की वजह से कार निर्माता कंपनियों ने वाहनों की कीमत में बढ़ोतरी की थी जिसका असर सीधे ग्राहकों की जेब पर पड़ा है।

टाटा मोटर्स कीमत में जो बढ़ोतरी करने जा रहा है वह कंपनी के सभी यात्री वाहनों पर लागू होगी। कीमत की बढ़ोतरी इस बात पर निर्भर करेगी कि वाहन कौन सा है और उसका वैरीअंट कौन सा है। मॉडल के हिसाब से कीमत में बढ़ोतरी अलग अलग हो सकती है। जिन लोगों ने वाहनों की बुकिंग 7 मई से पहले कर ली है उन्हें कीमत में बढ़ोतरी का सामना नहीं करना पड़ेगा और उन्होंने जिस कीमत पर वाहन की बुकिंग की थी उसी में वह वाहन खरीद सकते हैं।


अगर बात करें टाटा मोटर्स के पोर्टफोलियो की तो इसमें कई कारें शामिल है जिनमें टाटा सफारी जिसे हाल ही में लॉन्च किया गया है, टाटा अल्ट्रोज, टियागो, टिगोर समेत हैरियर एसयूवी समेत नेक्सन एसयूवी भी शामिल है। 


RTO में बगैर टेस्‍ट दिए भी बन सकेगा ड्राइविंग लाइसेंस, जानें कैसे?

RTO में बगैर टेस्‍ट दिए भी बन सकेगा ड्राइविंग लाइसेंस, जानें कैसे?

नई दिल्‍ली यदि आप ड्राइविंग लाइसेंस (Driving License) बनवाने की सोच रहे हैं, लेकिन आरटीओ (RTO) में होने वाले ड्राइविंग टेस्‍ट से बचना चाह रहे हैं तो आपके लिए राहत देने वाली समाचार है जल्‍द ही आरटीओ में बगैर ड्राइविंग टेस्‍ट के ही लोग ड्राइविंग लाइसेंस बनवा सकेंगे इसके लिए सड़क परिवहन मंत्रालय (Ministry of Road Transport) से मान्‍यता प्राप्‍त ड्राइविंग टेस्‍ट सेंटर से ट्रेनिंग लेनी होगी, जिसके बाद सेंटर से एक सर्टिफिकेट मिलेगा इसके आधार पर ड्राइविंग लाइसेंस बनवाते समय टेस्‍ट देने की आवश्यकता नहीं पड़ेगी यह मान्‍यता प्राप्‍त टेनिंग सेंटर 1 जुलाई 2021 से प्रारम्भ हो जाएंगे सड़क परिवहन मंत्रालय ने इस विषय में आदेश जारी कर दिए हैं

सड़क परिवहन मंत्रालय के अनुसार, प्रति साल देश में होने वाले हादसों का एक कारण ट्रेंड ड्राइवरों की कमी होना है मंत्रालय के मुताबिक मौजूदा समय देश में करीब 22 लाख ड्राइवरों की कमी है इस कमी को पूरा करने और सड़क हादसों को कम करने के लिए सड़क एवं परिवहन मंत्रालय ने तय गाइडलाइन के मुताबिक देशभर में ड्राइवर टेनिंग सेंटर खोलने की अनुमति दे दी है लोग मंत्रालय के मानक के मुताबिक सेंटर खोल सकते हैं, जिसमें लोगों को ट्रेनिंग दी सकेगी ट्रेनिंग के बाद टेस्‍ट लिया जाएगा टेस्‍ट पास करने वालों को सेंटर सर्टिफिकेट देगा, जिसके आधार पर बगैर टेस्‍ट दिए ड्राइविंग लाइसेंस बन सकेगा

ड्राइवर ट्रेनिंग सेंटर के लिए शर्तें
ट्रेनिंग सेंटर के लिए मैदानी इलाके में दो एकड़ और पहाड़ी इलाके में एक एकड़ जमीन की आश्‍वयकता होगी एलएमवी और एचएमवी दोनों तरह के वाहनों के लिए सिम्‍युलेटर जरूरी होगा, जिससे ट्रेनिंग दी जाएगी यहां पर बायोमीट्रिक अटेंडेंस और इंटरनेट के लिए ब्रॉडबैंड कनेक्टिविटी महत्वपूर्ण होगी सेंटर में पार्किंग, रिवर्स ड्राइविंग, ढलान, ड्राइविंग आदि ट्रेनिंग देने के लिए ड्राइविंग ट्रैक जरूरी होगा इसमें थ्‍योरी और सेंगमेंट कोर्स होंगे सेंटर में सिम्‍युलेटर की सहायता से हाईवे, ग्रामीण इलाके, भीड़भाड़ और लेन में चलने वाली जगहों पर बरसात, कोहरा और रात में वाहन चलाने की ट्रेनिंग दी जाएगी